नई दिल्ली। आप विपक्षी टीम के खिलाड़ी आउट होने पर खुश होते हैं और हर कोई गेंदबाज बल्लेबाज को आउट करना चाहता है। लेकिन क्या आप जानते हैं बल्लेबाज सिर्फ गेंदबाज की अच्छी बॉल की वजह से नहीं बल्कि अपनी गलती से भी आउट हो सकते हैं। क्रिकेट के नियमों के अनुसार, एक बल्लेबाज करीब 11 तरीकों से आउट हो सकता है और उसमें बल्लेबाज का व्यवहार और गलती भी शामिल है। ऐसे में जानते हैं बल्लेबाज किन-किन तरीकों से आउट हो सकता है...

बोल्ड- जब गेंदबाज की ओर से फेंकी गई बॉल विकेट पर लग जाती है तो उसे बोल्ड करार दिया जाता है। ऐसे में यह बॉल बैट, पैड या शरीर को लगकर भी विकेटों को लगती है तो उसे आउट माना जाता है।

कैच आउट- अगर गेंदबाज की बॉल बल्लेबाज के बल्ले या बल्ले को पकड़ने वाले हाथ से लगकर हवा में उछलती है और जमीन पर गिरने से पहले विपक्षी टीम के खिलाड़ी द्वारा कैच कर लिया जाता है तो बल्लेबाज को आउट करार दिया जाता है। कैच आउट विकेटकीपर, फील्डर, बॉलर द्वारा भी किया जा सकता है।

World Cup 2019: जानें- कौन कितने पानी में? ये हैं अभी तक के टॉप-5 बल्लेबाज, गेंदबाज और टीमें

लेग बिफोर विकेट (LBW)- अगर गेंदबाज द्वारा फेंकी गई गेंद बल्ले से टकराने से पहले बल्लेबाज के शरीर से इस प्रकार टकराती है कि अगर बल्लेबाज वहां खड़ा नहीं होता तो वह गेंद विकेट को लग जाती तो बल्लेबाज को लेग बिफोर विकेट (LBW) के माध्यम से आउट करार दिया जाता है।

स्टंपिंग- जब गेंदबाज बॉल फेंकता है और विकेट कीपर गेंद से विकेटों की गिल्लियों को गिरा देता है और उस वक्त बल्लेबाज या उसका बैट क्रीज में नहीं होता है तो उसे आउट माना जाएगा। इसे स्टम्ड आउट कहते हैं।

रन आउट- जब बल्लेबाज रन लेने के लिए दौड़ता है और उसी बीच विरोधी टीम का फील्डर, बल्लेबाज या उसके बैट के क्रीज में पहुंचने से पहले उस साइड के विकेट की गिल्लियां गिरा देता है तो उसे रन आउट माना जाएगा।

गेंद को दो बार मारना- अगर कोई बल्लेबाज सिर्फ अपने विकेट को बचाने के मकसद से या विपक्षी टीम की सहमति के बिना गेंद को दो बार मारता है तो उसे आउट करार दिया जाता है। हालांकि कई रिपोर्ट्स में दावा किया गया है कि इंटरनेशनल क्रिकेट में कोई इस तरह से आउट नहीं हुआ है।

ICC World Cup 2019 PAK vs SA: अब कप्‍तान सरफराज अहमद को नहीं पड़ेंगी गालियां, कोच ने बताई ये वजह

हिट विकेट- जब बल्लेबाज शॉट मारते वक्त अपने बल्ले से ही विकेट की गिल्लियां गिरा देता है तो उसे हिट विकेट के माध्यम से आउट माना जाता है।

फील्ड को बाधित करना- अगर कोई बल्लेबाज जानबूझकर फील्डर को बाधा पहुंचाता है तो उसे आउट करार दिया जाता है, जिसमें फील्डर की फेंकी गई गेंद को रोकना भी शामिल है।

टाइम आउट- यदि कोई बल्लेबाज अपनी बारी आने पर टेस्ट और वनडे मैचों में 3 मिनट के अंदर मैदान पर नहीं आता है तो उसके आउट करार दिया जा सकता है और टी-20 मैचों में 2 मिनट में मैदान में नहीं पहुंचता है तो उसे टाइम आउट के तहत आउट करार दिया जाता है.

मांकड़िग आउट- जब गेंदबाज को लगता है कि उसके गेंद फेंकने से पहले ही बल्लेबाज नॉन-स्ट्राइकर क्रीज से बहुत पहले बाहर निकल रहा है तो वह नॉन-स्ट्राइकर छोर की गिल्लियां उड़ाकर नॉन-स्ट्राइकर बल्लेबाज को आउट कर सकता है। इस घटना में गेंद रिकॉर्ड नहीं होती लेकिन विकेट गिर जाता है।

हैंडल्ड द बॉल- कोई बल्लेबाज विपक्षी टीम के खिलाड़ी की अनुमति के बिना गेंद को हाथ से छूता है तो उसे फील्ड को बाधित करने वाले नियम के तहत आउट करार दिया जाता है। 

इसके अलावा आप लाइव अपडेट और मैच से जुड़ी रोचक खबरें dainikjagran.com पर पढ़ सकते हैं।

जागरण ऐप पर शुरू हो गया है  क्रिकेट क्विज कांटेस्ट । रोज जीत सकते हैं स्मार्ट फोन। आज से ही हिस्सा लें। डाउनलोड करें जागरण ऐप। 

Andrioid 
 फोन पर डाउनलोड करने के लिए यहां  क्लिक  करें। 

Iphone  पर डाउनलोड करने के लिए यहां  क्लिक  करें।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Mohit Pareek