Move to Jagran APP

Sukanya Samriddhi Yojana News: नए साल से पहले सरकार का तोहफा, सुकन्या समृद्धि योजना के लिए बढ़ाई ब्याज दरें

नए साल से पहले सरकार ने सुकन्या समृद्धि योजना में निवेश करने वालों को सौगात दी है। इस योजना के लिए वित्त वर्ष 2023-24 की चौथी तिमाही के लिए ब्याज दर बढ़ाकर 8.2 प्रतिशत कर दिया है। इस योजना पर पहले निवेशकों को 8 फीसदी ब्याज दिया जाता था। हालांकि सरकार ने दूसरी योजनाओं की ब्याज दरों में बढ़ोत्तरी नहीं की है।

By Subhash GariyaEdited By: Subhash GariyaPublished: Fri, 29 Dec 2023 06:07 PM (IST)Updated: Fri, 29 Dec 2023 06:07 PM (IST)
Sukanya Samriddhi Yojana News: नए साल से पहले सरकार का तोहफा, सुकन्या समृद्धि योजना के लिए बढ़ाई ब्याज दरें
सुकन्या समृद्धि योजना की ब्याज दर 0.2 प्रतिशत बढ़ी।

बिजनेस डेस्क, नई दिल्ली। सरकार ने नए साल से पहले स्मॉल सेविंग स्कीम की ब्याज दर बढ़ाते हुए निवेशकों को तोहफा दिया है। सुकन्या समृद्धि योजना के लिए इस वित्त वर्ष 2023-24 की चौथी तिमाही के लिए ब्याज दर बढ़ाकर 8.2 प्रतिशत कर दिया है। इस योजना पर पहले निवेशकों को 8 फीसदी ब्याज दिया जाता था। हालांकि सरकार ने दूसरी योजनाओं की ब्याज दरों में बढ़ोत्तरी नहीं की है।

loksabha election banner

वित्त वर्ष 2023-24 की चौथी तिमाही के लिए सरकार ने लघु बचत योजनाओं की ब्याज दरों का एलान कर दिया है। सुकन्या समृद्धि योजना को छोड़कर किसी भी योजना की ब्याज दरें नहीं बढ़ाई गई हैं। सुकन्या समृद्धि योजना के लिए जनवरी से मार्च तिमाही के दौरान ब्याज दर बढ़ाकर 8.2 प्रतिशत कर दिया गया है।

दूसरी बार बढ़ी ब्याज दरें

  • इस वित्त वर्ष में यह दूसरी बार है जब सरकार ने इस योजना के लिए ब्याज दरों में बढ़ोत्तरी की है।
  • इससे पहले पहली तिमाही के दौरान सरकार ने सुकन्या समृद्धि योजना की ब्याज दर 7.6 प्रतिशत से बढ़ाकर 8 फीसदी कर दिया था।

इस तरह देखा जाए तो मौजूदा वित्त वर्ष में बेटियों के लिए चलाई इस स्कीम की ब्याज दरों में सरकार ने .6 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी की है।

फिक्स्ड डिपोजिट स्कीम की ब्याज दरों में भी बढ़ोत्तरी

सुकन्या समृद्धि योजना के साथ साथ तीन साल की सावधि जमा पर मौजूदा ब्याज दर सात प्रतिशत से बढ़कर 7.1 प्रतिशत हो जाएगी। वहीं दूसरी ओर, पीपीएफ और बचत जमा पर ब्याज दरों को क्रमश: 7.1 प्रतिशत और चार प्रतिशत पर बरकरार रखा गया है। 

किसान विकास पत्र पर ब्याज दर 7.5 प्रतिशत है और इसकी मैच्योरिटी अवधि 115 महीने है। राष्ट्रीय बचत प्रमाणपत्र (एनएससी) पर ब्याज दर 1 जनवरी से 31 मार्च, 2024 की अवधि के लिए 7.7 प्रतिशत पहले की तरह ही है। मासिक आय योजना (एमआइएस) के लिए ब्याज दर (7.4प्रतिशत) में कोई बढ़ोतरी नहीं की गई है।

यह भी पढ़ें : Share Market Listing: कारोबारी हफ्ते के आखिरी दिन इस कंपनी ने ली शेयर बाजार में एंट्री, इतनी कीमत पर हुई स्टॉक की लिस्टिंग

यह भी पढ़ें : Bank Holidays in January 2024: नए साल के पहले महीने में कब-कब बंद रहेंगे बैंक और बाजार, चेक करें हॉलिडे लिस्ट

 


Jagran.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरेंWhatsApp चैनल से जुड़ें
This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.