रक्सौल(पूर्वी चंपारण), जासं। रक्सौल-नरकटियागंज रेलखंड पर रविवार की सुबह भेलाही स्टेशन के पहले आउटर सिग्नल के करीब ट्रेन में आग लग गई। चलती ट्रेन धू-धूकर जलने लगी। इसकी जानकारी जैसे ही यात्रियों को हुई उनमें चीख-पुकार मच गई। इस आग पर सबसे पहले नजर गार्ड की पड़ी। उन्होंने चालक दल के सदस्यों को इसकी सूचना दी। स्टेशन करीब होने की वजह से ट्रेन की गति काफी कम थी। इसलिए ट्रेन को तत्काल रोक दिया गया।इसकी वजह से घबराए यात्री बोगियों से बाहर आ गए। इसके बाद कंट्रोल रूम को इसकी सूचना दी गई। ट्रेन में आग लगने की सूचना मिलते ही ग्रामीणों की भीड़ वहां जमा हो गई। इसके बाद दमकलर्मियों को इसकी सूचना दी गई। अभी आग को काबू करने का प्रयास जारी है।

रविवार की सुबह 5.10 बजे ट्रेन नंबर 05541 रक्सौल से नरकटियागंज के लिए भाया सिकटा होकर प्रस्थान की। जब यह भेलाही स्टेशन के करीब 39 नंबर पुल के पास गाद नदी के करीब पहुंची ताे इसमें आग लग गई। यह घटना सुबह करीब 5.30 बजे की है। सूचना मिलते ही दमकलकर्मी घटनास्थल पर पहुंच गए। अभी आग बुझाने का कार्य जारी है। भयंकर आग की वजह से इसको काबू करने में वक्त लग रहा है। ट्रेन में आग लगने की सूचना पर स्थानीय लोगों की भीड़ जमा हो गई है।

यह भी पढ़ें : नीतीश कुमार इज एनडीए...एनडीए इज नीतीश कुमार के बीच बिहार बीजेपी ने साफ कर दिया अपना स्टैंड 

इधर सूचना मिलने के बाद रक्सौल स्टेशन से अधिकारियों का दल भी घटनास्थल पर पहुंच चुका है। इंजन की आग से बोगी को बचाने के लिए स्थानीय लोगों के सहयोग से बोगी को इंजन से अलग करने का प्रयास किया जा रहा है, लेकिन पहिया जाम होने के कारण कार्य में काफी परेशानी हो रही है। इधर घटना के संबंध में बताया जा रहा है कि इंजन में लगी आग को पहले गार्ड ने देखा। फिर इसकी सूचना चालक दल को दी। इसके बाद चालक ने तुरंत गाड़ी रोक दी। यात्री ट्रेन से उतर सुरक्षित जगह पर पहुंचने लगे हैं। फिलहाल दमकलकर्मियों के सहयोग से आग को बुझाने का कार्य चल रहा है। आग किन कारणों से लगी है। इस संबंध में कुछ भी स्पष्ट जानकारी नहीं मिल सकी है।

यह भी पढ़ें : अब बिहार में होगा सत्ता परिवर्तन...महाराष्ट्र का उदाहरण देकर लोजपा (रा.) सुप्रीमो ने की नीतीश सरकार के बारे में भविष्यवाणी

Edited By: Ajit Kumar