पटना [जेएनएन]। बिहार के पूर्व मंत्री की बेटी के यौन शोषण, दुष्कर्म व सेक्स रैकेट संचालन के आरोपों से घिरे ऑटोमोबाइल कारोबारी निखिल प्रियदर्शी तथा उसके सहयोगियों के काले चिट्ठे खुलते जा रहे हैं। मामले की जांच के दौरान एसआइटी को मालूम हुआ कि निखिल ने कई लड़कियों को हवस का शिकार बनाया, जिनमें एक रिटायर्ड आइएएस की बेटी भी थी। उसने निखिल के धोखे से आहत होकर खुदकशी कर ली थी।

सूत्रों के अनुसार निखिल प्रियदर्शी की खोज करने के लिए एसआइटी ने विभिन्न स्रोतों से उसके कई मोबाइल नंबर हासिल किए। कुछ नंबरों को निखिल ने बंद कर दिया है। जब उन बंद नंबरों के कॉल डिटेल खंगाले गए तो उनमें एक लड़की का नंबर था। उसका विवरण निकालकर पुलिस जब लड़की के घर पहुंची तो मालूम हुआ कि वह एक रिटायर्ड आइएएस अधिकारी की बेटी है। उसके परिजन मुंबई चले गए हैं।

यह भी पढ़ें:   बारातियों भरी जीप पानी भरे गड्ढ़े में गिरी, चार की मौत, 14 घायल

परिजनों से पुलिस ने संपर्क साधा और मानवीय ढंग से पूछताछ की। तब जानकारी मिली कि निखिल ने शादी का सब्जबाग दिखा लड़की का यौन शोषण किया और जब वह गर्भवती हो गई तो उसकी अश्लील तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल करने की बात कहने लगा।

लड़की ने आवाज उठाने की कोशिश की, पर परिजनों का साथ नहीं मिला। कुछ अधिकारियों ने भी निखिल के पक्ष में लड़की को फोन किया और उससे नाता तोड़ लेने को लेकर धमकी दी। खुद को अकेला पाकर युवती ने आत्महत्या कर ली।

यह भी पढ़ें:  मुफ्ती की स्वच्छता की अनूठी पहल, बिना शौचालय नहीं पढ़ाएंगे निकाह

Posted By: Amit Alok