Move to Jagran APP

Lalu Yadav: 'ऊंची जातियों के पास...', रिसर्च के जरिए लालू ने फिर खेला कास्ट कार्ड; सियासी भूचाल आना तय

Bihar Politics बिहार में एक बार फिर से जाति की राजनीति शुरू हो गई है। तेजस्ली यादव ने जहां बीते दिन यादव समाज को लेकर बड़ा बयान दिया था वहीं आज लालू यादव ने एक रिसर्च के हवाले से ऊंची जातियों को लेकर बड़ा बयान दिया है। लालू यादव ने ओबीसी एससी एसटी की स्थिति का हवाला देते हुए मोदी सरकार को घेरा।

By Sunil Raj Edited By: Sanjeev Kumar Sun, 16 Jun 2024 01:55 PM (IST)
Lalu Yadav: 'ऊंची जातियों के पास...', रिसर्च के जरिए लालू ने फिर खेला कास्ट कार्ड; सियासी भूचाल आना तय
लालू यादव ने फिर खेली जाति की राजनीति (जागरण)

राज्य ब्यूरो, पटना। Bihar Political News in Hindi: राजद सुप्रीमो व पूर्व रेल मंत्री लालू प्रसाद ने वर्ल्ड इनइक्वेलिटी लैब (विश्व असमानता लैब) की ओर साझा की गई रिचर्स आंकडों को लेकर कहा है कि ये आंकड़े बेहद डरवाने और चौकाने वाले हैं। लालू यादव ने कहा कि रिपोर्ट के अनुसार उच्च जातियों के पास देश की कुल संपत्ति का 𝟖𝟖.𝟒 प्रतिशत हिस्सा है।

 वहीं ओबीसी के पास केवल 𝟗.𝟎 प्रतिशत और अनुसूचित जाति और जनजाति के पास मात्र 𝟐.𝟔 प्रतिशत ही है।

लालू यादव (Lalu Yadav) ने कहा कि 𝟐𝟎𝟏𝟑 में ओबीसी का देश की संपत्ति में 𝟏𝟕.𝟑 प्रतिशत हिस्सा था जो 𝟐𝟎𝟐𝟐 में घटकर 𝟗 प्रतिशत ही रह गया है। छोटे और मध्यम आकार के व्यवसाय लगातार घटते जा रहे हैं। कृषि घाटे का सौदा होता जा रहा है। किसान सरकार की गलत नीतियों के चलते बर्बाद हो रहे है।

इसी वजह से भाजपा जातिगत जनगणना नहीं करवाना चाहती

राजद प्रमुख लालू यादव  ने कहा कि सर्वविदित है कि देश में ओबीसी, एससी, एसटी की आबादी लगभग 𝟖𝟓 प्रतिशत है। यही कारण है कि भाजपा जातिगत जनगणना नहीं कराना चाहती, क्योंकि इससे हर क्षेत्र में कुंडली मारे बैठे संपन्न लोगों का प्रभुत्व उजागर हो जाएगा।

रिसर्च बताती है कि देश की कुल संपत्ति का बड़ा हिस्सा लगभग 𝟖𝟗 प्रतिशत हिस्सा, आबादी में सबसे कम वाले वर्गों के पास है तथा देश की सबसे अधिक आबादी वाले 𝟖𝟓 प्रतिशत ओबीसी, एससी, एसटी के पास बाकी बचा हिस्सा है। इससे पता चलता है कि हमारे देश में सामाजिक-आर्थिक असमानता की जड़ें कितनी गहरी हैं।

मोदी सरकार लगातार OBC, SC,ST के छोटे व्यवसायियों को टारगेट कर रही

मोदी सरकार लगातार 𝟏𝟎 बरसों से ओबीसी, एससी, एसटी वर्ग के छोटे व्यवसायों को भी टारगेट कर खत्म कर रही है। लालू ने कहा कि जब तक ओबीसी, एससी, एसटी और उच्च जाति के गरीब लोग भाजपा की भक्ति, धर्मांधता और नफरत बोने वाले दंगाइयों को अपना नेता मानेंगे, तो ये आंकड़े और भी बद्तर होते जाएंगे।

विगत 𝟏𝟎 वर्षों में इन्होंने आपको धर्म और छद्म राष्ट्र के बनावटी मुद्दों व बहसों में उलझा कर अपनी सामाजिक, राजनीतिक और आर्थिक सत्ता को ओर अधिक सुदृढ़ एवं सुनिश्चित किया है। लालू ने कहा कि ये लोग धूर्तता के साथ ओबीसी, एससी, एसटी को सांकेतिक और दिखावटी प्रतिनिधित्व देकर इतिश्री कर देते है ताकि देश की ये बहुसंख्यक आबादी अपने अधिकारों की वाजिब मांग ना कर सके।

ये भी पढ़ें

Bihar Weather Today: बिहार में इस तारीख से मूसलाधार बारिश का अलर्ट; गरज के साथ चलेगी तेज आंधी; पढ़ें मौसम का हाल

Jitan Ram Manjhi: महागठबंधन 9 सीटें कैसे जीत गया? जीतन राम मांझी ने खोल दी पोल; बताई अंदर की बात