नई दिल्ली [संतोष कुमार सिंह]। भाजपा का कहना है कि गांधी जयंती और लाल बहादुर शास्त्री समाधि स्थल की जयंती पर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल व उनकी सरकार का कोई भी मंत्री राजघाट व विजयघाट पर नहीं गया। यह राष्ट्र पिता महात्मा गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री का अपमान है। इसके लिए मुख्यमंत्री को माफी मांगनी चाहिए। दिल्ली और पंजाब में गांधी का अपमान करने वाले आप नेता गुजरात में जाकर चुनाव में लाभ के लिए बापू की बात कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि पंजाब में आम आदमी पार्टी (आप) सरकार के मंत्रियों के कार्यालय से महात्मा गांधी की तस्वीर हटा दी गई है। उसके बाद दिल्ली में उनकी जयंती पर राजघाट जाकर उन्हें श्रद्धांजलि नहीं देने से आप नेताओं की मानसिकता स्पष्ट हो गई है। सिर्फ चुनाव के समय महापुरुषों की बात करना और उसके बाद भूल जाना आप नेताओं की पुरानी आदत है।

भाजपा नेता आदेश गुप्ता ने कहा कि मुख्यमंत्री व उनके किसी मंत्री का दो अक्टूबर को राजघाट नहीं जाने पर उपराज्यपाल वीके सक्सेना ने दिल्ली सरकार को पत्र लिखकर जवाब मांगा। यह बताने को कहा गया है कि मुख्यमंत्री और उनके मंत्रियों की क्या मजबूरी थी कि वह गांधी जयंती के दिन राजघाट नहीं गए।

उन्होंने कहा कि केजरीवाल व अन्य आप नेता गुजरात में महात्मा गांधी की बात कर रहे हैं। यह सब सिर्फ गुजरात विधानसभा चुनाव को ध्यान में रखकर किया जा रहा है। यदि उन्हें बापू के प्रति श्रद्धा होती तो उनका अपमान नहीं किया जाता।

ये भी पढ़ें- Delhi Pollution: वायु प्रदूषण रोकने के लिए NDMC ने तैनात की 17 टीमें, इन मशीनों का होगा इस्तेमाल

ये भी पढ़ें- Delhi News: बेखौफ बदमाशों ने कांस्टेबल को हेलमेट से पीटा, फिर पिस्टल लूटकर फरार

उधर,  इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय (इग्नू) ने शैक्षणिक सत्र जुलाई 2022 के लिए आनलाइन और ओडीएल मोड दोनों में स्नातक (यूजी) और स्नातकोत्तर (पीजी) में दाखिले के लिए प्रवेश की समय सीमा बढ़ा दी है। जिन छात्रों ने अभी तक आवेदन नहीं किया है वो यूजी और पीजी कार्यक्रम के लिए 10 अक्टूबर तक आवेदन कर सकते हैं।

Edited By: Pradeep Kumar Chauhan

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट