Move to Jagran APP

NEET Paper Leak Case: गया में एक आरोपी के ठिकाने पर सीबीआई का छापा, अधिकारियों के हाथ लगे खास दस्तावेज

नीट पेपर लीक मामले (NEET Paper Leak Case) में ताबड़तोड़ छापामारी चल रही है। सीबीआई की टीम बुधवार को गया पहुंची। यहां एक आरोपी के ठिकाने पर टीम ने छापामारी की। आरोपी का नाम शिवनंदन यादव बताया जा रहा है। आरोपी के ठिकाने से सीबीआई को कई सबूत हाथ लगे हैं। शिवनंदन यादव ने पेपर लीक करने में अहम भूमिका निभाई थी।

By Sunil Raj Edited By: Mukul Kumar Wed, 10 Jul 2024 08:02 PM (IST)
NEET Paper Leak Case: गया में एक आरोपी के ठिकाने पर सीबीआई का छापा, अधिकारियों के हाथ लगे खास दस्तावेज
प्रस्तुति के लिए इस्तेमाल की गई तस्वीर

राज्य ब्यूरो, पटना। नीट यूजी पेपर लीक मामले (NEET Paper Leak Case) में केंद्रीय जांच एजेंसी सीबीआई (CBI Investigation) को अपनी जांच में रोज नई जानकारी मिल रही है। मंगलवार को अपनी जांच को आगे बढ़ाते एक दो आरोपी सनी कुमार और रंजीत कुमार नामक व्यक्ति को गिरफ्तार किया था।

इसी कड़ी में सीबीआई ने बुधवार गया के बाराचट्टी थाना क्षेत्र के हरैया गांव में पेपर लीक के एक आरोपी के ठिकाने पर छापा मारा। आरोपी का नाम शिवनंदन यादव है। स्थानीय पुलिस के सहयोग से हुई छापामारी में जांच एजेंसी के हाथ कई अहम दस्तावेज लगे हैं।

सूत्रों की माने तो शिवनंदन यादव ने नीट प्रश्नपत्र और उत्तर हासिल करने के लिए एक परीक्षा माफिया से 40 लाख रुपये में डील की थी। इस राशि में करीब 20 लाख रुपये का भुगतान कर दिया गया जबकि शेष राशि परीक्षा परिणाम आने के बाद भुगतान की जानी थी।

शिवनंदन यादव को आर्थिक अपराध इकाई ने पेपर लीक मामले की प्रारंभिक जांच के दौरान गिरफ्तार किया था। जिसे बाद में कोर्ट की अनुमति के बाद सीबीआइ को सौंप दिया गया था। शिवनंदन यादव फिलहाल जेल में बंद है।

सीबीआई की सात सदस्यीय टीम पहुंची थी गया

जानकारी के अनुसार, नीट परीक्षा पेपर लीक मामले में साक्ष्य जुटाने के लिए सीबीआई की सात सदस्यीय टीम गया के बाराचट्टी पहुंची। आरोपी शिवनंदन के पिता रामस्वरूप यादव उर्फ साधु यादव की तलाश की गई, लेकिन वे घर में उपस्थित नहीं थे।

इसके बाद सीबीआई टीम ने आरोपी शिवनंदन के चाचा निरंजन यादव से लाइन होटल काहुदाग स्थित आवास पर करीब चार घंटे तक पूछताछ की।

पूछताछ के दौरान शिवनंदन की संपति और नीट पेपर लीक से जुड़े सवाल पूछे गए। कहा जा रहा है कि आरोपी के परिजन के सभी सबंधित परिवार वालों की कुंडली जांच एजेंसी अपने साथ लेकर लौटी है।

स्थानीय पुलिस इस मामले में कुछ भी बताने से इंकार कर रही है। दूसरी ओर जांच एजेंसी भी आधिकारिक तौर पर कुछ बताने से परहेज कर रही है।

बता दें कि मेडिकल प्रवेश परीक्षा में कथित अनियमितताओं की जांच कर रही सीबीआइ ने आर्थिक अपराध इकाई से जांच मिलने के बाद से अब तक इस मामले में छह प्राथमिकी दर्ज की हैं।

बिहार में दर्ज प्राथमिकी प्रश्नपत्र लीक होने से संबंधित है जबकि गुजरात, राजस्थान और महाराष्ट्र में दर्ज प्राथमिकी अभ्यर्थियों के स्थान पर परीक्षा देने और धोखाधड़ी से संबंधित है।

यह भी पढ़ें-

NEET-UG 2024: नीट-यूजी परीक्षा, रिजल्ट, सुप्रीम कोर्ट....जानें अब तक कब-कब, क्या-क्या हुआ; 11 जुलाई को होगी अगली सुनवाई

NEET Paper Leak Case: झारखंड को केंद्र में रख CBI बढ़ा रही अपनी जांच, अधिकारियों के हाथ लगे कई सुराग