Move to Jagran APP

आरामदायक होगा भागलपुर-दानापुर, जनसेवा व वनांचल एक्सप्रेस का सफर, लगाए जाएंगे एलएचबी कोच

एलएचबी रैक के जुड़ते ही ट्रेन के हरेक स्लीपर कोच में सीटों की संख्या 72 से बढ़कर 80 एसी टू कोच में 48 से बढ़कर 54 और एसी थ्री में 64 से बढ़कर 72 हो जाएंगी। रेलवे के अधिकारियों के अनुसार एलएचबी कोच के जुड़ने से सीटों की संख्या तो बढ़ेगी ही ट्रेन के दुर्घटनाग्रस्त होने की संभावना भी कम हो जाएगी।

By Alok Kumar Mishra Edited By: Rajat Mourya Published: Tue, 23 Apr 2024 03:18 PM (IST)Updated: Tue, 23 Apr 2024 03:18 PM (IST)
आरामदायक होगा भागलपुर-दानापुर, जनसेवा व वनांचल एक्सप्रेस का सफर, लगाए जाएंगे एलएचबी कोच

जागरण संवाददाता, भागलपुर। भागलपुर-दानापुर, जनसेवा व वनांचल एक्सप्रेस का सफर पहले से अधिक सुरक्षित व आरामदायक होगा। भागलपुर जंक्शन से चलने वाली इन तीनों ट्रेनों के साथ-साथ इस रूट से गुजरने वाली एक्सप्रेस ट्रेनों से इंटीग्रल (आइसीएफ) कोच को हटाकर उसमें एलएचबी (लिंके हॉफमैन बुश) कोच लगाए जाएंगे।

रेल प्रशासन इसकी कवायद में जुट चुका है। ट्रेनों में एलएचबी कोच लगने से स्लीपर से एसी तक की बागी में छह से आठ सीटें बढ़ जाएंगी। इससे साहिबगंज-भागलपुर-जमालपुर-किऊल और भागलपुर-दुमका-बांका रेलखंड के यात्रियों को आवाजाही में सहूलियत होगी।

एलएचबी रैक के जुड़ते ही ट्रेन के हरेक स्लीपर कोच में सीटों की संख्या 72 से बढ़कर 80, एसी टू कोच में 48 से बढ़कर 54 और एसी थ्री में 64 से बढ़कर 72 हो जाएंगी। रेलवे के अधिकारियों के अनुसार, एलएचबी कोच के जुड़ने से सीटों की संख्या तो बढ़ेगी ही, ट्रेन के दुर्घटनाग्रस्त होने की संभावना भी कम हो जाएगी।

खुदा न खास्ते अगर कभी हादसा हो भी गया तो यात्रियों को नुकसान नहीं के बराबर होगा।

लंबी दूरी की अधिकांश ट्रेनों में लगे हैं एलएचबी कोच

विक्रमशिला एक्सप्रेस सहित लंबी दूरी की अधिकांश ट्रेनों में एलएचबी कोच लगे हैं। भागलपुर-दानापुर इंटरसिटी में एलएचबी कोच लगाने का प्रस्ताव भेजा जा चुका है। मुख्यालय से जल्द रैक उपलब्ध कराए जाने की उम्मीद है।

अधिकारी ने बताया कि भागलपुर-दानापुर इंटरसिटी, भागलपुर और मुजफ्फरपुर तक चलने वाली जनसेवा एक्सप्रेस सहित भागलपुर स्टेशन से खुलने और इस रास्ते होकर चलने वाली एक्सप्रेस ट्रेनों में भी जल्द एलएचबी कोच जोड़कर चलाने की योजना पर काम चल रहा है।

एलएचबी कोच की खासियत

लिंके हॉफमैन बुश (एलएचबी) कोच स्टेनलेस स्टील से बने होते हैं, इसलिए वे इंटीग्रल कोच फैक्ट्री (ICF) कोचों की तुलना में हल्के और मजबूत होते हैं। कोच को 160 किमी/घंटा तक की परिचालन गति के लिए डिज़ाइन किया गया है और यह 200 किमी/घंटा तक जा सकता है। इसमें डिस्क ब्रेक लगे होते हैं।

ये भी पढ़ें- Special Train : बिहार के इस स्टेशन से दिल्ली के लिए डायरेक्ट ट्रेन, एक क्लिक में पढ़ें रूट और टाइम-टेबल

ये भी पढ़ें- Special Train News: नई दिल्ली, पुणे व कोयंबटूर के लिए इन शहरों से चलेंगी स्पेशल ट्रेन, जानें पूरा टाइम-टेबल


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.