नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। Interest Rate Hike: अगर आपका खाता इन बैंकों में है और आपने इन बैंकों से लोन लिया है तो ब्याज के रूप में अधिक पैसे देने को तैयार हो जाइए। भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने महंगाई से निपटने के प्रयास में FY23 में पांचवीं बार रेपो दर में बढ़ोतरी की है। इससे सभी लोन महंगे हो गए हैं और उनकी ईएमआई बढ़ गई है।

जिन बैंकों ने अपना लोन महंगा किया है उनमें बैंक ऑफ बड़ौदा, इंडियन ओवरसीज बैंक और बैंक ऑफ इंडिया जैसे सरकारी बैंक शामिल हैं। इसके अलावा प्राइवेट सेक्टर के बैंक एचडीएफसी ने भी ग्राहकों के लिए लोन महंगा कर दिया है।

महंगा हो रहा होम लोन, बढ़ रही ईएमआई

आपको बता दें कि 7 दिसंबर, 2022 को, केंद्रीय बैंक ने अपनी नई मौद्रिक नीति घोषणा की और रेपो दर को 35 आधार अंक बढ़ाकर 6.25% कर दिया। रिजर्व बैंक ने यह भी कहा कि मजबूत क्रेडिट वृद्धि के परिणामस्वरूप बैंकों की जमाएं बढ़ रही हैं। आरबीआई द्वारा दरें बढ़ाने के बाद ज्यादातर बैंक तत्काल प्रभाव से अपनी जमा दरों को बढ़ा देते हैं। आरबीआई द्वारा रेपो दर की घोषणा के बाद कुछ बैंकों को होम लोन पर पर ब्याज दर में वृद्धि की घोषणा की है।

बैंक ऑफ बड़ौदा (BOB)

बैंक ऑफ बड़ौदा ने अपनी ब्याज दरों में बदलाव कर दिया है। बैंक की वेबसाइट के मुताबिक, बड़ौदा रेपो लिंक्ड लेंडिंग रेट (BRLLR) से जुड़े विभिन्न खुदरा ऋणों नई ब्याज दर 08.12.2022 से प्रभावी हो गई है। आपको बता दें कि बैंक 01.10.2019 से सभी खुदरा लोन बड़ौदा रेपो लिंक्ड लेंडिंग रेट (BRLLR) प्रोग्राम के तहत देता है। बैंक ऑफ बड़ौदा ने अपनी वेबसाइट पर कहा है कि 12 दिसंबर से सभी मौजूदा खातों के लिए बीपीएलआर 12.90% प्रति वर्ष है। साथ ही खुदरा ऋण के लिए बीआरएलएलआर 8.85% है। यह 08.12.2022 से प्रभावी है।

इंडियन ओवरसीज बैंक (IOB)

IOB ने बीएसई फाइलिंग में कहा है कि 10.12.2022 से मार्जिनल कॉस्ट ऑफ फंड्स (MCLR) और रेपो लिंक्ड लेंडिंग रेट (RLLR) में संशोधन किया जा रहा है। बैंक ने 10.12.2022 से आरएलआई-आर को संशोधित कर 9.10% (यानी 6.25% + 2.85% = 9.10%) कर दिया है। इंडियन ओवरसीज बैंक (IOB) द्वारा फंड्स की सीमांत लागत (MCLR) को सभी अवधियों के लिए 15 से 35 आधार अंकों तक बढ़ाया गया है। IOB ने अपनी वेबसाइट पर जानकारी दी है कि 800 और उससे अधिक के क्रेडिट स्कोर वाले लोगों को ब्याज में 0.50% रियायत दी जाएगी।

बैंक ऑफ इंडिया (BOI)

बीओआई ने अपनी वेबसाइट पर जानकारी देते हुए कहा कि संशोधित रेपो दर (6.25%) के अनुसार नई आरबीएलआर 7 दिसंबर से 9.10 फीसद है। इसके अतिरिक्त, बैंक ऑफ इंडिया ने सभी अवधि के लोन के लिए के एमसीएलआर में 25 बीपीएस की वृद्धि की है। नई दर 1 दिसंबर 2022 से प्रभावी होगी। बैंक ऑफ इंडिया का एक साल का MCLR अब 8.15% और छह महीने का MCLR 7.90% है।

एचडीएफसी बैंक (HDFC)

एचडीएफसी बैंक की वेबसाइट के मुताबिक, बैंक ने एक साल की मार्जिनल कॉस्ट ऑफ फंड बेस्ड लेंडिंग रेट्स (MCLR) में 50 बेसिस प्वाइंट तक की बढ़ोतरी की है। बैंक ने एक साल के लिए एमसीएलआर बढ़ाकर 8.60 फीसदी कर दिया है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि अधिकांश Loan इसी दर के आधार पर तय होते हैं।

ये भी पढ़ें-

Bank of Baroda की Special FD Scheme में मिल रहा जबरदस्त रिटर्न, साथ में मिल रही ये विशेष सुविधा

FD Rate Hike: इस सरकारी बैंक ने ब्याज दरों में किया इजाफा, अब एक साल की एफडी पर ग्राहकों को मिलेगा इतना ब्याज

 

Edited By: Siddharth Priyadarshi

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट