Move to Jagran APP

West Champaran: ऑनलाइन गेम में बने दोस्त, लेनदेन को लेकर हुआ विवाद, तो कॉलेज से ही कर लिया अपहरण; मांगी 2 लाख की फिरौती

गवर्नमेंट इंजीनियरिंग कॉलेज कुमारबाग के सकेंड ईयर (इलेक्ट्रिक) के छात्र रवि कुमार (21) का मंगलवार दोपहर करीब 130 बजे अपहरण कर लिया गया। अपहरणकर्ताओं ने अगवा छात्र के बड़े भाई को फोन करके दो लाख की फिरौती की मांगी थी। हालांकि पुलिस ने तत्परता दिखाते हुए छात्र रवि कुमार को देर रात करीब एक बजे चनपटिया थाना क्षेत्र के गीधा गांव से मुक्त करा लिया।

By Jagran NewsEdited By: Mohit TripathiPublished: Thu, 30 Nov 2023 06:26 PM (IST)Updated: Thu, 30 Nov 2023 06:26 PM (IST)
चनपटिया पुलिस ने रवि को बीती रात एक बजे के आसपास गीधा गांव से कराया मुक्त। (सांकेतिक फोटो)

संवाद सूत्र, कुमारबाग (पश्चिम चंपारण)। गवर्नमेंट इंजीनियरिंग कॉलेज कुमारबाग के सकेंड ईयर (इलेक्ट्रिक) के छात्र रवि कुमार (21) का मंगलवार दोपहर करीब 1:30 बजे अपहरण कर लिया गया। अपहरणकर्ताओं ने अगवा छात्र के बड़े भाई को फोन करके दो लाख की फिरौती की मांगी थी।

loksabha election banner

हालांकि, पुलिस ने तत्परता दिखाते हुए पटना के पिपरा थाना निवासी नंदकिशोर शर्मा के पुत्र रवि कुमार को देर रात करीब एक बजे के आसपास चनपटिया थाना क्षेत्र के गीधा गांव निवासी सतेंद्र ठाकुर के घर से मुक्त करा लिया।

मौके से अपहरण के आरोपित दोस्त मुफस्सिल थाना क्षेत्र के गनौली गांव निवासी आशीष कुमार (19) को गिरफ्तार कर लिया गया है। वहीं, एक अन्य आरोपित गीधा गांव निवासी विवेक कुमार (20) फरार है। उसकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस छापेमारी कर रही है।

कुमारबाग ओपी के प्रभारी थानाध्यक्ष विक्रमा सिंह ने बताया कि छात्र के अपहरण के मामले में प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

ओपी प्रभारी ने आगे बताया कि चनपटिया पुलिस के सहयोग से छात्र को मुक्त कराया गया। आरोपित आशीष कुमार को गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। हालांकि ऑनलाइन गेम में रुपये के लेनदेन का विवाद भी सामने आ रहा है।

ऑनलाइन गेम में दोस्ती और लेन देन का विवाद

छात्र के पिता ने जिन दो युवकों को अपहरण के मामले में नामजद किया है, वे दोनों इंजीनियरिंग कॉलेज के छात्र नहीं है। गिरफ्तार आशीष ने पुलिसिया पूछताछ में बताया है कि ऑनलाइन गेम के दौरान रवि से दोस्ती हुई थी।

गिरफ्तार आशीष के मामा पूर्व मुखिया उपेंद्र ठाकुर ने बताया कि गेम खेलने के लिए रवि ने 1.95 लाख रुपये उधार लिए थे। वही चूकाने के लिए वह स्वेच्छा से घर आया था। रवि के पिता ने झूठी प्राथमिकी दर्ज कराई है।

बड़े भाई को फोन कर मांगी फिरौती

अगवा छात्र के पिता ने प्राथमिकी दर्ज कराई है। दर्ज प्राथमिकी में उन्होंने बताया है कि मुफस्सिल थाना क्षेत्र के गनौली निवासी अखिलेश्वर कुमार राय पुत्र आशिष कुमार व उसका ममेरा भाई चनपटिया के गीधा निवासी सत्येंद्र ठाकुर का पुत्र विवेक कुमार कॉलेज के गेट से बाइक पर उठा कर गीधा गांव में ले गए।

छात्र के बड़े भाई दीपक कुमार के मोबाइल पर फोन कर दो लाख रुपये कुमारबाग थाना के पास लेकर आने को कहा। उसके बाद छात्र के भाई ने पुलिस को सूचित किया।

गीधा गांव पहुंची तीन थाने की पुलिस

इंजीनियरिंग के छात्र की अपहरण की सूचना पुलिस को मंगलवार की शाम 5:30 बजे मिली। सूचना मिलते हीं पुलिस हरकत में आई। अगवा छात्र और जिस नंबर से फिरौती मांगी गई थी।

दोनों नंबर का लोकेशन ट्रेस कर तीन थानों की पुलिस गीधा गांव में पहुंची। थानाध्यक्ष ने बताया कि आरोपित विवेक कुमार के घर का दरवाजा खुलवाने में भारी मशक्कत करनी पड़ी।

यह भी पढ़ें: Prashant Kishor: 'इधर-उधर लटकने वाले बनेंगे PM?' नीतीश पर बिफरे PK ने कांग्रेस के पक्ष में घोली चाशनी, Lalu Yadav को भी लपेटा

Bihar News: भविष्य में बिहार पुलिस में 2.28 लाख जवानों की होगी भर्ती, सोनपुर मेले में डीजी ने दिया भरोसा


Jagran.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरेंWhatsApp चैनल से जुड़ें
This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.