Move to Jagran APP

Vijay Sinha: पुल-पुलियों को लेकर विजय सिन्हा ने की हाई लेवल मीटिंग, बैठक के बाद इस विभाग को दे दिया बड़ा टास्क

Bihar Bridge Collapse बिहार में धड़ाधड़ पुल गिर रहे हैं। इसको लेकर नीतीश सरकार सख्त हो गई है। बढ़ते मामलों को देखते हुए डिप्टी सीएम विजय सिन्हा (Vijay Sinha) ने हाई लेवल मीटिंग की। इस दौरान उन्होंने पथ निर्माण विभाग (Road Construction Department) को बड़ा टास्क दे दिया है। विभाग को एक हफ्ते में पुल-पुलियों की जांच कर रिपोर्ट देनी है।

By BHUWANESHWAR VATSYAYAN Edited By: Mukul Kumar Tue, 09 Jul 2024 09:52 PM (IST)
बिहार के डिप्टी सीएम विजय सिन्हा। फोटो- जागरण

राज्य ब्यूरो, पटना। Bihar Politics In Hindi पथ निर्माण विभाग ने अपने पुल और पुलियों की सेहत परखने को ले हाल ही में बड़े स्तर पर पुलों और पुलियों की स्थिति का सर्वे आरंभ किया था। ग्रामीण कार्य व जल संसाधन विभाग के पुलों के लगातार ध्वस्त होने के बाद यह कवायद आरंभ हुई थी।

इस बाबत उप मुख्यमंत्री सह पथ निर्माण मंत्री विजय कुमार सिन्हा ने मंगलवार को एक उच्चस्तरीय बैठक की। इस दौरान उन्होंने यह निर्देश दिया कि पथ निर्माण विभाग की सड़क पर जो पुल और पुलिया हैं, उनकी वास्तविक स्थिति का आकलन कर हफ्ते भर के अंदर पूरा कर रिपोर्ट सौंपे।

जिन पुल-पुलियों की मरम्मत की आवश्यकता है उसकी अविलंंब उसकी मरम्मत की जाए। उप मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया कि हाल में निर्मित सड़क व पुलों के निर्माण के समय तकनीकी रूप से वाहनों के भार की क्या स्थिति थी और वर्तमान में उसकी स्थिति क्या है इसकी भी समीक्षा की जाए और उस पर आवश्यक काम हो।

अधिकारियों को मिला ये भी निर्देश

उन्होंने निर्देश दिया कि पुलों के निर्माण में गुणवत्ता से समझौता नहीं हो। जांच के क्रम में अगर अनियमितता पायी गयी तो संबंधित संवेदक और पदाधिकारी पर कार्रवाई की जाएगी। कहीं भी आवागमन बाधित नहीं हो।

इसे गंभीरता से लिया जाए। समीक्षा के क्रम में यह स्पष्ट हुआ कि ईपीसी मोड में किए जाने वाले निर्माण की प्रक्रिया में कुछ सुधार आवश्यक है। इस दिशा में कार्रवाई का निर्देश दिया गया।

उप मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में हुई बैठक में विभाग के अपर मुख्य सचिव प्रत्यय अमृत,विभाग के सचिव, सभी अभियंता प्रमुख व मुख्य अभियंता मौजूद थे।

यह भी पढ़ें-

Bihar Politics: नीतीश कुमार के बाद कौन? पूर्व IAS मनीष वर्मा की एंट्री से JDU में बढ़ी हलचल, ये है आगे की रणनीति

विस चुनाव में कांग्रेस-RJD को कितनी आएंगी सीटें? विजय सिन्हा ने कर दी भविष्यवाणी; पप्पू यादव पर भी दिया बड़ा बयान