नई दिल्ली (ऑटो डेस्क)। नए साल की शुरुआत हो चुकी है और भारतीय ऑटोमोबाइल बाजार में कई नए बदलाव देखने को मिलेंगे। इनमे भारत स्टेज - 6 (BSVI) उत्सर्जन मानदंडों से लेकर भारत की अपनी क्रैश टेस्ट रेटिंग लागू होना तक शामिल हैं। इसी वजह से अब भारत में बेची जाने वाली सभी कारें जल्द ही वैश्विक मानकों के अनुरूप होंगी और इन सभी बदलावों के चलते कुछ मौजूदा कारों के बंद होने का भी अनुमान है। आज हम आपके लिए अपनी खबर में ऐसी गाड़ियां लेकर आए हैं, जो 2019 के दौरान बंद की जा सकती हैं। हमने इन कारों को आगामी बीएस-6 उत्सर्जन मानक, क्रैश टेस्ट मानदंडों और कम बिक्री के चलते चुना है।

Maruti Suzuki Gipsy

कीमत - 5.70 लाख रुपये से 6.40 लाख रुपये (एक्स शोरूम दिल्ली)

औसत मासिक बिक्री - 500 से कम यूनिट

मारुति सुजुकी जिप्सी ने 1980 के दशक में भारतीय कार बाजार में कदम रखा था और अब माना जा रहा है कि 2019 में कंपनी इसे बंद कर देगी। इसे बंद करने की मुख्य वजह इस साल से लागू होने वाले भारत न्यू व्हीकल सेफ्टी एसेस्मेंट प्रोग्राम (BNVSAP) माना जा रहा है। जिप्सी को अपनी ऑफ-रोड क्षमता और कम कर्ब वेट (980 Kg) के लिए 'माउंटेन गोट' के रूप में जाना जाता है। इसे भारतीय सुरक्षा बलों द्वारा भी उपयोग किया जाता है।

Maruti Suzuki Omni

कीमत - 2.76 लाख रुपये

औसतन मासिक बिक्री - 6000 से 8000 यूनिट्स

मारुति ओम्नी भी जिप्सी की तरह देश में लंबे समय से बिकने वाली मारुति कारों में से एक है। भारत में इसे 1985 में लॉन्च किया गया था। पिछले तीन दशकों से ओमनी का भारत में नया जनरेशन मॉडल लॉन्च नहीं किया गया है। हालांकि, कंपनी ने नए जनरेशन के तौर पर मारुति वर्सा को उतारा था, जिसे 2010 में बद कर करके ईको वेन को भारत में उतारा गया। मौजूदा ओमनी ना तो क्रैश टेस्ट को पूरा कर सकेगी और ना ही इसका पुराना 796cc कार्बोरेटेड इंजन कड़े BS-6 उत्सर्जन मानदंड़ों को पूरा करने में सक्षम है, ऐसे में कंपनी ओमनी को बंद कर सकती है। बता दें ओमनी की आज भी मासिक बिक्री कई कारों की तुलना में काफी ज्यादा है।

Mahindra Xylo

कीमत - 9.17 लाख रुपये से 12 लाख रुपये (एक्स शोरूम दिल्ली)

औसतन मासिक बिक्री - 500 यूनिट्स

साल 2009 में लॉन्च हुई महिंद्रा जायलो को भी कंपनी इस साल बंद कर सकती है। बता दें, 2009 के बाद कंपनी ने इसका अभी तक नया जनरेशन मॉडल लॉन्च नहीं किया है। महिंद्रा जायलो को पहली जनरेशन स्कॉर्पियो के प्लेटफॉर्म पर बनाया गया है, जो आगामी क्रैश टेस्ट को पास करने में असमर्थ है। बता दें, दूसरी जनरेशन स्कॉर्पियो को ग्लोबल NCAP क्रैश टेस्ट में शून्य अंक मिले थे और कार की बॉडी को भी टेस्ट के दौरान अस्थिर बताया गया था। ऐसे में उम्मीद की जा रही है कि कंपनी जायलो को भारत में बंद कर देगी।

Tata Nano

कीमत - 2.36 लाख रुपए से 3.34 लाख रुपये

औसतन मासिक बिक्री - 50 यूनिट्स

टाटा नैनो 2008 में लॉन्च होने के बाद सबसे सस्ती कार के रूप में सामने आई। हालांकि, कम कीमत होने के बावजूद भी यह कार कंपनी की उम्मीदों पर खड़ी नहीं उतरी और आगामी मानदंड़ो के चलते इसे बंद किया जा सकता है।

Fiat Punto, Linea

पुंटो कीमत - 5.35 लाख रुपये से 7.47 लाख रुपये (एक्स शोरूम दिल्ली)

लीनिया कीमत - 7.15 लाख रुपये से 9.97 लाख रुपये (एक्स शोरूम दिल्ली)

औसतन मासिक बिक्री - 100 यूनिट्स से भी कम

इन दोनों कारों की बिक्री अन्य कारों की तुलना में काफी लंबे समय से खराब चल रही है। इतना ही नहीं ये दोनों कारें अपने सेगमेंट में सबसे पुरानी कारें भी हैं। लीनिया की सालाना औसतन बिक्री 100 यूनिट्स से भी कम है। वहीं, पुंटो रेंज की मासिक बिक्री लगभग 50 यूनिट्स तक ही है, जिसमें अवेंचुरा और अर्बन क्रॉस शामिल हैं। कंपनी इन दोनों कारों को खराब सेल्स के चलते बंद कर सकती है। हालांकि, फिएट जब तक कोई नया मॉडल लॉन्च नहीं करती तब तक अबर्थ की बिक्री जारी रख सकती है।

यह भी पढ़ें:

Honda Activa चलाने वालों के लिए खुशखबरी, इस नई टेक्नोलॉजी से बढ़ेगा 10% माइलेज

MG Motor की भारत में आने वाली SUV में मिलेगा यह खास फीचर, तेजी से हो रही चर्चा

Posted By: Ankit Dubey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप