योग

जनवरी सन् 2017

कार्य-सिद्धि योग

05 जनवरी को सायं 04/45 से देर रात्रि 06/48 तक

06 जनवरी को समस्त 09 जनवरी को दिन 10/17 से देर रात्रि 06/48

12 जनवरी को समस्त

18 जनवरी को प्रात: 06/48 से देर रात्रि 02/38 तक

21 जनवरी को प्रात: 06/48 से प्रात: 08/04 तक

23 जनवरी को प्रात: 06/47 से दोपहर 01/56 तक

27 जनवरी को रात्रि 09/49 से देर रात्रि 06/46 तक

28 जनवरी को प्रात: 06/46 से रात्रि 10/39 तक

31 जनवरी को रात्रि 10/45 से देर रात्रि 06/45 तक

अमृत सिद्धि योग

06 जनवरी को प्रात: 06/48 से दोपहर 03/45 तक

12 जनवरी को देर रात्रि 01/20 से देर रात्रि 06/49 तक

सर्वदोषनाशक रवि योग

01 जनवरी को सायं 04.01 से 02 जनवरी को सायं 04.51 तक।

03 जनवरी को सायं 05.17 से 04 जनवरी को सायं 05.15 तक।

06 जनवरी को दोपहर 03.45 से 07 जनवरी को दोपहर 02.18 तक।

10 जनवरी को प्रात: 07.56 से देर रात्रि 01.07 तक।

10 जनवरी को देर रात्रि 05.33 से 11 जनवरी को देर रात्रि 03.17 तक।

17 जनवरी को देर रात्रि 12.37 से 18 जनवरी को देर रात्रि 2.38 तक।

30 जनवरी को रात्रि 11.04 से 31 जनवरी को रात्रि 10.45 तक।

द्विपुष्कर योग

28 जनवरी को देर रात्रि 05/44 से देर रात्रि 06/46 तक

29 जनवरी को प्रात: 06/45 से रात्रि 11/03 तक

त्रिपुष्कर योग

08 जनवरी को देर रात्रि 05.03 से देर रात्रि 06.48 तक

गुरू पुष्यामृत योग 12 जनवरी को देर रात्रि 01.20 से सूर्योदय पर्यन्त

विघ्नकारक भद्रा

01 जनवरी को देर रात्रि 03.43 से 02 जनवरी को दोपहर 03.51 तक।

05 जनवरी को दोपहर 02.01 से देर रात्रि 01.14 तक।

08 जनवरी को सायं 06.28 से देर रात्रि 05.03 तक।

11 जनवरी को रात्रि 07.52 से देर रात्रि 06 मि. 28 तक।

14 जनवरी को देर रात्रि 12.15 से 15 जनवरी को दोपहर 11.40 तक।

18 जनवरी को दोपहर 12.49 से देर रात्रि 01.44 तक।

22 जनवरी को प्रात: 08.44 से रात्रि 10.00 तक

25 जनवरी को देर रात्रि 03.57 से 26 जनवरी को सायं 04.33 तक।

31 जनवरी को सायं 04.15 से देर रात्रि 03.42 तक।

पंचक

01 जनवरी को देर रात्रि 04.29 से 06 जनवरी को दोपहर 03.45 तक।

29 जनवरी को सुबह 10.54 से।

मूल-संज्ञक नक्षत्र

रेवती अश्विनी 05 जनवरी को सायं 04.45 से 07 जनवरी को दिन 02.18 तक।

आश्लेषा मघा 13 जनवरी को रात्रि 11.50 से 15 जनवरी को रात्रि 10.43 तक।

ज्येष्ठा मूल 23 जनवरी को दोपहर 01.56 से 25 जनवरी को सायं 06.46 तक।

चन्द्र राशि-प्रवेश

01 जनवरी को देर रात्रि 04.29 बजे कुम्भ में

04 जन. को प्रात:11.18 बजे मीन में 06 जन. को दोपहर 3.45 बजे मेष में

08 जन. को सायं 05.56 बजे वृष में 10 को सायं 06.44 बजे मिथुन में

12 जनवरी को रात्रि 07.47 बजे कर्क में 14 को रात्रि 10.55 बजे सिंह में

16 को देर रात्रि 05.33 बजे कन्या में 19 जन. को दोपहर 3.51 बजे तुला में

21 को देर रात्रि 4.18 बजे वृश्चिक में 24 को सायं 04.33 बजे धनु में

26 को देर रात्रि 02.54 बजे मकर में 29 को प्रात: 10.54 बजे कुम्भ में

31 को सायं 04.52 बजे मीन में

पढ़ें व्रत त्योहार, शुभ मुहूर्त, ग्रेह चाल, राशिफल, रोज़ का पंचांग अपने मोबाइल पर. डाउनलोड Daily Horoscope And Panchang एप

दिन की कौन सी घड़ी है शुभ, जानने के लिए अपने मोबाइल के मेसेज बॉक्स में जाकर टाइप करें ishubh और भेज दीजिए 57272 पर।

फरवरी सन् 2017

कार्य-सिद्धि योग

02 फरवरी को समस्त 03 फरवरी को प्रात: 06/44 से रात्रि 08/02 तक

06 फरवरी को समस्त 09 फरवरी को समस्त

15 फरवरी को प्रात: 06/36 से दोपहर 11/32 तक

24 फरवरी को प्रात: 06/30 से देर रात्रि 06/28 तक

25 फरवरी को प्रात: 06/28 से प्रात: 07/11 तक

28 फरवरी को प्रात: 06/25 से देर रात्रि 04/44 तक

अमृत सिद्धि-योग

06 फरवरी को दोपहर 03/29 से देर रात्रि 06/42 तक

09 फरवरी को दोपहर 10/48 से देर रात्रि 06/40 तक

सर्वदोषनाशक रवि योग

01 फरवरी को रात्रि 10.06 से। 02 फरवरी को रात्रि 09.11 तक।

04 फरवरी को सायं 06.39 से। 05 फरवरी को सायं 05.07 तक।

05 फरवरी को देर रात्रि 06.34 से। 06 फरवरी को दोपहर 03.29 तक।

09 फरवरी को प्रात: 10.48 से। 10 फरवरी को प्रात: 09.40 तक।

16 फरवरी को दोपहर 01.41 से। 17 फरवरी को सायं 04.18 तक।

28 फरवरी को देर रात्रि 04.44 से।

द्विपुष्कर योग

07 फरवरी को दोपहर 01/48 से दोपहर 01/49 तक

त्रिपुष्कर योग

18 फरवरी को प्रात: 06/33 से दोपहर 11/48 तक

अशुभ ज्वालामुखी योग

04 फरवरी को सायं 06.39 से रात्रि 08.45 तक

05 फरवरी को सायं 05.07 से सायं 06.30 तक

गुरू पुष्यामृत योग

09 फरवरी को प्रात: 10.48 से सूर्योदय पर्यन्त

विघ्नकारक भद्रा

03 फरवरी को रात्रि 10-50 से। 04 फरवरी को प्रात: 09.49 तक।

06 फरवरी को देर रात्रि 02.59 से। 07 फरवरी को दोपहर 01.48 तक।

10 फरवरी को प्रात: 07.31 से सायं 06.47 तक।

13 फरवरी को सायं 04.45 से देर रात्रि 04.57 तक।

17 फरवरी को प्रात: 09.26 से रात्रि 10.37 तक।

20 फरवरी को देर रात्रि 05.44 से। 21 फरवरी को सायं 06.46 तक।

24 फरवरी को रात्रि 09.39 से। 25 फरवरी को प्रात: 09.35 तक।

पंचक

02 फरवरी को रात्रि 09.11 तक।

25 फरवरी को सायं 07.18 से।

मूल संज्ञक नक्षत्र

रेवती अश्विनी 01 फरवरी को रात्रि

10.06 से 03 फरवरी को रात्रि 08.02 तक।

आश्लेषा मघा 10 फरवरी को प्रात:

09.40 से 12 फरवरी को प्रात: 08.40 तक।

ज्येष्ठा मूल 19 फरवरी को रात्रि

10.07 से 21 फरवरी को देर रात्रि 03.17 तक।

रेवती अश्विनी 28 फरवरी को देर रात्रि 04.44 से

चन्द राशि-प्रवेश

02 फरवरी को रात्रि 9.11 बजे मेष में

04 फरवरी को रात्रि 12.17 बजे वृष में

06 फरवरी को देर रात्रि 02.39 बजे मिथुन में

08 फरवरी को देर रात्रि 05.08 बजे कर्क में

11 फर. को प्रात: 8.55 बजे सिंह में

13 फरवरी को दिन 03.10 बजे कन्या में

15 फरवरी को रात्रि 12.33 पर तुला में।

18 फरवरी को दिन 12.26 बजे वृश्चिक में

20 फर. को रात्रि 12.53 बजे धनु में

23 को दिन 11.34 बजे मकर में

25 फरवरी को सायं 07.18 बजे कुंभ में

27 को रात्रि 12.12 बजे मीन में

पढ़ें व्रत त्योहार, शुभ मुहूर्त, ग्रेह चाल, राशिफल, रोज़ का पंचांग अपने मोबाइल पर. डाउनलोड Daily Horoscope And Panchang एप

दिन की कौन सी घड़ी है शुभ, जानने के लिए अपने मोबाइल के मेसेज बॉक्स में जाकर टाइप करें ishubh और भेज दीजिए 57272 पर।

मार्च सन् 2017

कार्य-सिद्धि योग

02 मार्च को प्रात: 06/23 से देर रात्रि 01/41 तक

04 मार्च को रात्रि 10/29 से देर रात्रि 06/21 तक

06 मार्च को प्रात: 06/19 से रात्रि 07/42 तक

09 मार्च को प्रात: 06/16 से सायं 05/12 तक

12 मार्च को सायं 05/41 से देर रात्रि 06/13 तक

17 मार्च को देर रात्रि 03/19 से देर रात्रि 06/08 तक

24 मार्च को प्रात: 06/01 से सायं 04/45 तक

28 मार्च को प्रात: 05/57 से दोपहर 01/41 तक

30 मार्च को प्रात: 05/55 से प्रात: 09/24 तक

अमृत सिद्धि योग

04 मार्च को रात्रि 10/29 से देर रात्रि 06/21 तक

06 मार्च को प्रात: 06/19 से रात्रि 07/42 तक

09 मार्च को प्रात: 06/16 से सायं 05/12 तक

सर्वदोषनाशक रवि योग

01 मार्च को देर रात्रि 03.16 तक।

02 मार्च को देर रात्रि 01.41 से। 03 मार्च को देर रात्रि 12.04 तक।

04 मार्च को सायं 05.24 से रात्रि 10.29 तक।

06 मार्च को रात्रि 07.42 से। 07 मार्च को सायं 06.37 तक।

10 मार्च को सायं 04.59 से। 11 मार्च को सायं 05/07 तक।

19 मार्च को प्रात: 06.14 से। 20 मार्च को प्रात: 09.09 तक।

30 मार्च को प्रात: 09.24 से। 31 मार्च को प्रात: 07.06 तक।

द्विपुष्कर (दो गुना फल) योग

14 मार्च को रात्रि 08/12 से रात्रि 09/50 तक

25 मार्च को प्रात: 06/00 से दोपहर 01/34 तक

्रिपुष्कर (तीन गुना फल)योग

04 मार्च को प्रात: 08/24 से रात्रि 10/29 तक

अशुभ ज्वालामुखी योग

03 मार्च को प्रात: 06.22 से प्रात: 10.44 तक

गुरू पुष्यामृत योग

09 मार्च प्रात: 06/16 से सायं 05/12 तक।

विघ्नकारक भद्रा

01 मार्च को देर रात्रि 02.11 से। 02 मार्च को दोपहर 01.04 तक।

04 मार्च को देर रात्रि 06.08 से। 05 मार्च को सायं 05.02 तक।

08 मार्च को दोपहर 11.32 से रात्रि 10.50 तक।

11 मार्च को रात्रि 08.24 से। 12 मार्च को प्रात: 08.21 तक।

15 मार्च को प्रात: 10.30 से रात्रि 11.17 तक।

18 मार्च को देर रात्रि 05.53 से। 19 मार्च को सायं 07.07 तक।

22 मार्च को देर रात्रि 12.53 से। 23 मार्च को दोपहर 01.28 तक।

26 मार्च को दोपहर 12.30 से रात्रि 11.38 तक।

31 मार्च को प्रात: 10.11 से रात्रि 08.41 तक।

पंचक

01 मार्च को देर रात्रि 03.16 तक।

24 मार्च को देर रात्रि 04.57 से। 29 मार्च को प्रात: 11.39 तक।

मूल-संज्ञक नक्षत्र

रेवती अश्विनी 02 मार्च को देर रात्रि 01.41 तक

आश्लेषा मघा 09 मार्च को सायं 05.12 से 11 मार्च को सायं 05.07 तक

ज्येष्ठा मूल 19 मार्च को प्रात: 06.14 से 21 मार्च को दोपहर 11.51 तक

रेवती अश्विनी 28 मार्च को दोपहर 01.41 से 30 मार्च को प्रात:09.24 तक

चन्द्रमा का राशि प्रवेश

01 मार्च को देर रात्रि 3.16 बजे मेष में

03 मार्च को देर रात्रि 5.40 बजे वृष में

06 मार्च को प्रात: 08.20 बजे मिथुन में

08 मार्च को दोपहर 11.57 बजे कर्क में

10 मार्च को सायं 04.59 बजे सिंह में

12 मार्च को रात्रि 11.54 बजे कन्या में

15 मार्च को प्रात: 09.08 बजे तुला में

17 मार्च को रात्रि 08.36 बजे वृश्चिक में

20 मार्च को प्रात: 09.09 बजे धनु में

22 मार्च को रात्रि 8.36 बजे मकर में

24 मार्च को देर रात्रि 04.57 बजे कुम्भ में

27 मार्च को प्रात: 09.41 बजे मीन में

29 को दोपहर 11.39 बजे मेष में

31 को दोपहर 12.32 बजे वृष में

पढ़ें व्रत त्योहार, शुभ मुहूर्त, ग्रेह चाल, राशिफल, रोज़ का पंचांग अपने मोबाइल पर. डाउनलोड Daily Horoscope And Panchang एप

दिन की कौन सी घड़ी है शुभ, जानने के लिए अपने मोबाइल के मेसेज बॉक्स में जाकर टाइप करें ishubh और भेज दीजिए 57272 पर।

अप्रैल सन् 2017

कार्य - सिद्धि योग

01 अप्रैल को देर रात्रि 02/54 से देर रात्रि 05/53 तक

09 अप्रैल को समस्त

14 अप्रैल को दोपहर 10/47 से देर रात्रि 05/40 तक

16 अप्रैल को सायं 04/39 से देर रात्रि 05/38 तक

23 अप्रैल को देर रात्रि 01/40 से देर रात्रि 05/31 तक

25 अप्रैल को रात्रि 09/55 से देर रात्रि 05/30 तक

29 अप्रैल को प्रात: 05/26 से दोपहर 10/57 तक

अमृत सिद्धि योग

01 अप्रैल को प्रात: 05/53 से देर रात्रि 02/54 तक

09 अप्रैल को देर रात्रि 01/54 से देर रात्रि 05/44 तक

25 अप्रैल को रात्रि 09/55 से देर रात्रि 05/30 तक

29 अप्रैल को प्रात: 05/26 से दोपहर 10/57 तक

सर्वदोषनाशक रवि योग

01 अप्रैल को देर रात्रि 02.54 से। 02 अप्रैल को देर रात्रि 01.14 तक।

04 अप्रैल को रात्रि 11.12 से। 05 अप्रैल को रात्रि 10.52 तक।

08 अप्रैल को देर रात्रि 12.33 से। 09 अप्रैल को देर रात्रि 01.54 तक।

17 अप्रैल को सायं 07.33 से। 18 अप्रैल को रात्रि 10.11 तक।

29 अप्रैल को दोपहर 10.57 से। 30 अप्रैल को प्रात: 08.33 तक।

द्विपुष्कर योग

02 अप्रैल को दोपहर 03/16 से देर रात्रि 01/14 तक

त्रिपुष्कर योग

18 अप्रैल को रात्रि 10/11 से देर रात्रि 02/37 तक

22 अप्रैल को देर रात्रि 04/05 से देर रात्रि 05/32 तक

23 अप्रैल को प्रात: 05/31 से देर रात्रि 01/40 तक

अशुभ ज्वालामुखी योग

06 अप्रैल को प्रात: 05.47 से प्रात: 09.16 तक

विघ्नकारक भद्रा

03 अप्रैल को दोपहर 01.05 से रात्रि 12.13 तक।

06 अप्रैल को रात्रि 09.06 से। 07 अप्रैल को प्रात: 08.55 तक।

10 अप्रैल को प्रात: 10.23 से रात्रि 11.01 तक।

13 अप्रैल को देर रात्रि 04.18 से। 14 अप्रैल को सायं 05.24 तक।

17 अप्रैल को देर रात्रि 12.37 से। 18 अप्रैल को दोपहर 01.40 तक।

21 अप्रैल को सायं 05.01 से देर रात्रि 04.55 तक।

24 अप्रैल को देर रात्रि 12.05 से। 25 अप्रैल को प्रात: 10.41 तक।

29 अप्रैल को सायं 05.18 से देर रात्रि 03.40 तक।

पंचक

21 अप्रैल को दोपहर 02.20 से। 25 अप्रैल को रात्रि 09.55 तक।

मूल-संज्ञक नक्षत्र

आश्लेषा मघा 05 अप्रैल को रात्रि 10.52 से 07 अप्रैल को रात्रि 11.34 तक

ज्येष्ठा मूल 15 अप्रैल को दिन 01.40 से 17 अप्रैल को सायं 07.33 तक

रेवती अश्विनी 24 अप्रैल को रात्रि 12.05 से 26 अप्रैल को सायं 07.20 तक

चन्द्रमा का राशि प्रवेश

02 अप्रैल को दिन 02.01 बजे मिथुन में

04 अप्रैल को सायं 05.21 बजे कर्क में

06 अप्रैल को रात्रि 11.00 बजे सिंह में

09 अप्रैल को प्रात: 06.51 बजे कन्या में

11 अप्रैल को दिन 04.37 बजे तुला में

13 अप्रैल को देर रात्रि 04.05 बजे वृश्चिक में

16 अप्रैल को दिन 04.39 बजे धनु में

18 अप्रैल को देर रात्रि 04.46 बजे मकर में

21 अप्रैल को दिन 2.20 बजे कुम्भ में

23 अप्रैल को रात्रि 7.58 बजे मीन में

25 अप्रैल को रात्रि 09.55 बजे मेष में

27 अप्रैल को रात्रि 09.48 बजे वृष में

29 अप्रैल को रात्रि 9.42 बजे मिथुन में

पढ़ें व्रत त्योहार, शुभ मुहूर्त, ग्रेह चाल, राशिफल, रोज़ का पंचांग अपने मोबाइल पर. डाउनलोड Daily Horoscope And Panchang एप

दिन की कौन सी घड़ी है शुभ, जानने के लिए अपने मोबाइल के मेसेज बॉक्स में जाकर टाइप करें ishubh और भेज दीजिए 57272 पर।

मई सन् 2017

कार्य-सिद्धि योग

01 मई को देर रात्रि 05/16 से देर रात्रि 05/25 तक

02 मई को देर रात्रि 04/33 से देर रात्रि 05/24 तक

07 मई को समस्त

11 मई को सायं 05/19 से देर रात्रि 05/18 तक

12 मई को प्रात: 05/18 से रात्रि 08/13 तक

14 मई को प्रात: 05/17 से देर रात्रि 02/08 तक

21 मई को दोपहर 11/11 से देर रात्रि 05/14 तक

23 मई को प्रात: 08/24 से देर रात्रि 05/13 तक

24 मई को देर रात्रि 03/14 से देर रात्रि देर रात्रि 05/12 तक

29 मई को दोपहर 01/25 से देर रात्रि 05/11 तक

30 मई को दोपहर 11/57 से देर रात्रि 05/11 तक

अमृत सिद्धि योग

07 मई को प्रात: 07/45 से देर रात्रि 05/21 तक

23 मई को प्रात: 08/24 से देर रात्रि 05/13 तक

सर्वदोषनाशक रवि योग

01 मई को प्रात: 06.37 से देर रात्रि 05.16 तक।

03 मई को देर रात्रि 04.29 से। 04 मई को देर रात्रि 05.02 तक।

08 मई को दोपहर 09.44 से। 09 मई को दोपहर 12.01 तक।

17 मई को प्रात: 07.26 से। 18 मई को प्रात: 09.26 तक।

28 मई को दोपहर 03.31 से। 29 मई को दोपहर 01.25 तक।

30 मई को दोपहर 11.57 से। 31 मई को दोपहर 11.13 तक।

द्विपुष्कर (दो गुना फल) योग

27 मई को प्रात: 05/12 से सायं 05/32 तक

्रिपुष्कर (तीन गुना फल)योग

06 मई को रात्रि 08/30 से देर रात्रि 05/21 तक

07 मई को प्रात: 05/21 से प्रात: 07/45 तक

विघ्नकारक भद्रा

02 मई को रात्रि 08.52 से। 03 मई को प्रात: 08.17 तक।

06 मई को प्रात: 08.04 से रात्रि 08.30 तक।

09 मई को देर रात्रि 01.08 से। 10 मई को दोपहर 02.09 तक।

13 मई को रात्रि 09.05 से। 14 मई को दोपहर 10.18 पर।

17 मई को सायं 04.32 से देर रात्रि 05.08 तक।

21 मई को प्रात: 05.23 से सायं 04.42 तक।

24 मई को प्रात: 08.48 से सायं 06.58 तक।

28 मई को रात्रि 12.36 से 29 मई को दोपहर 11.07 तक

पंचक

18 मई को रात्रि 10.12 से 23 मई को प्रात: 08.24 तक

मूल-संज्ञक नक्षत्र

आश्लेषा मघा 02 मई को देर रात्रि 04.33 से 04 मई को देर रात्रि 05.02 तक

ज्येष्ठा मूल 12 मई को रात्रि 08.13 से 14 मई को देर रात्रि 02.08 तक

रेवती अश्विनी 22 मई को प्रात: 10.10 से 24 मई को प्रात: 06.02 तक

आश्लेषा मघा 30 मई को दोपहर 11.57 से 01 जून को दोपहर 11.15 तक

चन्द्रमा का राशि प्रवेश

01 मई को रात्रि 11.33 बजे कर्क में।

03 मई को देर रात्रि 04.29 बजे सिंह में।

06 मई को दिन 12.30 बजे कन्या में।

08 मई को रात्रि 10.50 बजे तुला में 11 मई को प्रात: 10.37 बजे वृश्चिक में।

13 मई को रात्रि 11.11 बजे धनु में

16 मई को दिन 11.36 बजे मकर में

18 मई को रात्रि 10.12 बजे कुम्भ में

21 मई को प्रात: 05.19 बजे मीन में

23 मई को प्रात: 08.24 बजे मेष में।

25 मई को देर रात्रि 08.29 बजे वृष में।

27 मई को प्रात: 07.34 बजे मिथुन में

29 मई को प्रात: 07.53 बजे कर्क में।

31 मई को प्रात: 11.13 बजे सिंह में।

पढ़ें व्रत त्योहार, शुभ मुहूर्त, ग्रेह चाल, राशिफल, रोज़ का पंचांग अपने मोबाइल पर. डाउनलोड Daily Horoscope And Panchang एप

दिन की कौन सी घड़ी है शुभ, जानने के लिए अपने मोबाइल के मेसेज बॉक्स में जाकर टाइप करें ishubh और भेज दीजिए 57272 पर।

जून सन् 2017

कार्य-सिद्धि योग

04 जून को प्रात: 05/10 से दोपहर 03/24 तक

07 जून को रात्रि 11/18 से देर रात्रि 05/10 तक

08 जून को प्रात: 05/10 से देर रात्रि 02/14 तक

11 जून को प्रात: 05/10 से प्रात: 08/05 तक

18 जून को प्रात: 05/11 से सायं 06/29 तक

20 जून को प्रात: 05/11 से दोपहर 03/44 तक

21 जून को दोपहर 01/27 से देर रात्रि 05/11 तक

25 जून को रात्रि 11/26 से देर रात्रि 05/12 तक

26 जून को 05/12 से रात्रि 09/23 तक

27 जून को प्रात: 05/13 से रात्रि 07/58 तक

अमृत सिद्धि योग

04 जून को प्रात: 05/10 से दोपहर 03/24 तक

07 जून को देर रात्रि 11/18 से देर रात्रि 05/10 तक

20 जून को प्रात: 05/11 से दोपहर 03/44 तक

सर्वदोषनाशक रवि योग

02 जून को दोपहर 12.01 से। 03 जून को दोपहर 01.26 तक।

06 जून को रात्रि 08.27 से। 07 जून को रात्रि 11.18 तक।

08 जून को प्रात: 07.51 से देर रात्रि 02.14 तक।

15 जून को सायं 05.15 से। 16 जून को सायं 06.22 तक।

26 जून को रात्रि 09.23 से। 27 जून रात्रि 07.58 तक।

28 जून सायं 07.17 से। 29 जून को सायं 07.23 तक।

त्रिपुष्कर (तीन गुना फल) योग

17 जून को प्रात: 05/11 से प्रात: 05/16 तक

24 जून को देर रात्रि 04/21 से देर रात्रि 05/12 तक

25 जून को प्रात: 05/12 से रात्रि 11/26 तक

अशुभ ज्वालामुखी योग

10 जून को प्रात: 05.10 से प्रात: 05.11 तक

रवि पुष्यामृत योग

25 जून को रात्रि 11.26 से सूर्योदय पर्यन्त

विघ्नकारक भद्रा

01 जून को प्रात: 06.20 से सायं 06.18 तक।

04 जून को रात्रि 08.53 से। 05 जून को प्रात: 09.43 तक।

08 जून को सायं 04.17 से। 09 जून को प्रात: 05.29 तक।

12 जून को दोपहर 12.19 से देर रात्रि 01.18 तक।

15 जून को देर रात्रि 05.09 से। 16 जून को सायं 05.17 तक।

19 जून को दोपहर 02.20 से देर रात्रि 01.12 तक।

22 जून को दोपहर 03.38 से देर रात्रि 01.44 तक।

27 जून को प्रात: 09.01 से रात्रि 08.01 तक।

30 जून को सायं 06.01 से।

पंचक

14 जून को देर रात्रि 04.28 से19 जून को सायं 05.27 तक।

मूल-संज्ञक नक्षत्र

ज्येष्ठा मूल 08 को देर रात्रि 02.14 से 11 जून को प्रात: 08.05 तक

रेवती अश्विनी 18 को सायं 06.29 से 20 जून को दोपहर 03.44 तक

आश्लेषा मघा 26 जून को रात्रि 09.23 से 28 को सायं 07.17 तक

चन्द्रमा का राशि प्रवेश

02 जून को सायं 6.19 बजे कन्या में

04 को देर रात्रि 4.33 बजे तुला में

07 को दिन 04.35 बजे वृश्चिक मेेंं

10 जून को प्रात: 05.11 बजे धनु में

12 जून सायं 05.30 बजे मकर में

14 को देर रात्रि 4.28 बजे कुम्भ में

17 जून को दिन 12.45 बजे मीन में

19 जून को सायं 5.27 बजे मेष में

21 जून को सायं 6.48 बजे वृष में

23 को सायं 06.19 बजे मिथुन में

25 जून को सायं 6.01 बजे कर्क में

27 जून को रात्रि 7.58 बजे सिंह में

29 को देर रात्रि 1.32 बजे कन्या में

पढ़ें व्रत त्योहार, शुभ मुहूर्त, ग्रेह चाल, राशिफल, रोज़ का पंचांग अपने मोबाइल पर. डाउनलोड Daily Horoscope And Panchang एप

दिन की कौन सी घड़ी है शुभ, जानने के लिए अपने मोबाइल के मेसेज बॉक्स में जाकर टाइप करें ishubh और भेज दीजिए 57272 पर।

जुलाई सन् 2017

कार्य-सिद्धि योग

05 जुलाई को प्रात: 05/27 से देर रात्रि 05/16 तक

06 जुलाई को प्रात: 05/16 से प्रात: 08/24 तक

09 जुलाई को सायं 04/48 से देर रात्रि 05/17 तक

10 जुलाई को सायं 07/09 से देर रात्रि 05/18 तक

16 जुलाई को प्रात: 05/20 से देर रात्रि 12/20 तक

18 जुलाई को रात्रि 09/45 से देर रात्रि 05/21 तक

19 जुलाई को समस्त

23 जुलाई को प्रात: 09/53 से देर रात्रि 05/24 तक

24 जुलाई को प्रात: 05/24 से प्रात: 07/44 तक

25 जुलाई को प्रात: 05/25 से प्रात: 06/00 तक

अमृत सिद्धि योग

05 जुलाई को प्रात: 05/27 से देर रात्रि 05/16 तक

सर्वदोषनाशक रवि योग

01 जुलाई को रात्रि 09.50 से। 02 जुलाई को रात्रि 12.00 तक।

07 जुलाई को दोपहर 11.21 से। 08 जुलाई को दोपहर 02.10 तक।

14 जुलाई को देर रात्रि 12.41 से। 15 जुलाई को देर रात्रि 12.48 तक।

25 जुलाई को देर रात्रि 04.52 से। 26 जुलाई को देर रात्रि 04.24 तक।

27 जुलाई को देर रात्रि 04.40 से। 29 जुलाई को प्रात: 05.41 तक।

31 जुलाई को प्रात: 09.39 से।

द्विपुष्कर (दो गुना फल) योग

04 जुलाई को देर रात्रि 12/30 से देर रात्रि 05/15 तक

त्रिपुष्कर (तीन गुना फल) योग

05 जुलाई को दोपहर 02.36 से सायं 05.28 तक

10 जुलाई को दोपहर 03.09 से रात्रि 10.09 तक

रवि पुष्यामृत योग

23 जुलाई को प्रात: 09.53 से सूर्योदय पर्यन्त

विघ्नकारक भद्रा

01 जुलाई को प्रात: 06.21 तक। 04 जुलाई को दोपहर 11.21 से रात्रि 12.30 तक।

08 जुलाई को प्रात: 07.31 से रात्रि 08.34 तक।

11 जुलाई को देर रात्रि 01.31 से। 12 जुलाई को दोपहर 02.04 तक।

15 जुलाई को दोपहर 02.34 से देर रात्रि 02.06 तक

18 जुलाई को रात्रि 08.43 से। 19 जुलाई को प्रात: 07.26 तक।

21 जुलाई को रात्रि 09.50 से। 22 जुलाई को प्रात: 08.08 तक।

26 जुलाई को सायं 07.35 से। 27 जुलाई को प्रात: 07.01 तक।

30 जुलाई को प्रात: 08.07 से रात्रि 08.57 तक।

पंचक

12 जुलाई को प्रात: 10.03 से। 16 जुलाई को रात्रि 12.20 तक।

मूल-संज्ञक नक्षत्र

ज्येष्ठा मूल 06 जुलाई को प्रात:08.24 से 08 जुलाई दिन 02.10 तक

रेवती अश्विनी 15 जुलाई को रात्रि 12.48 से 17 जुलाई को रात्रि 11.18 तक

आश्लेषा मघा 24 जुलाई को प्रात: 07.44 से 25 जुलाई को देर रात्रि 04.52 तक

चन्द्रमा का राशि प्रवेश

02 जुलाई को प्रात: 10.51 बजे तुला में

04 जुलाई को रात्रि 10.43 बजे ृश्चिक में

07 को दिन 11.21 बजे धनु में

09 जुलाई को रात्रि 11.25 बजे मकर में

12 जुलाई को प्रात: 10.03 बजे कुम्भ में

14 जुलाई को सायं 06.34 बजे मीन में

16 को रात्रि 12.20 बजे मेष में

18 को देर रात्रि 03.17 बजे वृष में

20 जुलाई को देर रात्रि 04.10 बजे मिथुन में

22 जुलाई को देर रात्रि 04.28 बजे कर्क में

25 को प्रात: 06.00 बजे सिंह में

27 जुलाई को प्रात: 10.24 बजे कन्या में

29 को सायं 06.27 बजे तुला में

पढ़ें व्रत त्योहार, शुभ मुहूर्त, ग्रेह चाल, राशिफल, रोज़ का पंचांग अपने मोबाइल पर. डाउनलोड Daily Horoscope And Panchang एप

दिन की कौन सी घड़ी है शुभ, जानने के लिए अपने मोबाइल के मेसेज बॉक्स में जाकर टाइप करें ishubh और भेज दीजिए 57272 पर।

अगस्त सन् 2017

कार्य-सिद्धि योग

02 अगस्त को प्रात: 05/28 से दोपहर 03/16 तक

06 अगस्त को प्रात: 05/30 से देर रात्रि 01/46 तक

07 अगस्त को प्रात: 05/31 से देर रात्रि 03/33 तक

13 अगस्त को प्रात: 05/50 से देर रात्रि 05/04 तक

15 अगस्त को प्रात: 05/34 से देर रात्रि 02/31 तक

16 अगस्त को समस्त

18 अगस्त को रात्रि 09/04 को देर रात्रि 05/36 तक

20 अगस्त को प्रात: 05/36 को सायं 05/22 तक

26 अगस्त को दोपहर 03/51 से देर रात्रि 05/39 तक

28 अगस्त को रात्रि 08/10 से देर रात्रि 05/40 तक

अमृत सिद्धि योग

02 अगस्त को प्रात: 05/28 से दोपहर 03/16 तक

सर्वदोषनाशक रवि योग

01 अगस्त को दोपहर 12.21 तक।

02 अगस्त को प्रात: 07.54 से दोपहर 03.16 तक।

05 अगस्त को रात्रि 11.35 से। 06 अगस्त को देर रात्रि 1.46 तक।

13 अगस्त को प्रात: 05.50 से देर रात्रि 05.04 तक।

24 अगस्त को दोपहर 02.01 से। 25 अगस्त को दोपहर 02.36 तक।

26 अगस्त को दोपहर 03.51 से। 27 अगस्त को सायं 05.45 तक।

29 अगस्त को रात्रि 10.57 से। 30 अगस्त को दोपहर 02.18 तक।

30 अगस्त को देर रात्रि 01.53 से। 31 अगस्त को देर रात्रि 4.47 तक।

द्विपुष्कर (दो गुना फल) योग

08 अगस्त को रात्रि 12/26 से देर रात्रि 04/53 तक

त्रिपुष्कर (तीन गुना फल) योग

19 अगस्त को प्रात: 05/36 से प्रात: 07/18 तक

27 अगस्त को रात्रि 10/42 से देर रात्रि 05/39 तक

अशुभ ज्वालामुखी योग

14 अगस्त को देर रात्रि 03.57 से 15 अगस्त को सायं 05.40 तक

15 अगस्त को देर रात्रि 02.31 से 16 अगस्त को दोपहर 03.18 तक

रवि पुष्यामृत योग

20 अगस्त को प्रात: 05.36 से सायं 05.22 तक

विघ्नकारक भद्रा

02 अगस्त को देर रात्रि 03.26 से। 03 अगस्त को सायं 04.37 तक

06 अगस्त को रात्रि 10.29 से। 07 अगस्त को दोपहर 11.08 तक।

10 अगस्त को दोपहर 12.42 से रात्रि 12.33 तक।

13 अगस्त को रात्रि 09.32 से। 14 अगस्त को प्रात: 08.42 तक।

16 अगस्त को देर रात्रि 02.01 से। 17 अगस्त को दोपहर 12.44 तक।

19 अगस्त को देर रात्रि 04.38 से। 20 अगस्त को दोपहर 03.22 तक।

25 अगस्त को प्रात: 08.25 से रात्रि 08.32 तक।

28 अगस्त को रात्रि 12.37 से। 29 अगस्त को दोपहर 01.43 तक।

पंचक

08 अगस्त को सायं 04.16 से। 13 अगस्त को प्रात: 05.50 तक।

मूल-संज्ञक नक्षत्र

ज्येष्ठा मूल 02 को दोपहर 03.16 से 04 अगस्त को रात्रि 09.02 तक

रेवती अश्विनी 12 को प्रात: 06.14से 13 को देर रात्रि 05.04 तक

आश्लेषा मघा 20 को सायं 05.22 से 22 को दोपहर 02.43 तक

ज्येष्ठा मूल 29 को रात्रि 10.57 से 31 अगस्त को देर रात्रि 04.47 तक

चन्द्रमा का राशि प्रवेश

01 को सायं 05.39 बजे वृश्चिक में

03 अगस्त को सायं 6.13 बजे धनु में

06 को प्रात: 06.10 बजे मकर में

08 को दिन 04.16 बजे कुम्भ में

10 को रात्रि 12.08 बजे मीन में

13 को प्रात: 05.50 बजे मेष में

15 को प्रात: 09.37 बजे वृष में

17 को दिन11.56 बजे मिथुन में

19 को दिन 01.37 बजे कर्क में

21 को दोपहर 03.51 बजे सिंह में

23 को रात्रि 08.00 बजे कन्या में

25 को देर रात्रि 03.09 बजे तुला में

28 को दिन 01.31 बजे वृश्चिक में

30 को देर रात्रि 01.53 बजे धनु में

पढ़ें व्रत त्योहार, शुभ मुहूर्त, ग्रेह चाल, राशिफल, रोज़ का पंचांग अपने मोबाइल पर. डाउनलोड Daily Horoscope And Panchang एप

दिन की कौन सी घड़ी है शुभ, जानने के लिए अपने मोबाइल के मेसेज बॉक्स में जाकर टाइप करें ishubh और भेज दीजिए 57272 पर।

सितंबर सन् 2017

कार्य-सिद्धि योग

03 सितम्बर को प्रात: 05/42 से प्रात: 09/37 तक

04 सितम्बर को प्रात: 05/42 को दोपहर 11/18 तक

08 सितम्बर को दोपहर 12/31 से देर रात्रि 05/44 तक

10 सितम्बर को प्रात: 05/45 से दोपहर 10/37 तक

12 सितम्बर को प्रात: 05/46 से प्रात: 07/56 तक

13 सितम्बर को प्रात: 05/46 से देर रात्रि 05/00 तक

14 सितम्बर को देर रात्रि 03/36 से देर रात्रि 05/46 तक

15 सितम्बर को प्रात: 05/47 से देर रात्रि 02/16 तक

20 सितम्बर को रात्रि 11/03 से देर रात्रि 05/49 तक

23 सितम्बर को प्रात: 05/50 से देर रात्रि 02/15 तक

25 सितम्बर को समस्त

30 सितम्बर को सायं 06/16 से देर रात्रि 05/53 तक

अमृत सिद्धि योग

08 सितम्बर को दोपहर 12/31 से देर रात्रि 05/44 तक

सर्वदोषनाशक रवि योग

04 सितम्बर को दोपहर 11.18 से। 05 सितम्बर को दोपहर 12.24 तक।

11 सितम्बर को प्रात: 09.20 से। 12 सितम्बर को प्रात: 07.56 तक।

22 सितम्बर को देर रात्रि 12.38 से। 23 सितम्बर को देर रात्रि 02.15 तक।

24 सितम्बर को देर रात्रि 04.26 से। 26 सितम्बर को प्रात: 07.03 तक।

27 सितम्बर को प्रात: 05.56 से प्रात: 09.57 तक।

29 सितम्बर को दोपहर 03.48 से। 30 सितम्बर को सायं 06.16 तक।

त्रिपुष्कर (तीन गुना फल) योग

त्रिपुष्कर (तीन गुना फल) योग 02 सितम्बर को प्रात: 09/38 से देर रात्रि 05/42 तक

03 सितम्बर को प्रात: 05/42 से प्रात: 09/37 तक

12 सितम्बर को प्रात:05/46 से प्रात: 07/56 तक

अशुभ ज्वालामुखी योग

10 सितम्बर को प्रात: 10.37 से देर रात्रि 05.24 तक

विघ्नकारक भद्र्रा

01 सितम्बर को रात्रि 08.38 से।02 सितम्बर को प्रात: 09.38 तक।

05 सितम्बर को दोपहर 12.41 से रात्रि 12.37 तक।

08 सितम्बर को रात्रि 09.59 से। 09 सितम्बर को प्रात: 09.13 तक।

11 सितम्बर को देर रात्रि 03.15 से। 12 सितम्बर को दोपहर 2.09 तक।

15 सितम्बर को प्रात: 07.33 से सायं 06.30 तक।

18 सितम्बर को दोपहर 01.08 से रात्रि 12.31 तक।

23 सितम्बर को रात्रि 12.02 से। 24 सितम्बर को दोपहर 12.40 तक।

27 सितम्बर को सायं 07.09 से। 28 सितम्बर को प्रात: 08 मि. 24 तक

पंचक

04 सितम्बर को रात्रि 11.55 से।9 सितम्बर को दोपहर 11.43 तक।

मूल-संज्ञक नक्षत्र

रेवती अश्विनी 08 सितम्बर को दोपहर 12.31 से 10 सितम्बर को प्रात: 10.37 तक

आश्लेषा मघा 16 सितम्बर को देर रात्रि 01.05 से 18 सितम्बर को रात्रि 11.23 तक

ज्येष्ठा मूल 26 सितम्बर को प्रात: 07.03 से 28 सितम्बर को दोपहर 12.57 तक

चन्द्रमा का राशि प्रवेश

02 सितम्बर को दिन 02.00 बजे मकर में

04 को रात्रि 11.55 बजे कुम्भ में

07 को प्रात: 07.00 बजे मीन में

09 को दोपहर 11.43 बजे मेष में

11 को दिन 03.00 बजे वृष में

13 को सायं 05.44 बजे मिथुन में

15 को रात्रि 08.35 बजे कर्क में

17 को रात्रि 12.07 बजे सिंह में

19 सितम्बर को देर रात्रि 04.59 बजे कन्या में

22 सितम्बर को दिन 12.02 बजे तुला में

24 सितम्बर को रात्रि 09.50 बजे वृश्चिक में

27 को प्रात: 09.57 बजे धनु में

29 सितम्बर को रात्रि 10.27 बजे मकर में

पढ़ें व्रत त्योहार, शुभ मुहूर्त, ग्रेह चाल, राशिफल, रोज़ का पंचांग अपने मोबाइल पर. डाउनलोड Daily Horoscope And Panchang एप

दिन की कौन सी घड़ी है शुभ, जानने के लिए अपने मोबाइल के मेसेज बॉक्स में जाकर टाइप करें ishubh और भेज दीजिए 57272 पर।

अक्टूबर सन् 2017

कार्य-सिद्धि योग

05 अक्टूबर को रात्रि 08/50 से देररात्रि 05/55 तक

06 अक्टूबर को समस्त09 अक्टूबर को दोपहर 02/02 से देर रात्रि 05/56 तक

11 अक्टूबर को प्रात: 05/57 से प्रात: 10/26 तक

12 अक्टूबर को प्रात: 08/57 से देर रात्रि 05/58 तक

13 अक्टूबर को प्रात: 05/58 से प्रात: 07/46 तक

18 अक्टूबर को प्रात: 06/38 से देर रात्रि 06/01 तक

19 अक्टूबर को प्रात: 06/01 प्रात: 07/26 तक

21 अक्टूबर को प्रात: 06/02 से प्रात: 10/17 तक

23 अक्टूबर को प्रात: 06/03 से दोपहर 02/53 तक

27 अक्टूबर को देर रात्रि 02/42 से देर रात्रि 06/06 तक

28 अक्टूबर को प्रात: 06/06 से देर रात्रि 05/03 तक

अमृत सिद्धि योग

06 अक्टूबर को प्रात: 05/55 से देर रात्रि 05/31 तक

सर्वदोषनाशक रवि योग

03 अक्टूबर को रात्रि 09.52 से । 04 अक्टूबर को रात्रि 09.39 तक।

11 अक्टूबर को प्रात: 10.26 से। 12 अक्टूबर को प्रात: 08.57 तक।

22 अक्टूबर को दोपहर 12.23 से। 23 अक्टूबर को 02.53 तक।

23 अक्टूबर को देर रात्रि 05.29 से। 24 अक्टूबर को सायं 05.45 तक।

25 अक्टूबर को रात्रि 08.48 से। 26 अक्टूबर को रात्रि 11.52 तक।

28 अक्टूबर को देर रात्रि 05.03 से। 30 अक्टूबर को प्रात: 06.44 तक।

द्विपुष्कर (दो गुना फल) योग

01 अक्टूबर को देर रात्रि 02/44 से देर रात्रि 05/53 तक

त्रिपुष्कर (तीन गुना फल) योग

21 अक्टूबर को प्रात: 10/17 से देर रात्रि 03/01 तक

31 अक्टूबर को सायं 06/56 से देर रात्रि 06/08

अशुभ ज्वालामुखी योग

14 अक्टूबर को प्रात: 06.54 से देर रात्रि 02.04 तक

विघ्नकारक भद्रा

01 अक्टूबर को दोपहर 02.15 से देर रात्रि 02.44 तक।

04 अक्टूबर को देर रात्रि 01.48 से। 05 अक्टूबर को दोपहर 01.03 तक।

08 अक्टूबर को प्रात: 06.19 से सायं 04.58 तक।

11 अक्टूबर को प्रात: 09.10 से रात्रि 08.03 तक।

14 अक्टूबर को दोपहर 02.41 से देर रात्रि 02.04 तक।

17 अक्टूबर को रात्रि 12.09 से। 18 अक्टूबर को दोपहर 12.08 तक।

23 अक्टूबर को सायं 05.56 से। 24 अक्टूबर को प्रात: 07.07 तक।

27 अक्टूबर को दोपहर 02.45 से देर रात्रि 03.48 तक।

31 अक्टूबर को प्रात: 07.07 से सायं 06.56 तक।

पंचक

27 को प्रात: 06.36 बजे मकर में

29 को सायं 05.59 बजे धनु में

31 अक्टूबर को देर रात्रि 01.45 बजे

मीन में

पढ़ें व्रत त्योहार, शुभ मुहूर्त, ग्रेह चाल, राशिफल, रोज़ का पंचांग अपने मोबाइल पर. डाउनलोड Daily Horoscope And Panchang एप

दिन की कौन सी घड़ी है शुभ, जानने के लिए अपने मोबाइल के मेसेज बॉक्स में जाकर टाइप करें ishubh और भेज दीजिए 57272 पर।

नवंबर सन् 2017

कार्य-सिद्धि योग

02 नवम्बर को प्रात: 06.56 से देर रात्रि 06/09 तक

03 नवम्बर को प्रात: 06/10 से देर रात्रि 03/29 तक

06 नवम्बर को समस्त

09 नवम्बर को समस्त

15 नवम्बर को प्रात: 06/18 से दोपहर 01/46 तक

24 नवम्बर को प्रात: 10/03 से देर रात्रि 06/25 तक

25 नवम्बर को प्रात: 06/25 से दोपहर 12/49 तक

28 नवम्बर को सायं 05/21 से देर रात्रि 06/28 तक

30 नवम्बर को समस्त

अमृत सिद्धि योग

06 नवम्बर को रात्रि 07/56 से देर रात्रि 06/12 तक

09 नवम्बर को दोपहर 01/39 से देर रात्रि 06/14 तक

सर्वदोषनाशक रवि योग

02 नवम्बर को प्रात: 06.56 से देर रात्रि 05.29 तक।

09 नवम्बर को दोपहर 01.39 से। 10 नवम्बर को दोपहर 12.25 तक।

21 नवम्बर को देर रात्रि 03.51 से। 23 नवम्बर को प्रात: 06.59 तक।

24 नवम्बर को प्रात:10.03 से। 25 नवम्बर को दोपहर 12.49 तक।

27 नवम्बर को सायं 04.37 से। 28 नवम्बर को सायं 05.21 तक।

द्विपुष्कर (दो गुना फल) योग

25 नवम्बर को दोपहर 12/49 से देर रात्रि 06/25 तक

26 नवम्बर को प्रात: 06/26 से प्रात: 09/51 तक

्रिपुष्कर (तीन गुना फल) योग

05 नवम्बर को प्रात: 07/40 से रात्रि 10/31 तक

गुरू पुष्यामृत योग

09 नवम्बर को दोपहर 01.39 से सूर्योदय पर्यन्त

विघ्नकारक भद्रा

03 नवम्बर को दोपहर 01.47 से रात्रि 12.05 तक।

06 नवम्बर को दोपहर 02.38 से देर रात्रि 12.59 तक।

09 नवम्बर को सायं 04.42 से देर रात्रि 03.46 तक।

12 नवम्बर को रात्रि 12.35 से। 13 नवम्बर को दोपहर 12.26 तक।

16 नवम्बर को दोपहर 02.09 से देर रात्रि 02.50 तक।

22 नवम्बर को दोपहर 01.33 से देर रात्रि 02.55 तक।

26 नवम्बर को प्रात: 09.51 से रात्रि 10.27 तक।

29 नवम्बर को रात्रि 10.10 से। 30 नवम्बर को प्रात: 09.26 तक।

पंचक

02 नवम्बर को देर रात्रि 05.29 तक।

25 नवम्बर को देर रात्रि 02.01 से। 30 नवम्बर को सायं 04.13 तक।

मूल-संज्ञक नक्षत्र

रेवती अश्विनी 02 नवम्बर को प्रात: 06.56 से 03 नवम्बर को देर रात्रि 03.29 तक

आश्लेषा मघा 10 नवम्बर को दिन 12.25 से 12 नवम्बर को दिन 11.32 तक

ज्येष्ठा मूल 19 नवम्बर को रात्रि 09.57 से 21 नवम्बर को देर रात्रि 03.51 तक

रेवती अश्विनी 29 नवम्बर को सायं 05.12 से 01 दिसम्बर को दिन 02.28 तक

चन्द्रमा का राशि प्रवेश

02 नवम्बर को देर रात्रि 05.29 बजे मेष में

05 नवम्बर को प्रात: 06.28 बजे वृष में

07 नव. को प्रात: 06.41 बजे मिथुन में

09 नव. को प्रात: 08.02 बजे कर्क में

11 नव. को दिन 11.43 बजे सिंह में

13 नव. को सायं 6.00 बजे कन्या में

15 नवम्बर को देर रात्रि 02.29 बजे तुला में

18 नवम्बर को दिन 12.49 बजे वृश्चिक में

20 नव. को रात्रि 12.47 बजे धनु में

23 नव. को दिन 01.46 बजे मकर में

25 नव. को देर रात्रि 02.01 बजे कुम्भ में

28 नव. को दिन 11.15 बजे मीन में

30 नव. को दिन 04.13 बजे मेष में

पढ़ें व्रत त्योहार, शुभ मुहूर्त, ग्रेह चाल, राशिफल, रोज़ का पंचांग अपने मोबाइल पर. डाउनलोड Daily Horoscope And Panchang एप

दिन की कौन सी घड़ी है शुभ, जानने के लिए अपने मोबाइल के मेसेज बॉक्स में जाकर टाइप करें ishubh और भेज दीजिए 57272 पर।

दिसंबर सन् 2017

कार्य-सिद्धि योग

01 दिसम्बर को प्रात: 06/30 से दोपहर 02/28 तक

04 दिसम्बर को प्रात: 06/32 से देर रात्रि 03/20 तक

07 दिसम्बर को प्रात: 06/34 से सायं 07/54 तक

10 दिसम्बर को सायं 05/35 से देर रात्रि 06/36 तक

15 दिसम्बर को देर रात्रि 01/30 से देर रात्रि 06/39 तक

22 दिसम्बर को प्रात: 06/43 से सायं 07/11 तक

26 दिसम्बर को प्रात: 06/45 से देर रात्रि 01/47 तक

28 दिसम्बर को प्रात: 06.45 से देर रात्रि 12/38 तक

30 दिसम्बर को रात्रि 08/38 से देर रात्रि 06/46 तक

अमृत सिद्धि योग

04 दिसम्बर को प्रात: 06/32 से देर रात्रि 03/20 तक

07 दिसम्बर को प्रात: 06/34 से रात्रि 07/54 तक

30 दिसम्बर को रात्रि 08/38 से देर रात्रि 06/46 तक

सर्वदोषनाशक रवि योग

01 दिसम्बर को दोपहर 02.28 से 02 दिसम्बर को दोपहर 10.59 तक।

02 दिसम्बर को दोपहर 12.07 से। 03 दिसम्बर को प्रात: 09.21 तक।

08 दिसम्बर को सायं 06.28 से। 09 दिसम्बर को सायं 05.41 तक।

21 दिसम्बर को सायं 04.18 से। 22 दिसम्बर को सायं 07.11 तक।

23 दिसम्बर को रात्रि 09.43 से। 24 दिसम्बर को रात्रि 11.46 तक।

26 दिसम्बर को देर रात्रि 01.47 से। 27 दिसम्बर को देर रात्रि 01.37 तक।

31 दिसम्बर को सायं 05.54 से।

त्रिपुष्कर (तीन गुना फल) योग

24 दिसम्बर को देर रात्रि 01/55 से देर रात्रि 06/44 तक

30 दिसम्बर को प्रात: 06/46 से सायं 06/56 तक

रवि पुष्यामृत योग

07 दिसम्बर को प्रात: 06.34 से रात्रि 07.54 तक

अशुभ ज्वालामुखी योग

18 दिसम्बर को दिन 12.00 से 19 दिसम्बर को दिन 10.09 तक

विघ्नकारक भद्रा

02 दिसम्बर को देर रात्रि 12.58 से। 03 दिसम्बर को दोपहर 11.09 तक।

05 दिसम्बर को रात्रि 12.03 से। 06 दिसम्बर को प्रात: 10.19 तक।

08 दिसम्बर को देर रात्रि 02.52 से। 09 दिसम्बर को दोपहर 02.12 तक।

12 दिसम्बर को दोपहर 01.41 से देर रात्रि 02.09 तक।

16 दिसम्बर को प्रात: 07.11 से रात्रि 08.21 तक।

22 दिसम्बर को प्रात: 09.11 से रात्रि 10.23 तक।

25 दिसम्बर को देर रात्रि 02.44 से। 26 दिसम्बर को दोपहर 02.50 तक।

29 दिसम्बर को दोपहर 11.11 से रात्रि 09.55 तक।

पंचक

23 दिसम्बर को प्रात: 08.30 से। 27 दिसम्बर को देर रात्रि 01.37 तक।

मूल-संज्ञक नक्षत्र

अश्विनी 01 दिसम्बर को सूर्योदय से दिन 02.28 तक

आश्लेषा मघा 07 दिसम्बर को रात्रि 07.54 से 09 दिसम्बर को सायं 05.41 तक

ज्येष्ठा मूल 16 दिसम्बर को देर रात्रि 04.13 से 19 दिसम्बर को प्रात: 10.09 तक

रेवती अश्विनी 26 दिसम्बर को देर रात्रि 01.47 से 28 दिसम्बर को रात्रि 12.38 तक

चन्द्रमा का राशि प्रवेश

02 दिसम्बर को सायं 5.28 बजे वृष में

04 दिसम्बर को सायं 4.50 बजे मिथुन में

06 दिस. को सायं 4.32 बजे कर्क में

08 दिस. को सायं 6.28 बजे सिंह में

10 दिसम्बर को रात्रि 11.40 बजे कन्या में

13 दिस. को प्रात: 8.05 बजे तुला में

15 दिसम्बर को सायं 06.52 बजे वृश्चिक में

18 दिस. को प्रात: 07.07 बजे धनु में

20 दिसम्बर को रात्रि 08.01 बजे मकर में

23 दिसम्बर को प्रात: 08.30 बजे कुम्भ में

25 दिस. को सायं 06.52 बजे मीन में

27 को देर रात्रि 01.37 बजे मेष में

29 दिसम्बर को देर रात्रि 04.25 बजे कन्या में

31 दिसम्बर को देर रात्रि 04.25 बजे कन्या में

गुरू उदय-अस्त 11 अक्टूबर गुरू अस्त पश्चिम में रात्रि 09.37 पर।

06 नवम्बर गुरू उदय पूर्व में प्रात: 09.05 पर।

पढ़ें व्रत त्योहार, शुभ मुहूर्त, ग्रेह चाल, राशिफल, रोज़ का पंचांग अपने मोबाइल पर. डाउनलोड Daily Horoscope And Panchang एप

दिन की कौन सी घड़ी है शुभ, जानने के लिए अपने मोबाइल के मेसेज बॉक्स में जाकर टाइप करें ishubh और भेज दीजिए 57272 पर।

यह भी देखें