Move to Jagran APP

Gautam Gambhir को आखिर क्यों बनाया गया Team India का Head Coach? ये है प्रमुख कारण

Gautam Gambhir India Head Coach बीसीसीआई के सचिव जय शाह ने मंगलवार को एक बड़ा एलान किया। जय शाह ने अपने एक्स पर ये जानकारी दी कि गौतम गंभीर भारतीय टीम के नए हेड कोच बन गए हैं। 42 साल के गंभीर ने राहुल द्रविड़ की जगह ली है। बता दें कि राहुल द्रविड़ का कार्यकाल टी20 विश्व कप 2024 के बाद ही खत्म हो गया था।

By Priyanka Joshi Edited By: Priyanka Joshi Tue, 09 Jul 2024 08:55 PM (IST)
Gautam Gambhir India New Head Coach: 3 कारण गंभीर को क्यों बनाया गया भारत का हेड कोच

स्पोर्ट्स डेस्क, नई दिल्ली। Gautam Gambhir Head Coach। भारतीय टीम के पूर्व क्रिकेटर गौतम गंभीर को बीसीसीआई ने एक बड़ी जिम्मेदारी दी है। गौतम गंभीर को भारतीय टीम का नया हेड कोच बनाया गया है। गंभीर ने राहुल द्रविड़ की जगह ली है। इसका एलान बीसीसीआई के सचिव जय शाह ने मंगलवार को किया।

भारतीय टीम के टी20 विश्व कप 2024 का खिताब जीतने के बाद राहुल द्रविड़ का बतौर हेड कोच कार्यकाल समाप्त हो गया था। इसके बाद कौन द्रविड़ की जगह लेगा, इसकी चर्चा चरम पर थी। द्रविड़ का कार्यकाल वैसे तो वनडे विश्व कप 2023 तक ही था, लेकिन बीसीसीआई ने इसे बढ़ा दिया था। ऐसे में अब गंभीर को ये बड़ी जिम्मेदारी मिली है। गंभीर का कार्यकाल जुलाई 2027 तक रहेगा। ऐसे में जानते हैं 3 कारण, जिनकी वजह गौतम गंभीर को भारत का हेड कोच बनाया गया।

3 कारण Gautam Gambhir को बनाया गया भारत का हेड कोच

1. तीनों फॉर्मेट का अनुभव

भारत के पूर्व क्रिकेटर गौतम गंभीर के पास क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट खेलने का अनुभव है। गंभीर बतौर प्लेयर 2007 में भारत की टी20 विश्व कप जीत और 2011 में वनडे विश्व कप जीत का हिस्सा रहे।

टी20 विश्व कप 2007 और 2011 दोनों में ही गंभीर ने अहम भूमिका निभाई थी। दोनों फाइनल मैच में उनके बल्ले से शानदार पारी निकली थी।

यह भी पढ़ें: Gautam Gambhir Head Coach: गौतम गंभीर बने भारत के नए हेड कोच, राहुल द्रविड़ की ली जगह; जय शाह ने किया एलान

साल 2007 विश्व कप में गंभीर ने पाकिस्तान के खिलाफ 54 गेंद पर 75 रन बनाए थे, जबकि 2011 विश्व कप के फाइनल में गंभीर ने श्रीलंका के सामने 275 रन का पीछा करते हुए 97 रन की पारी खेली थी। इस तरह उनके इस अनुभव की वजह से उन्हें बीसीसीआई ने हेड कोच बनने के लिए उचित समझा।

2. लीडरशिप क्वालिटी

गौतम गंभीर के पास लीडरशिप का अच्छा अनुभव है। साल 2014 में अपनी कप्तानी में गौतम गंभीर ने केकेआर को दूसरी बार आईपीएल का खिताब जिताया था। वहीं अच्छी लीडरशिप क्वालिटी होने की वजह से गंभीर को बीसीसीआई ने कोचिंग की जिम्मेदारी सौंपी है।

यह भी पढ़ें: T20 World Cup 2024: मोहम्‍मद सिराज होंगे मालामाल, तेलंगाना के CM ने कर दिए बड़े एलान

3. बेस्ट मेंटरशिप

42 साल के गौतम गंभीर ने आईपीएल की 2 फ्रेंचाइजियों के लिए मेंटर की भूमिका निभाई। साल 2022 और 2023 में गंभीर लखनऊ सुपर जायंट्स के मेंटर थे और 2024 में उन्हें केकेआर की टीम ने मेंटर बनाया था। साल 2022 और 2023 में उन्होंने लखनऊ को प्लेऑफ तक पहुंचाया था और 2024 में उनकी मेंटरशिप में केकेआर ने आईपीएल का खिताब जीता।