नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। Delhi MCD Election 2022: दिल्ली नगर निगम (एमसीडी) चुनाव में अधिक से अधिक वोट पड़े, इसके लिए चुनाव आयोग के साथ-साथ राजनीतिक दलों ने भी तमाम प्रयास किए। इसके बावजूद कोई लहर नहीं दिखी। नजीता यह रहा कि 50.47 प्रतिशत ही मतदान हो सका, जो वर्ष 2012 और 2017 से भी कम है। Delhi MCD 2022 के चुनाव के नतीजे देखें

मदनगीर में रुपये बांटे जाने की अफवाह

यह हाल तब है, जब शाम साढ़े पांच बजे तक जो मतदाता मतदान केंद्रों में प्रवेश कर गए थे, उनसे निर्धारित समय बीतने के बावजूद मतदान कराया गया। उत्तर पूर्वी दिल्ली स्थित श्रीराम कालोनी वार्ड में सर्वर में समस्या होने के कारण रात नौ बजे तक मतदान चलता रहा। राजनीतिक दलों के कार्यकर्ताओं में छिटपुट नोंकझोंक और दक्षिणी दिल्ली के मदनगीर में रुपये बांटे जाने की अफवाह के बीच शांतिपूर्ण तरीके से मतदान संपन्न हुआ।

एक माह से प्रचार में जुटे थे राजनीतिक दल

कहीं से ईवीएम में तकनीकी समस्या की चुनाव आयोग को शिकायत नहीं मिली। बहरहाल, भाजपा-आप में सीधी टक्कर मानी जा रही है। एमसीडी चुनाव के लिए राजनीतिक दल करीब एक माह से प्रचार में जुटे थे। मतदान के दिन भी मतदाताओं को बूथ तक पहुंचाने के लिए तमाम प्रयास किए गए, लेकिन मतदान केंद्रों पर इसका कुछ खास असर नहीं दिखा।

रविवार सुबह आठ बजे मतदान प्रक्रिया शुरू हुई, जो दोपहर बाद तक सुस्त ही रही। दोपहर दो बजे तक सिर्फ 30 प्रतिशत मतदान हुआ। दो बजे के बाद मतदान में कुछ तेजी जरूर आई। चार बजे तक मतदान बढ़कर 45 प्रतिशत हो गया और शाम साढ़े पांच बजे तक यह आंकड़ा 50.47 प्रतिशत तक पहुंच गया।

स्थानीय के साथ राष्ट्रीय मुद्दे रहे हावी

एमसीडी चुनाव के लिए मतदान के दौरान मुद्दों पर बात करने पर मतदाता विभाजित दिखे। कई लोगों ने नगर निगम के मुद्दों पर मतदान करने की बात की, तो कुछ नगर निगम से संबंधित मुद्दों से अनजान थे और बिजली-पानी को भी चुनाव से जोड़ रहे थे। कई जानकार और शिक्ष्रित मतदाता राष्ट्रीय मुद्दों पर भी बात करते दिखे। उनका मानना था कि चुनाव चाहे स्थानीय निकाय के हों या विधानसभा या फिर लोकसभा के, हमारा मुद्दा राष्ट्रीय सुरक्षा है और देश सबसे पहले है।

पाश कालोनियों में राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दे पर पड़े वोट

दक्षिणी दिल्ली की पाश कालोनियों हौजखास, ग्रीन पार्क, सीआर पार्क, वसंत कुंज, न्यू फ्रेंड्स कालोनी, ग्रेटर कैलाश आदि में लोगों ने राष्ट्रीय सुरक्षा के म़ुद्दे पर वोट किया। इसके अलावा इन इलाकों में लोगों ने पेड़ों की छंटाई, पार्कों के रखरखाव और बेसहारा कुत्तों के मुद्दे को लेकर मतदान किया।

लो प्रोफाइल इलाकों, जैसे-संगम विहार, मदनपुर खादर, आंबेडकर नगर, मदनगीर, गोविंदपुरी, ओखला आदि इलाकों में साफ-सफाई, निगम स्कूलों में अव्यवस्था और टूटी सड़कों व नालियों, डेंगू, मलेरिया पर रोकथाम न होने के मुद्दे पर लोगों ने मतदान किया। बदरपुर विधानसभा क्षेत्र में लोगों ने ओ-जोन के मुद्दे पर मतदान किया। इनका कहना था कि ओ-जोन के कारण वे घरों की मरम्मत तक नहीं करवा पाते हैं।

ये भी पढे़ें- 

Delhi MCD 2022 के चुनाव के नतीजे देखें  

MCD Elections: वोटिंग के बाद हार-जीत की सीटों का आकलन कर रहे नेता, BJP ने चौथी बार मेयर बनाने का किया दावा

Edited By: Abhishek Tiwari

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट