Move to Jagran APP

FD से ज्यादा रिटर्न पाने के लिए Post Office Scheme पर डालें नजर, यहां जानें ब्याज दर और मैच्योरिटी की डिटेल्स

Post Office Savings Schemes सेविंग के लिए निवेश करना जरूरी है। अगर आप रिस्क फ्री सेविंग करना चाहते हैं तो आप पोस्ट ऑफिस स्कीम के बारे में सोच सकते हैं। इन स्कीम्स में रिटर्न गारंटी के साथ बैंक एफडी से ज्यादा ब्याज मिलता है। आज हम आपको कुछ पॉपुलर पोस्ट ऑफिस स्कीम के बारे में बताएंगे जहां एफडी से ज्यादा ब्याज मिल रहा है।

By Priyanka Kumari Edited By: Priyanka Kumari Wed, 10 Jul 2024 10:49 AM (IST)
इन Post Office Savings Schemes पर मिलेगा एफडी से ज्यादा ब्याज

बिजनेस डेस्क, नई दिल्ली। आज के समय में हर कोई चाहता है कि वह ज्यादा से ज्यादा पैसे की बचत करें। सेविंग की जब बात आती है सबसे पहला ध्यान स्मॉल सेविंग स्कीम्स(Small Saving Schemes) या पोस्ट ऑफिस सेविंग स्कीम्स (Post Office Schemes) पर जाता है। कई लोगों को यह स्कीम इसलिए भी पसंद आती है क्योंकि यहां बैंक एफडी (Bank FD) की तुलना में ज्यादा ब्याज मिलता है।

पोस्ट ऑफिस स्कीम में हाई इंटरेस्ट के साथ रिस्क भी नहीं होता है। ऐसे में अगर कोई निवेशक बिना जोखिम के साथ निवेश करना चाहता है तो वह इन स्कीम्स में निवेश कर सकता है। पोस्ट ऑफिस स्कीम्स की खास बात यह है कि इसमें हर तिमाही ब्याज दर बदल जाते हैं।

आज हम आपको कुछ पोस्ट ऑफिस स्कीम के बारे में बताएंगे जहां आपको बैंक एफडी की तुलना में ज्यादा ब्याज मिलेगा।

सीनियर सिटिजन सेविंग स्कीम (SCSS)

सीनियर सिटिजन सेविंग स्कीम (SCSS) के नाम से ही समझ आता है कि यह स्कीम सीनियर सिटिजन के लिए हैं। इसका मतलब है कि 60 साल से ऊपर वाले व्यक्ति इस स्कीम का लाभ उठा सकते हैं।  इस स्कीम में निवेशक को एकमुश्त निवेश करना होता है और अधिकतम 30 लाख रुपये तक का निवेश कर सकते हैं। SCSS में आयकर अधिनियम की धारा  80सी के तहत टैक्स बेनिफिट भी मिलता है।

  • ब्याज दर- वर्तमान में इस स्कीम में 8.2 फीसदी का ब्याज मिल रहा है।
  • मैच्योरिटी पीरियड- स्कीम का मैच्योरिटी टेन्योर 5 साल है। इसे 5 साल के बाद आगे भी बढ़ाया जा सकता है।

 

किसान विकास पत्र (Kisan Vikas Patra)

किसान विकास पत्र (Kisan Vikas Patra) एक सेविंग सर्टिफिकेट है। इसमें गारंटी रिटर्न मिलता है। इस स्कीम में निवेशक को टैक्स बेनिफिट नहीं मिलता है। इस स्कीम में निवेश की कोई मैक्सिमम लिमिट नहीं है।

  • इंटरेस्ट रेट-  7.5 फीसदी सालाना चक्रवृद्धि ब्याज दर है।

  • मैच्योरिटी पीरियड- 115 महीने (9 साल 7 महीने)
  • पोस्ट ऑफिस मंथली इनकम स्कीम (MIS)

    पोस्ट ऑफिस मंथली इनकम स्कीम (MIS) में कम से कम सालाना 1500 रुपये और अधिकतम 9 लाख रुपये का निवेश करना होता है। इस स्कीम में निवेश राशि पर होने वाली इनकम पर टैक्स लगता है। इस स्कीम पर इंटरेस्ट का भुगतान हर महीने होता है।

    • ब्याज दर-  7.4 फीसदी सालाना ब्याज मिल रहा है।
    • मैच्योरिटी पीरियड-  5 साल

    यह भी पढ़ें- Credit Card Alert: क्रेडिट कार्ड का करते हैं धड़ाधड़ इस्तेमाल, थम जाए कंपनी वसूल रही है आपसे ये हिडन चार्ज

    नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट (National Savings Certificates)

    नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट में गारंटी रिटर्न मिलता है। इस स्कीम में मिलने वाले ब्याज का भुगतान मैच्योरिटी के समय होता है। National Savings Certificates में न्यूनतम 1000 रुपये का निवेश करना होता है और अधिकतम निवेश की कोई सीमा नहीं है। इस स्कीम में भी निवेशक को टैक्स छूट का फायदा मिलता है।  

    • ब्याज दर- 7.7 फीसदी सालाना चक्रवृद्धि ब्याज दर

    • मैच्योरिटी पीरियड-  5 साल

    महिला सम्मान सेविंग्स सर्टिफिकेट (Mahila Samman Savings Certificate)

    भारतीय महिलाओं के बीच महिला सम्मान सेविंग्स सर्टिफिकेट (Mahila Samman Savings Certificate) काफी पॉपुलर है। इस स्कीम में टैक्स बेनिफिट का लाभ नहीं मिलता है।

    • ब्याज दर- 7.5 फीसदी सालाना चक्रवृद्धि ब्याज दर
    • मैच्योरिटी पीरियड-  2 वर्ष

    यह भी पढ़ें- Gold Storage Rule: घर में गोल्ड रखने पर भी देना पड़ता है टैक्स? जानिए क्या कहता है नियम