Move to Jagran APP

CAA Delhi Protest: शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों से नुकसान की भरपाई करेगा नगर निगम

CAA Delhi Protest तीन माह से शाहीन बाग में चल रहे धरने की वजह से दिल्ली-एनसीआर के लाखों लोग जाम से परेशान हैं।

By Mangal YadavEdited By: Published: Sun, 22 Mar 2020 09:57 AM (IST)Updated: Sun, 22 Mar 2020 09:57 AM (IST)
CAA Delhi Protest: शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों से नुकसान की भरपाई करेगा नगर निगम

नई दिल्ली [अरविंद कुमार द्विवेदी]। नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) व राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) के विरोध में तीन माह से शाहीन बाग में चल रहे धरने की वजह से दिल्ली-एनसीआर के लाखों लोग जाम से परेशान हैं। इस धरने की वजह से दक्षिणी दिल्ली नगर निगम (एसडीएमसी) को भी करोड़ों रुपये का नुकसान हो रहा है। अकेले कालिंदी कुंज टोल प्लाजा से ही करीब 20 करोड़ रुपये का नुकसान हो चुका है। मदनपुर खादर वार्ड, सरिता विहार वार्ड व जैतपुर वार्ड में तो सफाई व्यवस्था ही चरमरा गई है।

loksabha election banner

इसलिए अब एसडीएमसी इस घाटे की भरपाई इन्हीं प्रदर्शनकारियों से करने की तैयारी कर रहा है। एसडीएमसी की स्थायी समिति के डिप्टी चेयरमैन व श्रीनिवासपुरी से निगम पार्षद राजपाल सिंह ने निगम की इस योजना की पुष्टि करते हुए कहा कि उन्होंने निगम आयुक्त के सामने यह प्रस्ताव रखा है। उन्होंने कहा है कि निगम जल्द ही इसकी योजना तैयार करके इस पर अमल शुरू करे।

योजना के तहत धरने पर बैठे लोगों की पहचान कर उनकी संपत्तियों को अटैच करके निगम अपने नुकसान की भरवाई करेगा। जिन संपत्तियों का हाउस टैक्स बकाया है उन्हें नीलाम करके नुकसान की भरपाई की जाएगी। निगम ने कहा कि हाउस टैक्स डिफाल्टरों की संपत्ति नीलाम करने के अभियान की शुरुआत शाहीन बाग से ही की जाएगी।

प्रदर्शन से परेशान सफाईकर्मी दे रहे हड़ताल की धमकी

राजपाल सिंह ने बताया कि धरने के कारण कूड़े की गाड़ियों को वेस्ट टू एनर्जी प्लांट तक पहुंचाने में करीब चार गुना ज्यादा खर्च करना पड़ रहा है। वहीं, मलेरिया का सीजन आने वाला है, लेकिन प्रदर्शनकारियों की मनमानी के कारण अभी तक निगम का मलेरिया स्टाफ भी इस इलाके में नहीं पहुंच पा रहा है। निगम के बहुत से कर्मचारी नोएडा, कल्याणपुरी, त्रिलोकपुरी आदि इलाकों में रहते हैं। उन्हें यहां पहुंचने में घंटों लग जाते हैं। ऐसे में सफाई कर्मचारी बार-बार हड़ताल की धमकी दे रहे हैं।

ये भी पढ़ेंः  Nirbhaya Justice: फांसी से पहले दो दोषियों ने बताई थी आखिरी इच्छा, एक की रह गई अधूरी

खाली पड़ी हैं पार्किंग

राजपाल सिंह ने बताया कि धरने के कारण बंद रास्ते की वजह से क्षेत्र की करीब 10 पार्किंग बंद पड़ी हैं। इस कारण निगम को करोड़ों रुपये प्रतिमाह का घाटा हो रहा है। कालिंदी कुंज का टोल प्लाजा भी बंद है जिससे निगम को राजस्व की हानि हो रही है। उन्होंने कहा कि जिन लोगों के हाउस टैक्स बकाया है उनकी संपत्तियों को सील करके वसूली की जाएगी। इसके अलावा जो भी कानूनी उपाय हैं वह भी किए जाएंगे।

राजपाल ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए पूरे देश को जनता कफ्र्य का पालन करने की अपील की है। लेकिन शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों ने इसे भी मानने से इन्कार कर दिया है। पूरी दुनिया कोरोना वायरस के कारण खौफ में है, लेकिन प्रदर्शनकारी इसे खेल समझ रहे हैं।

ये भी पढ़ेंः Delhi: शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों का आरोप- धरना स्थल के पास फेंका गया पेट्रोल बम

Delhi Janta Curfew News: दिल्ली में खुले हैं सभी पेट्रोल पंप, ये सेवाएं भी नहीं की गई हैं बंद

Indian Railways: टिकट कैंसिल के बाद रिफंड के लिए न हो परेशान, रेलवे ने नियम में किया बदलाव


Jagran.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरेंWhatsApp चैनल से जुड़ें
This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.