नई दिल्ली [राकेश कुमार सिंह]। देश की एकता और समरसता के लिए खतरा बन चुके पापुलर फ्रंट आफ इंडिया (PFI) की जड़ों को तलाशने के लिए दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने बेहद गोपनीय तरीके से ‘ऑपरेशन मिड नाइट’ को अंजाम दिया। यह कार्रवाई दिल्ली के उन छह जिलों में की गई, जहां पीएफआइ ने अपनी जड़ों को काफी मजबूत कर लिया था।

रात भर अलर्ट रही सभी जिलों की पुलिस

इस कार्रवाई पर दिल्ली के सभी जिलों की पुलिस हर समय नजर रखे हुए थी। यही नहीं संवेदनशील इलाकों में बड़ी संख्या में अतिरिक्त पुलिस बल भी तैनात किया गया था, ताकि हिंसा फैलाने की हर कोशिश को नाकाम किया जा सके।

Ban on PFI: पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया का निकला शाहीन बाग और जामिया से कनेक्शन


22 सितंबर को ईडी ने पीएफआइ के दिल्ली प्रदेश के अध्यक्ष मोहम्मद परवेज अहमद, महासचिव इलियास अहमद और आफिस सचिव अब्दुल मुकीत को गिरफ्तार किया था। तीनों को अबुल फजल एन्क्लेव स्थित इनके घरों से गिरफ्तार किया गया था। सूत्रों के मुताबिक इनसे पूछताछ के बाद जांच एजेंसियों को पता चल कि पीएफआइ राजधानी को हिंसा की आग में झोंकने के प्रयास में जुटी हुई है। 

गृह मंत्रालय की थी नजर, पुलिस आयुक्त ने खुद संभाली कमान

दिल्ली में किसी संगठन के खिलाफ ये अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई थी। ऐसे में ऑपरेशन मिड नाइट पर गृह मंत्रालय और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल नजर बनाए हुए थे। इस ऑपरेशन की कमान पुलिस आयुक्त संजय अरोड़ा ने खुद संभाल रखी थी।

सरकार ने PFI पर लगाया बैन, अरुण सिंह बोले- देश की अखंडता के लिए जरुरी थी कार्रवाई

गृह मंत्रालय को दी जा रही थी पल-पल की रिपोर्ट

शाहीनबाग, जामियानगर उत्तर पूर्वी दिल्ली जैसे संवेदनशील इलाकों में कार्रवाई की वह पल-पल की रिपोर्ट अधिकारियों से ले रहे थे और इसे गृह मंत्रालय को दे रहे थे। इसलिए दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने जिला पुलिस व अन्य यूनिटों के साथ मिलकर सोमवार की रात डेढ़ बजे ही सभी इलाकों को कब्जे में ले लिया था और फिर ये कार्रवाई सुबह पांच बजे तक चलती रही।

Delhi Metro में सफर करने से पहले देखें ये वीडियो, डीएमआरसी 30 लाख से अधिक यात्रियों को कुछ यूं कर रहा है अलर्ट

हिरासत में लिए गए 30 सदस्यों पर कार्रवाई

दिल्ली के छह जिलों से पीएफआइ के 30 सदस्यों को हिरासत में लिया। गया मुख्यालय सूत्रों के मुताबिक स्पेशल सेल ने इन सभी को स्थानीय थाना पुलिस को सौंप दिया, जिनके खिलाफ फिलहाल शांति भंग की धारा में कार्रवाई की गई है।

Popular Front Of India: दिल्ली दंगा 2020 के अलावा UP-राजस्थान में भी हुई हिंसा में आ चुका है PFI का कनेक्शन

Edited By: Abhishek Tiwari

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट