नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। देश का सबसे बड़ा बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) अपने पर्सनल बैंकिंग सेग्मेंट के अंतर्गत तमाम तरह की सेवाएं मुहैया करवाता है। डिपॉजिट स्कीम से लेकर एटीएम सर्विस और नेट बैंकिंग फैसिलिटी से लेकर मनी ट्रांसफर सर्विस तक बैंक ग्राहकों की जरूरत के हिसाब से कई तरह के विकल्प उपलब्ध करवाता है। हालांकि बैंक अपनी इन सेवाओं के एवज में अपने ग्राहकों से कुछ शुल्क भी वसूलता है। बैंक ने सेविंग अकाउंट पर मिनिमम एवरेज बैलेंस को मैंटेन करने को भी अनिवार्य कर दिया है। जिसमें एक न्यूनतम राशि मैटेन करके रखनी होती है। अगर ग्राहक ऐसा करने में असफल रहते हैं जो उन्हें पेनाल्टी चुकानी होती है।

एसबीआई की ओर से लिए जाने वाले तरह तरह के सर्विस चार्ज और पेनाल्टी:

रेगुलर सेविंग अकाउंट को खोलने और बंद करने का शुल्क: एसबीआई ग्राहकों को खाता खोलने या बंद करवाने के लिए कोई शुल्क नहीं देना होता है। यह जानकारी बैंक की आधिकारिक वेबसाइट (sbi.co.in) पर दर्ज है।

ATM कार्ड के इस्तेमाल में लगने वाला चार्ज: एसबीआई एटीएम कम डेबिट कार्ड की सुविधा देता है, लेकिन वो इसके इस्तेमाल पर कुछ शुल्क भी वसूलता है। ग्राहकों को निर्धारित मुफ्त निकासी के अलावा एटीएम के इस्तेमाल पर कुछ शुल्क देना होता है। एटीएम कार्ड पर लगने वाला शुल्क कार्ड के प्रकार पर निर्भर करता है। एसबीआई के एटीएम कार्ड पर लगते हैं ये शुल्क...

डेबिट कार्ड जारी करने का चार्ज

सामान्य(क्लासिक/ग्लोबल)

निल

गोल्ड डेबिट कार्ड

100 रुपये टैक्स समेत

प्लेटिनम डेबिट कार्ड

306 रुपये टैक्स समेत

डेबिट कार्ड एनुअल मेंटेनेंस चार्ज (दूसरे साल की शुरुआत में ही रिकवरी)

क्लासिक डेबिट कार्ड

100 रुपये प्लस टैक्स

सिल्वर/ग्लोबल /युवा / गोल्ड डेबिट कार्ड

150 रुपये प्लस टैक्स

प्लेटिनम डेबिट कार्ड

200 रुपये प्लस टैक्स

प्राइड/ प्रीमियम बिजनेस डेबिट कार्ड

300 रुपये प्लस टैक्स

डेबिट कार्ड रिप्लेसमेंट चार्ज

200 रुपये (टैक्स समेत)

 

डुप्लीकेट पिन/ पिन का रजिस्ट्रेशन

51/ रुपये (टैक्स समेत)

 

डोमेस्टिक ट्रांजेक्शन चार्ज

एसबीआई ग्रुप के एटीएम में लेनदेन

मुफ्त

अन्य बैंक के एटीएम में 5

मुफ्त

अन्य बैंक के एटीएम में 5 से ज्यादा निकसी पर:

 

फाइनेंशियल ट्रांजेक्शन

17 रुपये टैक्स समेत

नॉन फाइनेंशियल ट्रांजेक्शन

6 रुपये टैक्स समेत

मिनिमम बैलेंस रुल को न फॉलो करने पर लगने वाली पेनाल्टी: जिन भी ग्राहकों का एसबीआई में रेगुलर सेविंग अकाउंट है उन्हें अपने खाते में एक न्यूनतम बैलेंस मैंटेन करके रखना होता है, जो कि एक हजार से तीन हजार रुपये तक होता है। यह लोकेशन के आधार पर अलग अलग होता है। एसबीआई खाते में न्यूनतम बैलेंस मेंटेन न करने पर मेट्रो शहरों में और अन्य शाखाओं में 10 रुपये (प्लस जीएसटी) से लेकर 15 रुपये (प्लस जीएसटी) तक का शुल्क देना होता है। यह जानकारी बैंक की आधिकारिक साइट पर दर्ज है।

 

मेट्रो और ग्रामीण शाखओं में (न्यूनतम बैलेंस 3000 रुपये)

शुल्क

50 फीसद तक की कमी

10 रुपये + जीएसटी

50 से 75 फीसद तक की कमी

12 रुपये + जीएसटी

75 फीसद तक की कमी

15 रुपये + जीएसटी

वहीं जिन ग्राहकों का खाता सेमी अर्बन क्षेत्र की एसबीआई ब्रांच में है उन्हें 2000 रुपये का एवरेज मंथली बैलेंस मेंटेन करने की जरूरत होती है। इसका पालन न करने की सूरत में 7.5 रुपये प्लस जीएसटी और 12 रुपये प्लस जीएसटी की पेनाल्टी देनी होती है।

 

सेमी अर्बन ब्रांच (2000 रुपये के न्यूनतम बैलेंस की अनिवार्यता)

शुल्क

50 फीसद तक की कमी 

7.50 रुपये + जीएसटी

50 से 75 फीसद तक की कमी

10 रुपये जीएसटी

75 फीसद तक की कमी

12 रुपये + जीएसटी

वहीं जिन भी ग्राहकों का खाता ग्रामीण शाखाओं में है उन्हें अपने खातों में 1000 रुपये का न्यूनतम बैलेंस मेंटेन करके रखना होता है। ऐसा न करने पर बैंक खाताधारकों से 5 से 10 रुपये के साथ जीएसटी भी बतौर पेनाल्टी वसूलता है।

ग्रामीण क्षेत्र  (1000 रुपये के न्यूनतम बैलेंस की अनिवार्यता)

शुल्क

50 फीसद तक की कमी

5 रुपये + जीएसटी

50 से 75 फीसद तक की कमी

7.50 रुपये + जीएसटी

75 फीसद तक की कमी

10 रुपये + जीएसटी

यह भी पढ़ें: मिल रहे हैं ये 4 संकेत, तो समझ लीजिए कि आप कर्ज में हैं

खोलना चाहते हैं पीपीएफ अकाउंट, तो जान लीजिए अपने काम की बात

Posted By: Praveen Dwivedi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप