Dainik Jagran Hindi News

www.jagran.com
May 07,2015

पंचांग

व्रत एवं पर्व

जनवरी सन् 2015

विक्रम संवत् 2071

पौष शुक्ल एकादशी से माघ शुक्ल द्वादशी तक

शालिवाहन शक 1936

राष्ट्रीय पौष 11 से राष्ट्रीय माघ 11 तक

हिजरी सन् 1436

रवि उल अव्वल 09 से रवि उस्सानी 10 तक

1 जनवरी
पुत्रदा एकादशी व्रत सबका। श्री हरि जयन्ती। मन्वादि। ईसवीय नव वर्ष दिवस। ईसवीय सन् 2015 प्रारम्भ। बुध मकर राशि में 11.46 बजे।
2 जनवरी
प्रदोष व्रत।
4 जनवरी
व्रत की पौषी पूर्णिमा। पुष्याभिषेक यात्रा। शाकम्भरी। शाकम्भरी जयन्ती। शाकम्भरी देवी नवरात्र समाप्त। शाकम्भरी यात्रा समाप्त। भारतीय गणतन्त्र दिवस। श्री अष्टभुजी दुर्गा शक्तिपीठ (दुर्गा मन्दिर) किदवई नगर कानपुर में महामाया श्री विद्या राज राजेश्वरी त्रिपुर सुन्दरी एवं श्रीयंत्र का अभिषेक व अर्चन। ईद-ए-मिलाद (बारावफात)। मंगल कुम्भ राशि में 26.01 बजे।
5 जनवरी
स्नान-दानादि की पौषी पूर्णिमा। पौष-मासीय व्रत-यम-नियमादि समाप्त।
6 जनवरी
माघ कृष्ण पक्षारम्भ। माघ-मासीय व्रत-यम-नियमादि प्रारम्भ। माघ मास भर प्रयाग में त्रिवेणी या काशी के दशाश्वमेध घाट पर स्नान करना चाहिए। तिलपात्र दान। शुक्र श्रवण नक्षत्र में 26.19 बजे। एपीफेनी।
7 जनवरी
बुध श्रवण नक्षत्र में 23.24 बजे।
8 जनवरी
संकष्टी श्री गणेश चतुर्थी व्रत। चन्द्रोदय 20.16 बजे। सौभाग्य सुन्दरी व्रत। गौरी चतुर्थी व्रत। श्री गणेश जी की उत्पत्ति। तिलकुटी व्रत। संकट हर गणपति व्रत। ब्रह्मावर्त (बिठूर) में सिद्ध गणेश मंदिर में अभिषेक।
9 जनवरी
ईद-ए-मौलाद।
11 जनवरी
सूर्य उत्तराषाढ़ा नक्षत्र में 12.58 बजे।
12 जनवरी
श्री स्वामी विवेकानन्द जयन्ती। श्री रामानन्दाचार्य जयन्ती।
13 जनवरी
कालाष्टमी। अष्टका श्राद्ध, पार्वण की तरह विधि। अन्वष्टका। मंगल शतभिषा नक्षत्र में 14.25 बजे।
14 जनवरी
सूर्य की मकर संक्रान्ति 19.30 बजे। चन्द्र-दर्शन मु.15 महर्घ। संक्रान्ति का सामान्य पुण्यकाल 13.06 बजे से सूर्यास्त तक। (खिचड़ी पर्व)। काष्ठ-अन्न-तिल दान। काशी के दशाश्वमेध घाट व प्रयाग में स्नान। गंगासागर यात्रा। तिल संक्रान्ति (खिचड़ी)। पोंगल। निरयण सूर्य उत्तरायण और संकल्पादि में प्रयोजनीय शिशिर ऋतु प्रारम्भ। धनु (खर) मास समाप्त।
15 जनवरी
सौर (मकर) माघ मासारम्भ।
16 जनवरी
षटतिला एकादशीव्रत सबका। संक्रान्ति करिदिन।
17 जनवरी
तिल द्वादशी। शुक्र धनिष्ठा नक्षत्र में 18.12 बजे।
18 जनवरी
प्रदोष व्रत। मेरू त्रयोदशी व्रत (जैन)। आदिनाथ निर्वाण दिवस (जैन)।
19 जनवरी
मास शिवरात्रि व्रत। रटन्ती कालिका पूजन।
20 जनवरी
स्नान-दान-श्राद्धादि की भौमवती अमावस्या। मौनी अमावस्या। प्रयाग या काशी के दशाश्वमेध घाट पर स्नान। महोदय पर्व। अन्वाधान। त्रिवेणी अमावस्या (उड़ीसा)। द्वापर युगादि। सूर्य सायन कुम्भ राशि में 15.02 बजे।
21 जनवरी
माघ मास शुक्ल पक्षारम्भ। चन्द्र दर्शन मु.30 साम्यर्घ। श्री बल्लभावतार। बल्लभ जयन्ती। माघ के सम्पूर्ण स्नान में असमर्थ व्यक्तियों को आज से तीन दिन तक गंगा में स्नान करना चाहिये। राष्ट्रीय माघ मासारम्भ। सूर्य की अभिजित प्रवृत्ति 07.58 बजे। हिजरी रवि-उस्सानी 4 माह शुरू। बुध वक्री 10.26 बजे। शुक्र कुम्भ राशि में 26.21 बजे।
23 जनवरी
वैनायकी श्री गणेश चतुर्थी व्रत। वरद । तिल । कुन्द । कुन्द पुष्प से देव पूजा। सोपपदा। वेदारम्भ में अनध्याय। ब्रह्मावर्त (बिठूर) में सिद्ध गणेश मंदिर में अभिषेक। नेता जी सुभाष चन्द्र बोस जयन्ती। 4 तिथि क्षय।
24 जनवरी
बसंत पंचमी। श्री पंचमी । वागीश्वरी जयन्ती। सरस्वती पूजा। तक्षक पूजा। रतिकाम महोत्सव। सूर्य श्रवण में 15.12 बजे।
25 जनवरी
श्री शीतलाषष्ठी (बंगाल)। सूर्य की अभिजित निवृत्ति घं.11 मि.34 पर। बुध अस्त पश्चिम में 19.10 बजे।
26 जनवरी
अचला सप्तमी व्रत। भानु सप्तमी पर्व। रथ । पुत्र । मन्वादि । विधान । आरोग्य । अरूणोदय में गंगा स्नान। श्री माधवाचार्य जयन्ती। चन्द्रभागा (उड़ीसा)। नर्मदा जयन्ती। भारतीय गणतन्त्र दिवस। मर्यादा महोत्सव (जैन)।
27 जनवरी
श्री दुर्गाष्टमी व्रत। भीष्माष्टमी । भीष्मोद्देश्य से तर्पण।
28 जनवरी
महानन्दा नवमी । श्री हरसू ब्रह्मदेव पुण्य तिथि (चैनपुर) रोहतास (कैमूर-बिहार)। लाला लाजपत राय जयन्ती। शुक्र शतभिषा नक्षत्र में 10.42 बजे।
30 जनवरी
जया एकादशी व्रत सबका। भैमी बंगाल। भक्त पुण्डरीक उत्सव (पंढरपुर)। मंगल पू.भा. नक्षत्र में 16.02 बजे। महात्मा गाँधी (बापू निर्वाण दिवस)। सर्वोदय पखवारा शुरू।
31 जनवरी
भीष्म द्वादशी । भीष्मोद्देश्य से तर्पण। भीष्म। तिल द्वादशी । तिलोत्पत्ति। सोपपदा । वेदारम्भ में अनध्याय।

दिन की कौन सी घड़ी है शुभ, जानने के लिए अपने मोबाइल के मेसेज बॉक्स में जाकर टाइप करें ishubh और भेज दीजिए 57272 पर।

फरवरी सन् 2015

विक्रम संवत् 2071

माघ शुक्ल त्रयोदशी से फाल्गुन शुक्ल दशमी तक

शालिवाहन शक 1936

राष्ट्रीय माघ 12 से राष्ट्रीय फाल्गुन 09 तक

हिजरी सन् 1436

रवि उस्सानी 11 से जमादि उलअव्वल 08 तक

1 फरवरी
प्रदोष व्रत। कल्पादि । मरूस्थल मेला 3 दिन (जैसलमेर) राजस्थान। गुरू हरराय जयन्ती। फातिहा यजदहूम।
3 फरवरी
स्नान-दान-व्रतादि की माघी पूर्णिमा। भक्त रविदास जयन्ती। भैरवी जयन्ती। तिल दान। तिल पात्र दान। माघी मासम् (दक्षिण भारत)। भैरव जयन्ती। अन्वाधान। श्री अष्टभुजी दुर्गा शक्तिपीठ (दुर्गा मन्दिर) किदवई नगर कानपुर में महामाया श्री विद्या राज राजेश्वरी त्रिपुर सुन्दरी एवं श्रीयंत्र का अभिषेक व अर्चन। माघ मासीय स्नान-दान-व्रत-यम नियमादि समाप्त।
4 फरवरी
फाल्गुन मास कृष्ण पक्षारम्भ। माघ मासीय व्रत का पारण। फाल्गुन-मासीय व्रत-यम-नियमादि प्रारम्भ। बुध उदय पूर्व में 30.27 बजे।
5 फरवरी
बुध (वक्री) उत्तराषाढ़ा नक्षत्र में 09.24 बजे।
6 फरवरी
सूर्य धनिष्ठा नक्षत्र में 18.24 बजे।
7 फरवरी
संकष्टी श्री गणेश चतुर्थी व्रत। चन्द्रोदय 20.41 बजे। ब्रह्मावर्त (बिठूर) में सिद्ध गणेश मंदिर में अभिषेक। शुक्र पूर्वाभाद्रपद नक्षत्र में 28.14 बजे।
8 फरवरी
श्री राजेन्द्र प्रसाद निर्वाण दिवस।
9 फरवरी
श्री सीताराम दास आेंकारनाथ महाराज का जन्मोत्सव (बंगाल)। आेंकार पंचमी । सोमवती पंचमी पर्व।
11 फरवरी
कालाष्टमी ।
12 फरवरी
गुरू- श्री सीताष्टमी । जानकी जयन्ती। अष्टका श्राद्ध। अन्य अष्टका में असमर्थ व्यक्तियों को करना चाहिये। अन्वष्टका। दीन-बन्धु एण्ड्रयूज जयन्ती। बापू श्राद्ध दिवस। भू-दान सम्पत्ति दान। सूतांजलि अर्पण। सर्वोदय मेला और पक्ष समाप्त। मंगल मीन राशि में 13.14 बजे। बुध मार्गी 09.48 बजे।
13 फरवरी
समर्थ गुरू श्री रामदास जयन्ती। श्री रामदास नवमी। सूर्य की कुम्भ संक्रान्ति 08.29 बजे। चन्द्र दर्शन मु.30 साम्यर्घ। संक्रान्ति का विशेष पुण्यकाल सूर्योदय से संक्रान्ति काल तक,तत्पश्चात् सामान्य पुण्यकाल संक्रान्ति काल से घं.14 मि.53। गो, अन्न-दान, गोदावरी में स्नान।
14 फरवरी
सौर (कुम्भ) फाल्गुन मासारम्भ।
15 फरवरी
विजया एकादशी व्रत सबका। शुक्र मीन राशि में 30.13 बजे।
16 फरवरी
गोविन्द द्वादशी व्रत। सोम प्रदोष व्रत। मंगल उ.भा. नक्षत्र में 20.49 बजे।
17 फरवरी
महाशिवरात्रि व्रत। (महानिशीथ काल 23.48 बजे से 24.39 बजे तक ) चतुर्दश ज्योतिर्लिंग पूजा। वैद्यनाथ जयन्ती। ऋषि बोधोत्सव। आर्य समाज सप्ताह प्रारम्भ। कृतिवासेश्वर दर्शन पूजन।
18 फरवरी
स्नान-दान - श्राद्धादि की अमावस्या। अन्वाधान। सूर्य सायन मीन राशि में 29.04 बजे। 30 तिथि क्षय। बुध श्रवण नक्षत्र में 28.36 बजे। शुक्र उ.भा. नक्षत्र में 23.03 बजे।
19 फरवरी
फाल्गुन मास शुक्ल पक्षारम्भ। सूर्य शतभिषा नक्षत्र में 22.53 बजे।
20 फरवरी
परमहंस स्वामी रामकृष्ण जयन्ती। फुलरिया दूज। चन्द्र दर्शन मु.30 साम्यर्घ। राष्ट्रीय फाल्गुन मासारम्भ।
21 फरवरी
पं. लेखराम वीर तृतीया जयन्ती। हिजरी जमादि-उल-अव्वल 5 माह शुरू।
22 फरवरी
वैनायकी श्री गणेश चतुर्थी व्रत। ब्रह्मावर्त (बिठूर) में सिद्ध गणेश मंदिर में अभिषेक।
23 फरवरी
ब्रह्मर्षि याज्ञवल्क्य जयन्ती। सोमवती पंचमी पर्व।
24 फरवरी
गो रूपिणी षष्ठी (बंगाल)। आचार्य सुन्दर साहिब पुण्य तिथि (सच्चिदानन्द सम्प्रदाय)। आर्य समाज सप्ताह समाप्त।
26 फरवरी
श्री दुर्गाष्टमी व्रत। श्री अन्नपूर्णाष्टमी व्रत। होलाष्टकारम्भ।
27 फरवरी
श्री दुर्गाष्टमी व्रत का पारण।
28 फरवरी
फागु दशमी (उड़ीसा)। श्री हरि जयन्ती।
आवश्यक सूचना यद्यपि इस पंचांग में सभी पंचंगीय विवरण एवं प्रत्येक लेख आदि लिखते समय अत्यन्त सावधानीपूर्वक ज्योतिषशास्त्र व धर्मशास्त्र को आधार मानकर लिखा गया है, फिर भी यदि गणना, व्रत-पर्व निर्णय, सामग्री के संकलन, फ्रूफ रीडिंग, सम्पादन, मुद्रण, प्रकाशन आदि में कोई त्रुटि रह गई हो, तो आशा है हमारे सुधी पाठकगण त्रुटि के लिए क्षमा करेंगे और उनकी सूचना देंगे ताकि आगे उसमें सुधार किया जा सके। इसके अलावा विभिन्न प्रान्तों के पंडितगणों एवं सरकारों द्वारा स्थानीय स्तर पर भी परिवर्तन किए जाते हैं, आवश्यकतानुसार भी परिवर्तन होते हैं, इस हेतु पाठकगण स्थानीय स्तर पर जानकारी प्राप्त करें। किसी भी त्रुटि के लिये सम्पादक-लेखक प्रकाशक कतई जिम्मेदार न होंगे। किसी भी विवाद का निपटारा लेखन, सम्पादक

दिन की कौन सी घड़ी है शुभ, जानने के लिए अपने मोबाइल के मेसेज बॉक्स में जाकर टाइप करें ishubh और भेज दीजिए 57272 पर।

मार्च सन् 2015

विक्रम संवत् 2071-72

फाल्गुन शुक्ल एकादशी से चैत्र शुक्ल एकादशी तक

शालिवाहन शक 1936-37

राष्ट्रीय फाल्गुन 10 से राष्ट्रीय चैत्र 10 तक

हिजरी सन् 1436

जमादि उलअव्वल 09 से जमादि उस्सानी 10 तक

1 मार्च
आमलकी एकादशी व्रत सबका। रंगभरी एकादशी। श्री काशी विश्वनाथ श्रृंगार दिवस। बिड़कुला ढाल थापड़ा (भद्रा के पश्चात)। शुक्र रेवती नक्षत्र में 19.30 बजे।
2 मार्च
गोविन्द द्वादशी। सोम प्रदोष व्रत। श्याम बाबा खाटू वाले का मेला (राज.)।
3 मार्च
बुध धनिष्ठा नक्षत्र में 30.18 बजे।
4 मार्च
सूर्य पूर्वाभाद्रपद नक्षत्र में 29.11 बजे।
5 मार्च
स्नान दान-व्रतादि की पूर्वाफाल्गुनी नक्षत्रयुता फाल्गुनी पूर्णिमा,परम पुण्यकाल 08.30 बजे से सूर्यास्त तक। होलिका दहन (भद्रा के पश्चात)। जेलपोणी (भद्रा के पश्चात)। मन्वादि। महाप्रभु चैतन्य जयन्ती। डोल यात्रा। हुताशनी पूर्णिमा। माघी मासम् (दक्षिण भारत)। करि दिन। श्री अष्टभुजी दुर्गा शक्तिपीठ (दुर्गा मन्दिर) किदवई नगर कानपुर में महामाया श्री विद्या राज राजेश्वरी त्रिपुर सुन्दरी एवं श्रीयंत्र का अभिषेक व अर्चन। फाल्गुन-मासीय व्रत-यम-नियमादि समाप्त।
6 मार्च
चैत्र मास कृष्ण पक्षारम्भ। चैत्र-मासीय व्रत-यम-नियमादि प्रारम्भ। काशी में होली। धुरड्डी। छारेंडी। वसन्तोत्सव। होलिका विभूति धारण। धूलि वंदन। श्वपच स्पर्श। साभ्यंग स्नान। आम्र कुसुम प्राशन। बसन्त नव सस्येष्टि। बसन्तोत्सव। करिदिन। बसन्त प्रतिपदा। बसंत स्नान। रतिकाम महोत्सव। होलाष्टक समाप्त। संत तुकाराम जयन्ती। मंगल रेवती नक्षत्र में 06.30 बजे।
7 मार्च
भ्रातृ द्वितीया। भैया दूज। भगिनी गृह में भोजन।
8 मार्च
कल्पादि।
9 मार्च
संकष्टी श्री गणेश चतुर्थी व्रत। चन्द्रोदय 21.08 बजे। छत्रपति शिवा जी जयन्ती (तिथि के अनुसार)। ब्रह्मावर्त (बिठूर) में सिद्ध गणेश मंदिर में अभिषेक। बुध कुम्भ राशि में 06.33 बजे। 3 तिथि वृद्धि।
11 मार्च
रंग पंचमी । श्री जयन्ती। श्री पंचमी । विजय गोविन्द हलंकर दिवस (मणिपुर)। नव चण्डी मेला प्रारम्भ (मेरठ)।
12 मार्च
शीतला षष्ठी । स्कन्द षष्ठी (बंगाल)। श्री एकनाथ षष्ठी। शुक्र अश्विनी नक्षत्र व मेष राशि में 16.20 बजे।
13 मार्च
शीतला सप्तमी व्रत। बुध शतभिषा नक्षत्र में 21.14 बजे।
14 मार्च
श्री शीतलाष्टमी व्रत (आज के दिन बासी भोजन विहित है)। सूर्य की मीन संक्रान्ति 29.20 बजे। चन्द्र दर्शन मु.30 साम्यर्घ। संक्रान्ति का सामान्य पुण्यकाल अगले दिन।
15 मार्च
सूर्य संक्रान्ति का विशेष पुण्यकाल सूर्योदय से 11.44 बजे तक। गौ-अन्न दान, गोदावरी में स्नान। संकल्पादि में प्रयोजनीय बसन्त ऋतु प्रारम्भ। मीन (खर) मासारम्भ।
16 मार्च
पापमोचिनी एकादशी व्रत स्मार्त। 11 तिथि क्षय। सौर (मीन) चैत्र मासारम्भ।
17 मार्च
पापमोचिनी एकादशी व्रत वैष्णव। बुध अस्त पूर्व में 07.02 बजे।
18 मार्च
प्रदोष व्रत। मास शिवरात्रि व्रत। वारूणी योग 17.39 बजे से 22.29 बजे तक। गँगा वरूणा संगम पर स्नान। आदि केशव भगवान का दर्शन पूजन। दमनोत्सव। मधुश्रवा त्रयोदशी। गुरू हरराय गुरूयायी दिवस। सूर्य उत्तराभाद्रपद नक्षत्र में 13.39 बजे।
20 मार्च
स्नान दान श्राद्धादि की चैत्री अमावस्या। मन्वादि। आज के दिन गँगा स्नान से सहस्त्र गायों के दान का फल प्राप्त होता है। सूर्य सायन मेष राशि में 27.56 बजे। बसन्त सम्पात। सायन बसन्त ऋतु प्रारम्भ। सूर्य का उत्तर गोल प्रवेश। देवताओं का मध्यान्ह, दैत्यों की मध्य रात्रि, उत्तराक्रान्ति, महाविषुव दिन। चान्द्र सम्वत्सर 2071 (प्लवंग) विक्रमीय समाप्त। अन्वाधान।
21 मार्च
चैत्र मास शुक्ल पक्षारम्भ। चन्द्र दर्शन मु.30 साम्यर्घ। विक्रम सम्वत् 2072 (कीलक) प्रारम्भ। चैत्र वासन्तिक नवरात्रारम्भ। कलश स्थापन। ध्वजारोहण। वर्षपति पूजा। कल्पादि। आरोग्य व्रत। विद्या व्रत । नवसम्वत्सरोत्सव। गुड़ी पड़वा। श्रृंगार (सिंधारा) देशाचार से। आर्य समाज स्थापना दिवस। सिन्धी सम्प्रदाय का श्री झूलेलाल जयन्ती महोत्सव। गुरू अमरदास गुरयाई दिवस। केतु (वक्री) उत्तराभाद्रपद नक्षत्र में 12.39 बजे।
22 मार्च
मत्स्य जयन्ती। गणगौर। गणगौरी व्रत। सौभाग्य शयन तृतीया । आन्दोलन । सायं दोलारुढ़ शिव गौरी पूजन। सरहुल (बिहार)। मनोरथ तृतीया व्रत। अरून्धती व्रत-पूजन। मन्वादि। राष्ट्रीय चैत्र मासारम्भ। राष्ट्रीय शक सम्वत् 1937 प्रारम्भ। हिजरी जमादि-उस्सानी 6 माह शुरू। 3 तिथि क्षय। बुध पूर्वाभाद्रपद नक्षत्र में 07.14 बजे।
23 मार्च
वैनायकी श्री गणेश चतुर्थी व्रत। ब्रह्मावर्त (बिठूर) में सिद्ध गणेश मंदिर में अभिषेक। मंगल अश्विनी नक्षत्र व मेष राशि में 21.37 बजे। शुक्र भरणी नक्षत्र में 19.25 बजे। गुरू अंगददेव जोति जोत दिवस।
24 मार्च
श्री रामराज्य महोत्सव मध्यान्ह-व्यापिनी पंचमी कर्क लग्न में। श्री पंचमी। कल्पादि। डोलोत्सव। गुरू हरगोविन्द जोति जोत दिवस।
25 मार्च
श्री सूर्य षष्ठी व्रत (सायान्हव्यापिनी षष्ठी में)। स्कन्द षष्ठी व्रत (गया में प्रसिद्ध)। श्री अशोक षष्ठी व्रत (बंगाल)।
26 मार्च
वासन्ती दुर्गा पूजारम्भ। आयंबील (ओली) प्रारम्भ जैन। श्री अन्नपूर्णा परिक्रमा प्रारम्भ 24.56 बजे से।
27 मार्च
महानिशा पूजा। श्री दुर्गाष्टमी। अष्टमी का हवनादि आज ही करें। भवानी उत्पत्ति। अशोक कलिका प्राशन। श्री महाष्टमी 8 व्रत। श्री अशोकाष्टमी। श्री अन्नपूर्णा परिक्रमा समाप्त 25.43 बजे। श्री अष्टभुजी दुर्गा शक्ति पीठ (दुर्गा मंदिर) ‘वाई’ ब्लाक, किदवई नगर कानपुर में शतचण्डी यज्ञ का हवन पूर्णाहुति एवं महाप्रसाद वितरण। शक्ति संगीत सभा। बुध मीन राशि में 25.37 बजे।
28 मार्च
श्री रामनवमी व्रत सबका। श्री दुर्गानवमी । श्री राम-जन्म महोत्सव (मध्यान्ह कर्क लग्न में) रामावतार। अयोध्या परिङ्मीमा, दर्शन पूजन। तारा जयन्ती। श्री स्वामी नारायण जयन्ती। नवमी का हवनादि आज ही करें। चैत्र नवरात्र समाप्त।
29 मार्च
नवरात्र व्रत का पारण। श्री धर्मराज दशमी। रवि दशमी पर्व। बुध उत्तराभाद्रपद नक्षत्र में 21.37 बजे।
31 मार्च
कामदा एकादशी व्रत सबका। श्री विष्णु दोलोत्सव। सायं दोलारुढ़ पूजन। 11 तिथि वृद्धि। सूर्य रेवती नक्षत्र में 24.25 बजे।

दिन की कौन सी घड़ी है शुभ, जानने के लिए अपने मोबाइल के मेसेज बॉक्स में जाकर टाइप करें ishubh और भेज दीजिए 57272 पर।

अप्रैल सन् 2015

विक्रम संवत् 2072

चैत्र शुक्ल द्वादशी से वैशाख शुक्ल द्वादशी तक

शालिवाहन शक 1937

राष्ट्रीय चैत्र 11 से राष्ट्रीय वैशाख 10 तक

हिजरी सन् 1436

जमादि उस्सानी 11 से रज्जब 10 तक

1 अप्रैल
मदन द्वादशी। प्रदोष व्रत। हरि दमनकोत्सव। मीनाक्षी कल्याणम्
2 अप्रैल
श्री महावीर जयन्ती (जैन)। अनंग त्रयोदशी व्रत। शिव नृसिंह दमनकोत्सव (महानिशीथ काल में)। दमनक चतुर्दशी 14।
3 अप्रैल
शुक्र कृत्तिका नक्षत्र में 23.59 बजे।
4 अप्रैल
स्नान-दान-व्रतादि की चैत्री पूर्णिमा। चांडक पूजा (बंगाल)। अन्वाधान। मन्वादि। सर्वदेव दमनकोत्सव। श्री हनुमान जयंती (सूर्योदय काल में दक्षिण भारत एवं काशी के संकट मोचन मन्दिर में)। इष्टि। गुरू तेगबहादुर गुरयायी दिवस। गुरू हरकिशन जोति जोत दिवस। ग्रस्तोदय खग्रास चन्द्रग्रहण। वैशाख मासीय व्रत-यम-नियमादि प्रारम्भ।
5 अप्रैल
वैशाख कृष्ण पक्षारम्भ। तुलसी पत्र से श्री विष्णु पूजा। मास पर्यन्त पनिसरा चलाना चाहिये। (अशक्ति में धर्म घटादि दान)। मास भर चन्दन से श्री विष्णु पूजा। ग्रहण करिदिन। बुध रेवती नक्षत्र में 20.38 बजे।
6 अप्रैल
शुक्र वृष राशि में 19.46 बजे।
8 अप्रैल
संकष्टी श्री गणेश चतुर्थी व्रत। चन्द्रोदय 21.44 बजे। ब्रह्मावर्त (बिठूर) में सिद्ध गणेश मंदिर में अभिषेक। सती अनसुइया जयन्ती।
9 अप्रैल
गुरू तेगबहादुर जयन्ती। गुरू मार्गी 07.28 बजे।
11 अप्रैल
श्री शीतलासप्तमी व्रत। कालाष्टमी। गुरू अर्जुनदेव जयन्ती।
12 अप्रैल
श्री शीतलाष्टमी व्रत। पर्युषितान्न (बासी) भोजन करना विहित है। अष्टका। बुध अश्विनी नक्षत्र व मेष राशि में 08 .12 बजे।
14 अप्रैल
सूर्य अश्विनी नक्षत्र में एवं सूर्य की मेष संक्रान्ति 13.01 बजे। चन्द्रदर्शन मु.30 साम्यर्घ। संक्रान्ति का विशेष पुण्यकाल 09.01 बजे से 17.01 बजे तक। सामान्य पुण्यकाल 06.37 बजे से सूर्यास्त तक। सतुआ जल कुम्भादि दान। हरिद्वार या काशी के असी संगम पर स्नान। वैशाखी पंजाब एवं उड़ीसा। मीन (खर) मास समाप्त। डॉ भीमराव अम्बेडकर जयन्ती।
15 अप्रैल
वरुथिनी एकादशी व्रत सबका। श्री वल्लभाचार्य जयन्ती। सौर (मेष) वैशाख मासारम्भ। शुक्र रोहिणी नक्षत्र में 08.48 बजे।
16 अप्रैल
प्रदोष व्रत।
17 अप्रैल
मास शिवरात्रि व्रत। मंगल अस्त पश्चिम में 14.21 बजे। 14 तिथि क्षय।
18 अप्रैल
स्नान-दान-श्राद्धादि की अमावस्या। बुध भरणी नक्षत्र में 17.32 बजे।
19 अप्रैल
इष्टि। वैशाख मास शुक्ल पक्षारम्भ। देव दामोदर तिथि (आसाम)। गुरू अंगददेव जयन्ती।
20 अप्रैल
चन्द्रदर्शन मु. 30 साम्यर्घ। भगवान परशुराम जयन्ती (प्रदोष काल व्यापिनी तृतीया में)। छत्रपति शिवा जी जयन्ती। सूर्य सायन वृष राशि में 14.54 बजे। बुध उदय पश्चिम में 07.22 बजे।
21 अप्रैल
अक्षय तृतीया (रोहिणी नक्षत्रयुता)। त्रेतायुगादि। वर्षीतप समापन (जैन)। पितृ पितामहादि के निमित्त सक्तु चीनी फल धर्म घटादि दान। त्रिलोचन दर्शन-यात्रा। बद्री केदार यात्रा। मातंगी जयन्ती । कल्पादि । राष्ट्रीय वैशाख मासारम्भ। हिजरी रज्जब 7वां माह शुरु। अजमेर में ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती सज्जरी अलह के मजार पर उर्स का मेला शुरू।
22 अप्रैल
वैनायकी श्री गणेश चतुर्थी व्रत। ब्रह्मावर्त (बिठूर) में सिद्ध गणेश मंदिर में अभिषेक।
23 अप्रैल
श्री आद्य शंकराचार्य जयन्ती। श्री सूरदास जयन्ती। श्री रामानुजाचार्य जयन्ती (दक्षिण भारत)। बाबू कुँवर सिंह जन्म दिवस (बिहार)।
24 अप्रैल
श्री रामानुजाचार्य जयन्ती (उत्तर भारत में)। चन्दन षष्ठी (बंगाल)।
25 अप्रैल
श्री गंगा सप्तमी। गंगोत्पत्ति। गंगावतरण (मध्यान्ह में गंगा पूजन)। गंगा जन्म लग्न (वृष)। बुध कृत्तिका नक्षत्र में 14.02 बजे।
26 अप्रैल
श्री दुर्गाष्टमी व्रत। श्री बगलामुखी जयन्ती। शुक्र मृगशिरा नक्षत्र में 22.55 बजे।
27 अप्रैल
श्री सीता नवमी। वैष्णव मतानुसार श्री जानकी जयन्ती। त्रिचूर पूरम (केरल)। बुध वृष राशि में 12.07 बजे।
28 अप्रैल
सूर्य भरणी नक्षत्र में 05.33 बजे। अगस्त्यास्त 06.42 बजे।
29 अप्रैल
मोहिनी एकादशी व्रत सबका। मंगल कृत्तिका नक्षत्र में 08.10 बजे।
30 अप्रैल
परशुराम द्वादशी। रुक्मिणी द्वादशी।

दिन की कौन सी घड़ी है शुभ, जानने के लिए अपने मोबाइल के मेसेज बॉक्स में जाकर टाइप करें ishubh और भेज दीजिए 57272 पर।

मई सन् 2015

विक्रम संवत् 2072

वैशाख शुक्ल त्रयोदशी से ज्येष्ठ शुक्ल त्रयोदशी तक

शालिवाहन शक 1937

राष्ट्रीय वैशाख 11 से राष्ट्रीय ज्येष्ठ 10 तक

हिजरी सन् 1436

रज्जब 11 सेशाबान 12 तक

1 मई
मई दिवस। श्रमिक दिवस (अखिल विश्व के मजदूरों का पर्व)। महाराष्ट्र एवं गुजरात दिवस। प्रदोष व्रत। अशोक त्रिरात्र व्रत।
2 मई
सायान्ह-व्यापिनी चतुर्दशी में श्री नृसिंह जयन्ती। श्री नृसिंह चतुर्दशी व्रत। श्री नृसिंहावतार। छिन्नमस्ता जयन्ती। शुक्र मिथुन राशि में 20.36 बजे।
3 मई
व्रत की पूर्णिमा। अन्वाधान। सायंकाल कूर्म जयन्ती। श्री अष्टभुजी दुर्गा शक्तिपीठ (दुर्गा मन्दिर) किदवई नगर कानपुर में महामाया श्री विद्या राज राजेश्वरी त्रिपुर सुन्दरी एवं श्रीयंत्र का अभिषेक व अर्चन। गुरू अमरदास जयन्ती। जन्म दिन हजरत अली। मंगल वृष राशि में 23.56 बजे।
4 मई
स्नान-दानादि की वैशाखी पूर्णिमा। अन्वाधान। कृष्ण मृग चर्म-तिल-सुवर्ण दान। यम (धर्मराज) के लिये जल कुम्भादि दान। बुद्ध पूर्णिमा। बुद्ध परिनिर्वाण दिवस।वैशाख मासीय व्रत-यम नियमादि समाप्त। बुध रोहिणी नक्षत्र में 09.58 बजे।
5 मई
ज्येष्ठ मास कृष्ण पक्षारम्भ। ज्येष्ठ मासीय व्रत-यम-नियमादि प्रारम्भ। माता आनन्दमयी जयन्ती।
6 मई
देवर्षि नारद जयन्ती। वीणा-दान।
7 मई
संकष्टी श्री गणेश चतुर्थी व्रत। चन्द्रोदय 21.28 बजे। ब्रह्मावर्त (बिठूर) में सिद्ध गणेश मंदिर में अभिषेक। रवीन्द्र नाथ टैगोर जयन्ती।
8 मई
शुक्र आद्र्रा नक्षत्र में 20.27 बजे।
10 मई
भानु सप्तमी पर्व। 07 तिथि क्षय।
11 मई
श्री शीतलाष्टमी व्रत। पर्युषितान्न (बासी) भोजन करना विहित है। कालाष्टमी। गुरू हरगोविन्द गुरयायी दिवस। सूर्य कृत्तिका नक्षत्र में 23.48 बजे।
14 मई
अचला एकादशी व्रत सबका। अपरा व्रत।
15 मई
प्रदोष व्रत। पंच गौड़ों का त्रिदिनात्मक वट सावित्री व्रतारम्भ। वट सावित्री व्रत का प्रथम संयम। सूर्य की वृष संक्रान्ति 10.40 बजे। चन्द्र दर्शन मु.30 साम्यर्घ। संक्रान्ति का विशेष पुण्यकाल सूर्योदय से संक्रान्ति काल तक, तत्पश्चात् सामान्य पुण्यकाल संङ्मीान्ति काल से 17.04 बजे तक। संकल्पादि में प्रयोजनीय ग्रीष्म ऋतु प्रारम्भ। गौ-अन्नज ल-तिल दान। गोदावरी में स्नान।
16 मई
मास शिवरात्रि व्रत। वट सावित्री व्रत का द्वितीय संयम। सावित्री चतुर्दशी व्रत। फलहारिणी कालिका पूजन। सौर (वृष) ज्येष्ठ मासारम्भ।
17 मई
श्राद्धादि की अमावस्या। शनि जयन्ती। शबे मिराज।
18 मई
स्नान-दानादि की सोमवती अमावस्या। पंचगौड़ों का वट सावित्री व्रत। भावुका। बरगदाही। भावुका करिदिन।
19 मई
ज्येष्ठ मास शुक्ल पक्षारम्भ। चन्द्र दर्शन मु.45 समर्घ। करिदिन। करवीर व्रत। दस दिनात्मक गँगा दशहरा व्रतारम्भ। गंगा स्तोत्र का नित्य वृद्धि क्रम से पाठ। श्री गंगा दशाश्वमेध स्नान। बुध वक्री 16.11 बजे। सोपपदा। वेदारम्भ में अनध्याय।
20 मई
सायान्हव्यापिनी तृतीया में रम्भा तृतीया व्रत। श्री महाराणा प्रताप की 475वीं जयन्ती (राजस्थान)। हिजरी सावान 8वाँ माह शुरू। शुक्र पुनर्वसु नक्षत्र में 28.31 बजे।
21 मई
वैनायकी श्री गणेश चतुर्थी व्रत। ब्रह्मावर्त (बिठूर) में सिद्ध गणेश मंदिर में अभिषेक। सूर्य सायन मिथुन राशि में 14 .02 बजे।
22 मई
गुरु अर्जुनदेव (जोति जोत) बलिदान दिवस। राष्ट्रीय ज्येष्ठ मासारम्भ। बुध अस्त पश्चिम में 20.26 बजे।
23 मई
श्रुति पंचमी (जैन)।
24 मई
विन्ध्यवासिनी षष्ठी। अरण्य षष्ठी (बंगाल)। जामात्रि षष्ठी (बंगाल)।
25 मई
सूर्य रोहिणी नक्षत्र में 19.55 बजे।
26 मई
श्री दुर्गाष्टमी व्रत। अष्टमी तिथि में शुक्लादेवी का आवाहन। धूमावती जयन्ती। मेला क्षीर भवानी (काश्मीर)।
27 मई
नवमी में उपोषण करके शुक्ला देवी का पूजन।
28 मई
गंगा दशमी। श्री गंगा दशहरा। गंगा जन्म लग्न (वृष)। दस दिनात्मक गंगा दशहरा व्रत समाप्त। सेतु बन्ध श्री रामेश्वर प्रतिष्ठा दिवस। श्री रामेश्वर यात्रा, दर्शन, पूजन।
29 मई
निर्जला एकादशी व्रत सबका। भीमसेनी एकादशी। चीनी सुवर्ण सहित दान। काशी के दशाश्वमेध-घाट से श्री विश्वनाथ मंदिर तक कलश यात्रा, दर्शन एवं पूजन। गायत्री जयन्ती। रुक्मिणी विवाह (उड़ीसा)।
30 मई
चम्पक द्वादशी। द्वादशी में त्रिविक्रम पूजा। शुक्र कर्क राशि में 20.57 बजे।
31 मई
प्रदोष व्रत। दाक्षिणात्यों का त्रिदिनात्मक वट सावित्री व्रतारम्भ। दाक्षिणात्यों के वट सावित्री व्रत का प्रथम संयम।

दिन की कौन सी घड़ी है शुभ, जानने के लिए अपने मोबाइल के मेसेज बॉक्स में जाकर टाइप करें ishubh और भेज दीजिए 57272 पर।

जून सन् 2015

विक्रम संवत् 2072

ज्येष्ठ शुक्ल चतुर्थी से प्रथम आषाढ़ शुक्ल त्रयोदशी तक

शालिवाहनशक 1937

राष्ट्रीय ज्येष्ठ 11 से राष्ट्रीय आषाढ़ 09 तक

हिजरी सन् 1436

शाबान 13 से रमजान 12 तक

1 जून
दाक्षिणात्यों के वट सावित्री व्रत का द्वितीय संयम।
2 जून
स्नान-दान-व्रतादि की ज्येष्ठी पूर्णिमा। मन्वादि। बिल्व त्रिरात्र। जलयात्रा। देव स्नान पूर्णिमा। अब्द साध्य व्रत। संत कबीर दास जयन्ती। वट सावित्री व्रत का पारण। दाक्षिणात्यों का वट सावित्री व्रत। श्री अष्टभुजी दुर्गा शक्तिपीठ (दुर्गा मन्दिर) किदवई नगर कानपुर में महामाया श्री विद्या राजराजेश्वरी त्रिपुरसुन्दरी एवं श्रीयंत्र का अभिषेक व अर्चन।
3 जून
इष्टि। प्रथम आषाढ़ मास कृष्ण पक्षारम्भ। आषाढ़ मासीय व्रत-यमि नयमादि प्रारम्भ। गुरु हरगोविन्द सिंह जयन्ती। शुङ्मी पुष्य नक्षत्र में 05.17 बजे। शबे बरात।
5 जून
संकष्टी श्री गणेश चतुर्थी व्रत। चन्द्रोदय 21.09 बजे। ब्रह्मावर्त (बिठूर) में सिद्ध गणेश मंदिर में अभिषेक।
6 जून
मंगल मृगशिरा नक्षत्र में 07.19 बजे।
8 जून
सूर्य मृगशिरा नक्षत्र में 17.52 बजे।
9 जून
कालाष्टमी।
10 जून
श्री शीतलाष्टमी। पर्युषितान्न (बासी भोजन करना विहित है) बौहरा अष्टमी। बुधाष्टमी पर्व।
11 जून
10 तिथि क्षय।
12 जून
योगिनी एकादशी व्रत स्मार्त। परम पूज्य श्री देवरहा बाबा की पुण्य तिथि। गोपदम् व्रत का उद्यापन। बुध उदय पूर्व में 08.25 बजे। बुध मार्गी ं24.52 बजे।
13 जून
योगिनी एकादशी व्रत वैष्णव।
14 जून
प्रदोष व्रत। मास शिवरात्रि व्रत।
15 जून
सूर्य की मिथुन संङ्मीान्ति 17.14 बजे। चन्द्रदर्शन मु. 45 समर्घ। संक्रान्ति का सामान्य पुण्यकाल 10.50 बजे से संक्रान्ति काल तक, तत्पश्चात् विशेष पुण्यकाल संक्रान्ति काल से सूर्यास्त तक। गौ, अन्न, वस्त्र दान, मन्दाकिनी में स्नान। मंगल मिथुन राशि में 25.12 बजे।
16 जून
स्नान-दान-श्राद्धादि की अमावस्या। अन्वाधान। अधिक मासारम्भ। सौर मिथुन (आषाढ़) मासारम्भ।
17 जून
अधिक आषाढ़ मास शुक्ल पक्षारम्भ। शुक्र आश्लेषा नक्षत्र में ं13.26 बजे।
18 जून
चन्द्र दर्शन मु. 45 समर्घ।
19 जून
हिजरी रमजान 9 वां माह शुरु। रोजा शुरू।
20 जून
वैनायकी श्री गणेश चतुर्थी व्रत। ब्रह्मावर्त (बिठूर) में सिद्ध गणेश मंदिर में अभिषेक।
21 जून
सूर्य सायन कर्क राशि में 22.02 बजे। सायन सूर्य दक्षिणायन। सायन वर्षा ऋतु प्रारम्भ। दैत्यों की मध्य रात्रि एवं देवताओं का मध्यान्ह। विराज दिन। ऐतरेय ब्राह्मण।
22 जून
राष्ट्रीय आषाढ़ मासारम्भ। अयन करिदिन। सूर्य आद्र्रा नक्षत्र में 16.47 बजे। चन्द्र-सूर्य, स्त्री-स्त्री योग। वाहन मूषक, जला नाड़ी, तदीश बुध (नपुंसक), अत: अल्प वर्षा हो।
24 जून
श्री दुर्गाष्टमी व्रत। बुधाष्टमी पर्व।
25 जून
मंगल आद्र्रा नक्षत्र में 21.26 बजे।-8 तिथि वृद्धि।
28 जून
कमला एकादशी व्रत सबका।
29 जून
सोम प्रदोष व्रत (पुत्रार्थियों को यह व्रत करना चाहिए )।
30 जून
बुध मृगशिरा नक्षत्र में 22.26 बजे।

दिन की कौन सी घड़ी है शुभ, जानने के लिए अपने मोबाइल के मेसेज बॉक्स में जाकर टाइप करें ishubh और भेज दीजिए 57272 पर।

जुलाई सन् 2015

विक्रम संवत् 2072

प्रथम आषाढ़ शुक्ल चतुर्दशी से द्वितीय आषाढ़ शुक्ल पूर्णिमा तक

शालिवाहनशक 1937

राष्ट्रीय आषाढ़ 10 से राष्ट्रीय श्रावण 09 तक

हिजरी सन् 1436

रमजान 13 से सव्वाल 13 तक

1 जुलाई
व्रत की पुरूषोत्तमी पूर्णिमा।श्री अष्टभुजी दुर्गा शक्ति पीठ (दुर्गा मन्दिर) कि दवई नगर कानपुर में महामाया श्री विद्या राजराजेश्वरी त्रिपुरसुन्दरी एवं श्रीयंत्र का अभिषेक व अर्चन।
2 जुलाई
स्नान-दानादि की पूर्वाषाढ़ा नक्षत्रयुता परमपुण्यदायिनी आषाढ़ी पूर्णिमा। परम पुण्य काल सूर्योदय से 07.51बजे तक।
3 जुलाई
इष्टि। अधिक आषाढ़ मास कृष्ण पक्षारम्भ। 4तिथि क्षय।
5 जुलाई
संकष्टी श्री गणेश चतुर्थी व्रत। चन्द्रोदय 21.29 बजे। ब्रह्मावर्त (बिठूर) में सिद्ध गणेश मंदिर में अभिषेक । बुध मिथुन राशि में 12.15 बजे। शुक्र मघा नक्षत्र सिंह राशि में 09.53 बजे।
6 जुलाई
सोमवती पंचमी पर्व। सूर्य पुनर्वसु नक्षत्र में 16.25 बजे। चन्द्र-सूर्य, स्त्री-पुरूष योग, वाहन नाग, नाडी जला, तदीश बुध (नपुंसक) अत: वर्षा श्रेष्ठ हो।
8 जुलाई
कालाष्टमी।
9 जुलाई
शहादतेहजरतअली।
12 जुलाई
कमला एकादशी व्रत सबका।
13 जुलाई
सोम प्रदोष व्रत (पुत्रार्थियों को यह व्रत करना चाहिए)। बुध अस्त पूर्व में 29.28 बजे।
14 जुलाई
मास शिवरात्रि व्रत।
15 जुलाई
श्राद्ध की अमावस्या। शबे कद्र। गुरू मघा नक्षत्र सिंह राशि में 05.31 बजे। मंगल पुनर्वसु नक्षत्र में 20 .57बजे।
16 जुलाई
स्नान-दानादि की अमावस्या। अन्वाधान। अधिक मास समाप्त। सूर्य की कर्क संक्रान्ति 28.04 बजे। चन्द्र दर्शन मु.30 साम्यर्घ। संक्रान्ति का पुण्य काल अगले दिन। निरयण सूर्य दक्षिणायन। बुध पुनर्वसु नक्षत्र में 05.42 बजे।
17 जुलाई
आषाढ़ मास शुक्ल पक्षारम्भ। पुष्य नक्षत्रयुता द्वितीया में रथयात्रा। जगन्नाथपुरी यात्रा दर्शन प्रदक्षिणा। श्रीबलराम जगदीश रथोत्सव। कर्क संक्रान्ति का पुण्य काल सूर्योदय से 10.28 बजे तक। घृत-धेनु दान। मन्दाकिनी में स्नान। संकल्पादि में प्रयोजनीय वर्षा ऋतु प्रारम्भ। सौर (कर्क) श्रावण मासारम्भ। रमजान का आखिरी जुमा (जुमातुल विदा)।
18 जुलाई
उदयव्यापिनी द्वितीया में रथयात्रा । मनोरथ द्वितीया (बंगाल)। चन्द्र दर्शनमु. 30 साम्यर्घ।
19 जुलाई
वैनायकी श्री गणेश चतुर्थी व्रत। ब्रह्मावर्त (बिठूर) में सिद्ध गणेश मंदिर में अभिषेक । हिजरी सव्वाल 10 वां माह शुरु। ईदुल फितर (ईद)।
20 जुलाई
सूर्य पुष्य नक्षत्र में 15.53 बजे। चन्द्र-सूर्य, स्त्री-स्त्री योग। वाहन मेष, जलानाड़ी, तदीशबुध (नपुंसक ), अत: अल्प और खण्ड-वृष्टि हो। बुध कर्क राशि में 23.04 बजे।
22 जुलाई
स्कन्द षष्ठी व्रत। कुमार षष्ठी। कर्दम षष्ठी। बुध पुष्य नक्षत्र में 12.33 बजे।
23 जुलाई
विवस्वत सप्तमी। विवस्वत सूर्य पूजा। सूर्य सायन सिंह राशि में 09.01 बजे। राष्ट्रीय श्रावण मासारम्भ। अमर शहीद पं. चन्द्रशेखर आजाद जयन्ती।
24 जुलाई
महाष्टमी व्रत।श्री दुर्गाष्टमी व्रत। खार्ची पूजा (त्रिपुरा)।
25 जुलाई
कन्दर्पनवमी। भड्डली। शूद्रादि। शुक्र वक्री 26.15 बजे। राहु उत्तरा फाल्गुनीनक्षत्र में 08.0 8बजे।
26 जुलाई
सोपपदा। मन्वादि। रविदशमी पर्व। वेदारम्भ में अनध्याय। पुनर्यात्रा। उल्टा रथ (उड़ीसा)। बहुधा यात्रा। गिरिजा पूजा। आशा दशमी। मेला शरीक भगवती (क श्मीर)। हरिवासर 24.27बजे से।
27 जुलाई
हरिशयनी एकादशी व्रत सबका। हरिवासर 13.51 बजे तक। चातुर्मास्य व्रतारम्भ। चातुर्मास्य व्रत-यमनियमादि प्रारम्भ। रात्रि में विष्णु पूजा। शाक -त्याग व्रतारम्भ। गोपद्म व्रत का उद्यापन।
28 जुलाई
बुध आश्लेषा नक्षत्र में 21.40 बजे।
29 जुलाई
प्रदोष व्रत। जया पार्वती व्रत। 30 जुलाई-सायँकाल चतुर्दशी में श्री शिव शयनोत्सव। कोकिला व्रत। प्रदोष व्यापिनी पूर्णिमा में कोकि ला रुपिणी शिवा का पूजन।मंगल क र्क राशि में 26.21 बजे।
31 जुलाई
स्नान-दान-व्रतादि की आषाढ़ी पूर्णिमा। गुरु पूर्णिमा। गुरु व्यास पूजा। मन्वादि। कर्णघन्टा (क नखल) तीर्थ में स्नान। सन्यासियों का चातुर्मास्य व्रतारम्भ। करिदिन, बौधायन श्रावणी उपाकर्म। मन्वादि। अन्वाधान। गोपद्म व्रतारम्भ। सारनाथ में बौद्ध भिक्षुओं का धर्म चक्र प्रवर्तन दिवस। बौद्ध भिक्षुओं का वर्षा वास ग्रहण। मेला ज्वालामुखी (कश्मीर)। श्री अष्टभुजी दुर्गा शक्ति पीठ (दुर्गा मन्दिर) कि दवई नगर कानपुर में महामाया श्री विद्या राजराजेश्वरी त्रिपुरसुन्दरी एवं श्रीयंत्र का अभिषेक व अर्चन। आषाढ़ मासीय व्रत-यम-नियमादि समाप्त।

दिन की कौन सी घड़ी है शुभ, जानने के लिए अपने मोबाइल के मेसेज बॉक्स में जाकर टाइप करें ishubh और भेज दीजिए 57272 पर।

अगस्त सन् 2015

विक्रम संवत् 2072

श्रावण कृष्ण प्रतिपदा से भाद्रपद कृष्ण द्वितीया तक

शालिवाहनशक 1937

राष्ट्रीय श्रावण 10 से राष्ट्रीय भाद्रपद 09 तक

हिजरी सन् 1436

सव्वाल 14 से जिल्काद 15 तक

1 अगस्त
श्रावण मास कृष्ण पक्षारम्भ। श्रावणमासीय व्रत-यम-नियमादि प्रारम्भ। श्रावण मास में शाक त्याग क रना चाहिये। नक्त व्रतारम्भ। अशून्य शयन द्वितीया व्रत (सायान्ह व्यापिनी द्वितीया में)। लोक मान्य तिलक पुण्य तिथि।
2 अगस्त
शनि मार्गी 25.57 बजे।
3 अगस्त
श्रावण सोमवार व्रत। संकष्टी श्रीगणेश चतुर्थी व्रत।चन्द्रोदय 20.54 बजे। ब्रह्मावर्त(बिठूर) में सिद्धगणेश मंदिर में अभिषेक । सूर्य आश्लेषा नक्षत्र में 14.49 बजे। चन्द्र-सूर्य, स्त्री-पुरूष योग। वाहन खर, नीरा नाड़ी, तदीश शुक्र (स्त्री), अत:श्रेष्ठ वृष्टि हो। 4 तिथि क्षय।
4 अगस्त
श्रीनागपंचमी व्रत (मरुस्थल एवं बंगाल में)। भौम व्रत, गौरी दुर्गा पूजा। संकटमोचन में हनुमद्-दर्शन, श्री दुर्गाजी की यात्रा एवं दर्शन-काशी में। मंगल पुष्य नक्षत्र में 29.13 बजे। बुध मघा नक्षत्र सिंह राशि में18.18 बजे।
5 अगस्त
शुक्र अस्त पश्चिम में 16.13 बजे।
6 अगस्त
श्री शीतला सप्तमी व्रत। कालाष्टमी। भौम उदय पूर्व में12.20 बजे।
7 अगस्त
बुध उदय पश्चिम में 07.52 बजे।
8 अगस्त
गुरू हरकिशन जयन्ती।
9 अगस्त
रविदशमी पर्व।
10 अगस्त
कामदा एकादशी व्रत सबका। कामिका व्रत। श्रावण सोमवार व्रत।
11 अगस्त
भौम प्रदोष व्रत (पुत्रार्थियों को यह व्रत करना चाहिए)। भौम व्रत, गौरी दुर्गा पूजा। संकटमोचन में हनुमद्-दर्शन, श्री दुर्गाजी की यात्रा एवं दर्शन काशी में। गुरू अस्त पश्चिम में 27.09 बजे।
12 अगस्त
मास शिवरात्रि व्रत।बुध पूर्वा फाल्गुनी नक्षत्र में 08.42 बजे।
13 अगस्त
शुक्र (वक्री) आश्लेषा नक्षत्र कर्क राशि में 17.27बजे।
14 अगस्त
स्नान-दान- श्राद्धादि की अमावस्या। हरियाली अमावस्या। चितलगी अमावस्या। आदि अमावस्या (तमिलनाडु)/कर्क टक बवु (केरल)। अन्वाधान।
15 अगस्त
श्रावणमास शुक्ल पक्षारम्भ। इष्टि। आज से भाद्रपद शुक्ल तक नक्त व्रतारम्भ। भारतीय स्वतन्त्रता दिवस। भारतीय स्वतन्त्रता दिवस की 69वीं वर्षगाँठ।
16 अगस्त
चन्द्र-दर्शन मु. 30 साम्यर्घ। श्रृंगार (सिंधारा)। ब्रह्मलीन धर्म-सम्राट्यतिचक्र चूड़ामणि पूज्य चरण-रजस्वामी करपात्रिजी महाराज जयन्ती।
17 अगस्त
रोटक व्रतारम्भ। सोमेश्वर पूजन। सुकृत तृतीया।मधुश्रवा तृतीया व्रत (मैथिल गुर्जर देश में प्रसिद्ध)। हरि तृतीया (हरियाली तीज)। स्वर्ण गौरी व्रत।श्रावण सोमवार व्रत। सूर्य मघा नक्षत्र में एवं सूर्य की सिंह संक्रान्ति 12.27 बजे। चन्द्र दर्शन मु. 45 समर्घ। विशेष पुण्यकाल 06.03 बजे से संक्रान्ति कालतक, तत्पश्चात् सामान्य पुण्यकाल संक्रान्ति काल से सूर्यास्त तक।छत्र-स्वर्ण, वस्त्र-दान, गँगा में स्नान। सूर्य मघा नक्षत्र में 12.27 बजे। चन्द्र-सूर्य, स्त्री-स्त्री योग, वाहनमण्डूक , नाडी नीरा, तदीश शुक्र (स्त्री) अत: अल्प और खण्डवृष्टि हो।हिजरी जिल्काद 11वाँ माह शुरू।
18 अगस्त
वैनायकीश्री गणेश चतुर्थी व्रत। वरद चतुर्थी व्रत । भौम-अंगार की पर्व। दूर्वा गणपति व्रत। ब्रह्मावर्त (बिठूर) में सिद्ध गणेश मंदिर में अभिषेक। भौम व्रत, गौरी दुर्गा पूजा। संकटमोचन में हनुमद्-दर्शन, श्री दुर्गा जी की यात्रा एवं दर्शन-काशी में। सौर (सिंह) भाद्रपद मासारम्भ।
19 अगस्त
श्री नाग पंचमी व्रत (मध्यान्ह व्यापिनी पंचमी में)। नागपूजा एवं नागकूप यात्रा। तक्षक पूजा। गोबर आदि से भित्ति पर बने नागों की पूजा। श्री हनुमान जी का ध्वजारोपण। ग्राम-ग्राम में विविध प्रकार के व्यायामों का प्रदर्शन। नागदृष्ट व्रत। 4तिथि वृद्धि।
20 अगस्त
वर्णश्रृयाल षष्ठी व्रत। कल्कि जयन्ती (सायान्हव्यापिनी षष्ठी में)। लोक मान्य तिलक पुण्यतिथि। शुक्र उदय पूर्व में 22.09 बजे।बुध उत्तराफाल्गुनी नक्षत्र में 23.43 बजे।
21 अगस्त
श्री शीतलाषष्ठी व्रत।
22अगस्त
श्री शीतलासप्तमी पूजन।गोस्वामीश्री तुलसीदास जयन्ती।
23 अगस्त
श्री दुर्गाष्टमी व्रत।श्री वर महालक्ष्मी व्रत (दक्षिणभारत)।श्री शिव पवित्रारोपण। सूर्य सायन कन्या राशि में16.13 बजे। राष्ट्रीय भाद्रपद मासारम्भ। बुध कन्या राशि में 08.40 बजे।
24 अगस्त
श्रावण सोमवार व्रत।
25 अगस्त
भौम व्रत, गौरी दुर्गा पूजा। संकटमोचन, श्री दुर्गा जी की यात्रा एवं दर्शनकाशी में। मंगल आश्लेषा नक्षत्र में घं.21मि. 33 पर।
26 अगस्त
पुत्रदा एकादशी व्रत सबका। पवित्रा।
27 अगस्त
प्रदोष व्रत। श्री विष्णु पवित्रारोपण। श्री शिव पवित्रारोपण। शाक दान। झूलन यात्रारम्भ (पूर्वान्ह में)। आज से भाद्रपद शुक्ल 12 तक दधि त्याग व्रतारम्भ।
28 अगस्त
सूणमाण्डणा (पूरा दिन शुद्ध है)। ऋक्र्वेदियों का उपाक र्म। अगस्त्योदय11.57बजे। 14 तिथि क्षय।
29 अगस्त
स्नान दान व्रतादि की श्रावणी पूर्णिमा। अन्वाधान। रक्षा बन्धन(राखी) पूर्णिमा, भद्रा के बाद। ऋषितर्पण।आपस्तम्ब उपाकर्म। संस्कृत दिवस। सत्याग्रह बलिदान दिवस। अमरनाथ यात्रा दर्शन पूजन। यजुर्वेदियों, अथर्ववेदियों, काण्वमाध्यनन्दिन (कात्यायन), बौधायन, हिरण्यके शीय, आपस्तम्ब, तैत्तरीय द्विजातियों काश्रावणी उपाकर्म। झूलनयात्रा समापन प्रदोष काल में नारली पूर्णिमा। झूलन पूर्णिमा। नारियल। बलभद्र पूजा (उड़ीसा)। सायंकालहयग्रीवोत्पत्ति, भदैनी स्थितमन्दिर में दर्शन पूजन। भारतीय संगीत के पुनरुद्धारक विष्णु दिगम्बर पलुष्कर जयन्ती। श्री अष्टभुजी दुर्गा शक्ति पीठ (दुर्गामन्दिर) कि दवईनगर कानपुर में महामायाश्री विद्या राज राजेश्वरी त्रिपुर सुन्दरी एवं श्रीयंत्र का अभिषेक व अर्चन। श्रावणमासीय व्रत यम नियमादि समाप्त।
30 अगस्त
भाद्रपद मास कृष्ण पक्षारम्भ। अशून्य शयन द्वितीया व्रत। कज्जली निमित्त जागरण। इष्टि। भाद्रपद मासीय व्रत-यम-नियमादि प्रारम्भ। भाद्रपद मास में दधित्याग करना चाहिये। मट्ठा का निषेध नहीं है।
31 अगस्त
कज्जली तृतीया व्रत। कजरी तीज। तीजड़ी (सिन्धी)। सूर्य पूर्वा फाल्गुनी नक्षत्र में 08.26 बजे। सूर्य-सूर्य, स्त्री-पुरूष योग, वाहन मूषक , नीरा नाड़ी, तदीश शुक्र (स्त्री), अत: बहुत हवा के साथ श्रेष्ठ वर्षा हो। बुधहस्त नक्षत्र में 07.43 बजे।

दिन की कौन सी घड़ी है शुभ, जानने के लिए अपने मोबाइल के मेसेज बॉक्स में जाकर टाइप करें ishubh और भेज दीजिए 57272 पर।

सितंबर सन् 2015

विक्रम संवत् 2072

भाद्रपद कृष्ण तृतीया से आश्विन कृष्ण तृतीया तक

शालिवाहन संवत् 1937

राष्ट्रीय भाद्रपद 10 से राष्ट्रीय आश्विन 08 तक

हिजरी सन् 1436

जिल्काद 16 से जिल्हेज 15 तक

1 सितंबर
संकष्टी श्री गणेश चतुर्थी व्रत। चन्द्रोदय 20.17 बजे। भौम अंगार की पर्व। बहुला चतुर्थी। ब्रह्मावर्त (बिठूर) में सिद्ध गणेश मंदिर में अभिषेक।
3 सितंबर
हलषष्ठी व्रत (सायान्हव्यापिनी षष्ठी में)। पुत्रार्थियों को एवं सन्तानवती महिलाओं को यह व्रत करना चाहिये। बृहद्गौरी व्रत। चन्द्रषष्ठी व्रत (मरू स्थल में)। कपिला षष्ठी व्रत। चम्पा षष्ठी। 06तिथि क्षय।
4 सितंबर
श्री शीतला सप्तमी व्रत।
5 सितंबर
श्री कृष्णजन्माष्टमी व्रत सबका। श्री कृष्ण जयन्ती रोहिणी योग। श्री कृष्ण जन्मोत्सव। श्री सन्त ज्ञानेश्वर जयन्ती। गोकुलाष्टमी। नन्दोत्सव। मन्वादि। मंत्रादि। मन्वादि। दशाफल व्रत। सर्वपल्ली डॉ राधाकृष्णन जयन्ती। शिक्षक दिवस (Teachers Day)।
6 सितंबर
गोगानवमी। गुरू उदय पूर्व में 22.42 बजे। शुक्र मार्गी 28.42 बजे।
8 सितंबर
जया एकादशी व्रत।
9 सितंबर
गो-वत्स पूजा द्वादशी।
10 सितंबर
प्रदोष व्रत। पर्युषण पर्वारम्भजैन (चतुर्थी पक्ष), (पंचमी पक्ष)।
11 सितंबर
मास शिवरात्रि व्रत। 13 तिथि वृद्धि।
12 सितंबर
श्राद्ध की अमावस्या। पिठौरी अमावस्या। कुशोत्पाटिनी अमावस्या। ‘हूँ उफ ट् ’मन्त्र से कुशोत्पाटन।
13 सितंबर
स्नान-दानादि की अमावस्या। लोहार्गल स्नान। श्री शक्ति पूजा। पोला (वृषभोत्सव)। मौन व्रतारम्भ (जैन)। ...सूर्य उत्तराफाल्गुनी नक्षत्र में 26.17 बजे। सूर्य-सूर्य, स्त्री-स्त्री योग, वाहन अश्व, नाडी नीरा, तदीश शुक्र (स्त्री)अत: अल्प एवं खण्ड वर्षा हो।
14 सितंबर
भाद्रपद शुक्ल पक्षारम्भ।श्रावण मासीयनक्त व्रत का अन्तिम दिन।श्री गुरू ग्रन्थ साहिब प्रथम प्रकाश दिवस। गुरू पूर्वा फाल्गुनी नक्षत्र में 21.33 बजे।
15 सितंबर
चन्द्रदर्शन मु. 30 साम्यर्घ। भाद्रपद सिंहार्क हस्त नक्षत्र में सामवेदियों का उपाकर्म। गुरू अर्जुनदेव गुरयाई दिवस। मंगल मघा नक्षत्र सिंह राशि में 21.31 बजे।
16 सितंबर
वाराह जयन्ती। मन्वादि। वाराहावतार। हरितालिका तीज व्रत (स्त्रियों को यह व्रत अवश्य करना चाहिये)। बृहद गौरी व्रत। गौरी तृतीया। गुरू रामदास जोतिजोत दिवस।श्री शंकर देव तिथि (आसाम)। जिल्हेज 12 माह शुरू। बुध अस्त पश्चिम में 21.57 बजे।
17 सितंबर
वैनायकी श्रीगणेश चतुर्थी व्रत। (आज चन्द्र दर्शन का निषेध है)। सिद्ध विनायक चतुर्थी। पत्थर चौथ। सम्वत्सरी चतुर्थी पक्ष (जैन)। ब्रह्मावर्त (बिठूर) में सिद्ध गणेश मंदिर में अभिषेक । विश्वकर्मा पूजा। मेला पाट 3 दिन (जम्मू-कश्मीर)। सूर्य की कन्या संक्रान्ति 12.21 बजे। चन्द्र दर्शन मु.15 महर्घ। संक्रान्ति का सामान्य पुण्यकाल 05.57 बजे से संक्रान्ति कालतक, तत्पश्चात् विशेष पुण्यकाल संक्रान्ति काल से घं. सूर्यास्त तक ।गृह- वस्त्र दान,गोदावरीमें स्नान, संकल्पादि में प्रयोजनीय शरद ऋतु प्रारम्भ।
16 सितंबर
एकादशी व्रत (वैष्णव), श्रवण-नक्षत्रयुता द्वादशी व्रत, श्रीवामनावतार जयंती, भुवनेश्वरी महाविद्या जयंती, श्यामबाबा द्वादशी, इन्द्रपूजा प्रारंभ (मिथिलांचल), हरिवासर प्रात: 7.41 से दिन 3.04 बजे तक, ओणम (द.भा.), सूर्य की कन्या संक्रान्ति रात्रि 12.02 बजे, विश्व ओजोन दिवस
18 सितंबर
ऋषि पंचमी। मध्यान्ह में सप्तर्षि पूजा। आपस्तम्भ श्रावणी। हेमाद्रिका नाग पंचमी। सम्वत्सरी महापर्व (जैन)। सौर (कन्या) आश्विन मासारम्भ।बुध वक्री 08.12 बजे।
19 सितंबर
सूर्य षष्ठी व्रत। लोलार्क षष्ठी।पुत्रार्थियों को आज से16 दिन तक काशी के लोलार्क कुण्ड में स् स्नान एवं पूजन अर्चन करना चाहिये। ललिता षष्ठी व्रत। चम्पा षष्ठी व्रत। अनुराधा नक्षत्र में ज्येष्ठा गौरी का आवाहन 29.46 बजे के पूर्व।
20 सितंबर
मुक्ताभरण सप्तमी व्रत। उमा महेश्वर पूजन। अपराजिता। संतान। भानु सप्तमी पर्व। दूबड़ी सातम। ज्येष्ठा नक्षत्र में ज्येष्ठा गौरी का पूजन-व्रत।
21 सितंबर
श्री दुर्गाष्टमी व्रत। श्रीराधाष्टमी। दुर्वाष्टमी। आज से 16 दिनात्मक महालक्ष्मी व्रतारम्भ। मूल नक्षत्र में ज्येष्ठा गौरी का विसर्जन 07.05 बजे के बाद। महर्षि दधीचिजयन्ती।
22 सितंबर
अदु:ख नवमी। श्री चन्द्र नवमी। उदासीन सम्प्रदाय महोत्सव। भागवत सप्ताहारम्भ।गौरीगणपति पूजन। काशी के लक्ष्मी कुण्डमेंस्नान।
23 सितंबर
दशावतार दशमीव्रत। श्रीरामदेवजी कामेला (नवल दुर्ग)। सूर्य सायन तुला राशि में 13.59 बजे। शरद सम्पात। सूर्य का दक्षिण गोल प्रवेश। देवताओं की रात्रि दैत्यों का दिनोदय। राष्ट्रीय आश्विन मासारम्भ।
24 सितंबर
जल झूलनी व्रत सबका। डोलग्यारस(म. प्र.)। हरिवासर 21.51बजे से 28.40 बजे तक।
25 सितंबर
वामन द्वादशी व्रत। वामनावतार। वामन जयन्ती। दुग्ध व्रत। गो त्रिरात्र व्रत। भुवनेश्वरी जयन्ती। ईदुज्जुहा (बकरीद)।
26 सितंबर
शनि प्रदोष व्रत (पुत्रार्थियों को यह व्रत करना चाहिए)।गुरू रामदास गुरयाई दिवस।
27 सितंबर
अनन्त चतुर्दशी व्रत। कदली व्रत पूजन। रम्भा रोपण। व्रत की पूर्णिमा। इन्द्रश्राद्धारम्भ। प्रौष्ठ पदी पूर्णिमा। इदुला 15। महालयारम्भ। पितृपक्ष आरम्भ। पूर्णिमा श्राद्ध (12.08 बजे के बाद)। श्री अष्टभुजी दुर्गा शक्ति पीठ (दुर्गा मन्दिर) कि दवई नगर कानपुर में महामायाश्री विद्या राज राजेश्वरी त्रिपुर सुन्दरी एवं श्रीयंत्र का अभिषेक व अर्चन।... सूर्य हस्त नक्षत्र में 17.46 बजे। सूर्य-सूर्य, स्त्री-पुरूषयोग, वाहनमेष, वायु नीरा, तदीश शुक्र (स्त्री) ,है, अत: उत्तम वर्षा हो।
28 सितंबर
स्नान-दान की भाद्रपदी पूर्णिमा। उमा महेश्वर पूजन-व्रत। कु. संध्या पूजा। भाद्रपद मासीय व्रत-यम-नियमादि समाप्त। भागवत सप्ताह समाप्त। प्रतिपदा श्राद्ध (08.22 बजे के बाद)। आश्विन मासीय व्रत-यम-नियमादि प्रारम्भ। इष्टि। गुरू अमरदास जोति जोत। 1 तिथिक्षय।
29 सितंबर
आश्विनमास कृष्ण पक्षारम्भ। द्वितीयाश्राद्ध। आश्विन मास में दूध का त्याग करना चाहिये। अशून्य शयन द्वितीया व्रत।
30 सितंबर
तृतीया श्राद्ध। भरणी श्राद्ध। शुक्र मघा नक्षत्र सिंह राशि में 28.17 बजे।

दिन की कौन सी घड़ी है शुभ, जानने के लिए अपने मोबाइल के मेसेज बॉक्स में जाकर टाइप करें ishubh और भेज दीजिए 57272 पर।

अक्टूबर सन् 2015

विक्रम संवत् 2072

आश्विन कृष्ण चतुर्थी से कातिर्क कृष्ण पचंमी तक

शालिवाहनशक 1937

राष्ट्रीय आश्विन 09 से राष्ट्रीय कार्तिक 09 तक

हिजरी सन् 1436-37

जिल्हेज 16 से मोहर्रम 17 तक

1 अक्टूबर
संकष्टी श्री गणेश चतुर्थी व्रत। चन्द्रोदय 20.31 बजे। चतुर्थी श्राद्ध। ब्रह्मावर्त (बिठूर) में सिद्धगणेश मंदिर में अभिषेक।
2 अक्टूबर
पंचमी श्राद्ध।चंद्र षष्ठी व्रत। महात्मा गाँधी जन्म दिवस। श्री लाल बहादुर शास्त्री जयन्ती। चरखा जयन्ती। गुरू अंगददेव गुरयाई दिवस।
3 अक्टूबर
षष्ठी श्राद्ध। बुध वक्री उत्तरा फाल्गुनी नक्षत्र में 17.24 बजे।
4 अक्टूबर
सप्तमी श्राद्ध (14.40 बजे के पूर्व)। भानु सप्तमी पर्व। श्री महालक्ष्मी व्रत। कालाष्टमी। अशोकाष्टमी।
5 अक्टूबर
अष्टमी श्राद्ध (14.47 बजे के पूर्व)। जीवित्पुत्रिका (जीउतिया) व्रत।
6 अक्टूबर
मातृ नवमी। नवमी श्राद्ध (15.39 बजे के पूर्व)। सौभाग्यवती स्त्रियों का श्राद्ध आज ही क रना चाहिये। जीवित्पुत्रिका व्रत का पारण। मंगल पूर्वा फाल्गुनी नक्षत्र में 29.04 बजे। बुध उदय पूर्व में 16.00 बजे।
7 अक्टूबर
दशमी श्राद्ध। गुरू नानक देवजी जोतिजोत।
8 अक्टूबर
इन्दिरा एकादशी व्रत सबका। एकादशी श्राद्ध।
9 अक्टूबर
द्वादशी श्राद्ध। चक्रांकित महा भागवतों का, संन्यासी, यति, वैष्णवों का श्राद्ध आज ही करना चाहिये। मघाश्राद्ध।
10 अक्टूबर
शनि प्रदोष व्रत (पुत्रार्थियों को यह व्रत करना चाहिए)। युगादि। त्रयोदशी श्राद्ध। बुध मार्गी 11.12 बजे।
11 अक्टूबर
चतुर्दशी श्राद्ध। शस्त्रादि से मृत लोगों का श्राद्ध आज ही करना चाहिये। मास शिवरात्रि व्रत। 3 सूर्य चित्रा नक्षत्र में 06.48 बजे। सूर्य-सूर्य, स्त्री- स्त्रीयोग, वाहन खर,नाडीनीरा, तदीश शुक्र (स्त्री) अत: खण्डवृष्टि हो।
12 अक्टूबर
स्नान-दान-श्राद्धादि की सोमवती अमावस्या (आजतैल स्पर्श का निषेध है)। अमावस्या श्राद्ध। पितृ विसर्जन 30। महालया समाप्त। सर्वपैत्री। अज्ञात तिथि वालों का श्राद्ध आज ही करना चाहिये। अन्वाधान।
13 अक्टूबर
शारदीय नवरात्रारम्भ। कलश स्थापन। ध्वजारोहण। महाराजा अग्रसेन जयन्ती। दौहित्र कृत मातामह श्राद्ध।
14 अक्टूबर
चन्द्र दर्शनमु.15 महर्घ। 1तिथि वृद्धि।
15 अक्टूबर
हिजरी सन् 1437 मोहर्रम पहला माह प्रारम्भ। बुध हस्त नक्षत्र में 24.40 बजे।
17 अक्टूबर
वैनायकी श्रीगणेश चतुर्थी व्रत। ब्रह्मावर्त (बिठूर) में सिद्धगणेश मंदिर में अभिषेक । सूर्य की तुला संक्रान्ति 24.18 बजे। चन्द्र दर्शन मु.15 महर्घ। संक्रान्ति पुण्यकाल अगले दिन। आज से वृश्चिक संक्रान्ति पर्यन्त तिल तेल का आकाश में दीपदान करना चाहिए। शुक्र पूर्वा फाल्गुनी नक्षत्र में 11.06 बजे।
18 अक्टूबर
उपांग ललिता पंचमी व्रत। ललिता पंचमी। तुला संक्रान्ति का सामान्य पुण्यकाल सूर्योदय से 07.42 बजे तक । दीप, तिल गौ, रसादि दान। गोदावरी में स्नान। सौर (तुला) कार्तिक मासारम्भ।
19 अक्टूबर
मूल नक्षत्र में सरस्वती देवी का आवाहन।
20 अक्टूबर
भद्रकाली अवतार। पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र में सरस्वती देवी का पूजन। अन्नपूर्णा परिक्रमा प्रारम्भ 14.25 बजे से। ओली प्रारम्भ (जैन) चतुर्थी पक्ष।
21 अक्टूबर
श्री दुर्गाष्टमी व्रत। महाष्टमी। बुधाष्टमी पर्व। अष्टमी काहवनादि आज ही करें। उत्तराषाढ़ा नक्षत्र में सरस्वती देवी के निमित्त बलिदान। अन्नपूर्णा परिक्रमा समाप्त 13.31 बजे। ओली प्रारम्भ (जैन पंचमी पक्ष)। श्री अष्टभुजी दुर्गा शक्ति पीठ (दुर्गा मंदिर) ‘वाई’ ब्लाक , कि दवई नगर कानपुर में शतचण्डीयज्ञ काहवन पूर्णाहुति एवंमहा प्रसाद वितरण। शक्ति संगीत सभा।
22 अक्टूबर
श्री दुर्गानवमी व्रत। श्री महानवमी। नवमी का हवनादि आज ही करें। श्री विजयादशमी। विजय मुहूर्त 13.54 बजे से 14.37 बजे तक । शमी पूजा। अपराजिता पूजा। नीलकण्ठ दर्शन। राजाओं का पट्टाभिषेक। बौद्धावतार। सीमोल्लंघन। शस्त्रादि पूजा। मन्वादि। श्रवण नक्षत्र में सरस्वती देवी का विसर्जन। श्री अष्टभुजी दुर्गा शक्ति पीठ (दुर्गा मंदिर) ‘वाई’ ब्लाक, किदवई नगर कानपुर में कुमारिका भोज।
23 अक्टूबर
सूर्य सायन वृश्चिक राशि में 23.25 बजे। राष्ट्रीय कार्तिक मासारम्भ। श्री विजयादशमी (उदय व्यापिनी मानने वालों के लिए)। काशी में नाटी इमली का भरत मिलाप।
24 अक्टूबर
पापांकुशा एकादशी व्रत सबका। श्री माधवाचार्य जयन्ती। 12 तिथि क्षय। 3 सूर्य स्वाती नक्षत्र में 17.15 बजे। सूर्य-सूर्य स्त्री- पुरूषयोग, वाहन जम्बूक, नीरा नाड़ी, तदीश शुक्र (स्त्री), अत: वायु अधिक वर्षा श्रेष्ठ होगी। मोहर्रम (ताजिया)।
25 अक्टूबर
प्रदोष व्रत। कार्तिक मास के लिए द्विदल त्याग व्रतारम्भ। बुध चित्रा नक्षत्र में 20.21 बजे।
26 अक्टूबर
व्रत की पूर्णिमा। शरद पूर्णिमा। कोजागरी पूर्णिमा। रात्रि में लक्ष्मी कुबेरादि पूजा। लक्ष्मी पूजा। कुमार पूर्णिमा। अन्वाधान। श्रीअष्टभुजी दुर्गा शक्ति पीठ (दुर्गामन्दिर) किदवई नगर कानपुर में महामाया श्री विद्या राज राजेश्वरी त्रिपुर सुन्दरी एवं श्रीयंत्र का महाभिषेक व अर्चन।
27 अक्टूबर
स्नान-दानादि की अश्विनी नक्षत्र युता परम पुण्यदायिनी आश्विनी पूर्णिमा, परम पुण्यकाल सूर्योदय से सूर्यास्त तक। नवान्न भक्षण। बंगदेशीय लखी पूजा। आश्वयुजी कर्म (आश्वलायन शाखा)। महर्षि बाल्मीकि जयन्ती। आश्विन मासीय स्नान-व्रत-यम-नियमादि समाप्त। आज से कार्तिक मास पर्यन्त आकाश में दीपदान करना चाहिए। ओली समाप्त (जैन)। कार्तिक मासीय व्रत-यम नियमादि प्रारम्भ। इष्टि। आकाश दीपदान यज्ञ प्रारम्भ।
28 अक्टूबर
कार्तिक मास कृष्ण पक्षारम्भ। कार्तिक मासीय व्रत-यम नियमादि प्रारम्भ। कार्तिक मासमें द्विदल (दाल) का त्याग करना चाहिए। तुलसीदल से श्री विष्णु पूजा। अशून्य शयन द्वितीया व्रत। मंगल उत्तरा फाल्गुनी नक्षत्र में 20.46 बजे।
29 अक्टूबर
गुरू रामदास जयन्ती। बुध तुला राशि में 22.45 बजे।
30 अक्टूबर
संकष्टी श्रीगणेश चतुर्थी व्रत। चन्द्रोदय 20.03 बजे। करवा चौथ। करक चतुर्थी व्रत। दशरथ चतुर्थी। ब्रह्मावर्त (बिठूर) में सिद्ध गणेशमंदिर में अभिषेक। शुक्र उत्तरा फाल्गुनी नक्षत्र में 26.33 बजे।
31 अक्टूबर
बुध अस्त पूर्व में 17.37 बजे। 5 तिथि क्षय। सरदार पटेल जयन्ती।

दिन की कौन सी घड़ी है शुभ, जानने के लिए अपने मोबाइल के मेसेज बॉक्स में जाकर टाइप करें ishubh और भेज दीजिए 57272 पर।

नवंबर सन् 2015

विक्रम संवत् 2072

कार्तिक कृष्ण षष्ठी से मार्गशीर्ष कृष्ण पंचमी तक

शक संवत् 1937

राष्ट्रीय कार्तिक 10 से राष्ट्रीय मार्गशीर्ष 09 तक

हिजरी सन् 1437

मोहर्रम 18 से सफर 17 तक

1 नवंबर
स्कन्द षष्ठी व्रत।
2 नवंबर
बुध स्वाती नक्षत्र में 23.25 बजे।
3 नवंबर
अहोई अष्टमी व्रत सबका (सायं कालीन अष्टमी में)। मंगल कन्या राशि में 08.10 बजे। शुक्र कन्या राशि में 07.33 बजे।
4 नवंबर
बुधाष्टमी पर्व।गुरू हररायजोतिजोत दिवस।गुरू हरकि शनगुरयाई दिवस।
6 नवंबर
सूर्य विशाखा नक्षत्र में 25.27 बजे।
7 नवंबर
रम्भा एकादशी व्रत सबका। आज आकाश में दीपदान करना चाहिये। गोवत्स पूजा। गो वत्स द्वादशी (प्रदोष व्यापिनी द्वादशी में) नारी कर्त्‍तकनीरांजन विधि 5 दिन तक । वसु द्वादशी।
9 नवंबर
सोम प्रदोष व्रत (पुत्रार्थियों के लिए श्रेष्ठ है)। धनत्रयोदशी। धनतेरस। धन्वन्तरि जयन्ती। गो त्रिरात्र व्रत प्रारम्भ। यम पंचकारम्भ। निशामुख मेंयम के लिए घर से बाहर दीपदान। हनुमान जी का जन्ममेष लग्न में (हनुमान जी का दर्शन पूजन)। अरुणोदय काल पंचकारम्भ। मास शिवरात्रि व्रत। काली चतुर्दशी (महानिशीथ काल में)।
10 नवंबर
नरक चतुर्दशी व्रत। रुप चतुर्दशी। सायँ प्रदोष वेला में देवालयों में दीपदान तत्पश्चात् घर में दीपदान करना चाहिए। कामेश्वरी जयन्ती। बुध विशाखा नक्षत्र में 26.13 बजे।
11 नवंबर
स्नान-दान- श्राद्धादि की अमावस्या। दीपावली, प्रात: हनुमद्दर्शन। प्रदोष काल में लक्ष्मीन्द्र- कुबेरादि पूजा (प्रदोष काल 17.10 बजे से 19.46 बजे तक )। खाता (बसना पूजा) महानिशीथ काल में महालक्ष्मी पूजा। महाकाली पूजा। महानिशीथ काल 23.14 बजे से 24.06 बजे तक । शेष रात्रि में दरिद्र नि:स्सारण। महावीर निर्वाण दिवस (जैन)। स्वामी रामतीर्थ जन्म एवं निर्वाण दिवस। ऋषि बोधोत्सव। स्वामी दयानन्द निर्वाण दिवस। गौरी केदार व्रत।
12 नवंबर
कार्तिक शुक्ल पक्षारम्भ। अन्नकूट। गोवर्धन पूजा।बलि पूजा। बलि प्रतिपदा। सायं प्रदोष बेला में बलिपूजा। सायं द्यूत क्रीड़ा। यष्टिकार्षण। नारीक कर्त्‍तक नीरांजन विधि समाप्त। यम पंचक समाप्त। गौ-क्रीड़ा। गो-संवर्धन सप्ताह प्रारम्भ। मार्गपाली बंगाल। नेपाली संवत् 1136 वीर निर्वाण संवत् 2542 प्रारम्भ। गुर्जर नव सम्वत्सरारम्भ 2072। शुक्र हस्त नक्षत्र में 14.58 बजे। शनि अस्त पश्चिम में 11.58 बजे।
13 नवंबर
भ्रातृ द्वितीया। यम द्वितीया। चित्रगुप्त पूजा। यम पूजा दीप दानादि। यमुनास्नान। कलम दावात पूजन। भैया दूज। भगिनी गृह में भोजन। श्रीगुरू ग्रन्थ साहिबगुरयाई दिवस। चन्द्र दर्शनमु.15 महर्घ।
14 नवंबर
पं.जवाहरलाल नेहरू जन्म दिवस, बाल दिवस। हिजरी सफर 2 माह शुरू।
15 नवंबर
वैनायकी श्रीगणेश चतुर्थी व्रत। ब्रह्मावर्त (बिठूर) में सिद्ध गणेश मंदिर में अभिषेक । दूर्वागणपति व्रत। सूर्य षष्ठी व्रत का प्रथम संयम।
16 नवंबर
सौभाग्य पंचमी व्रत। पाण्डव पंचमी। ज्ञान पंचमी (जैन)। सोमवती पंचमी पर्व। सूर्य षष्ठी व्रत का द्वितीय संयम (एक भुक्त खरना)। सूर्य की वृश्चिक संक्रान्ति 24.05 बजे। चन्द्र दर्शनमु. 45 समर्घ। संक्रान्ति का पुण्य काल अगले दिन। आकाश दीपयज्ञ समाप्त। गुरू गोविन्द सिंह (जोतिजोत) बलिदान दिवस।
17 नवंबर
सूर्य षष्ठी व्रत (डाला छठ)। सायंकाल प्रथमार्घ्‍य दान। अरुणोदय काल में द्वितीयार्घ्‍य दान। संक्रान्ति का सामान्यपुण्य काल सूर्योदय से 06.24 बजे तक । दीपवस्त्र, दान, नर्मदा में स्नान, संकल्पादि में प्रयोजनीय हेमन्त ऋतुप्रारम्भ। सौर (वृश्चिक) मार्गशीर्ष मासारम्भ। बुध वृश्चिक राशि में 07.32 बजे।
18 नवंबर
कल्पादि। सूर्य षष्ठी व्रत का पारण।
19 नवंबर
श्री दुर्गाष्टमी व्रत। श्रीगोपाष्टमी। गो-पूजा एवं श्रृंगार। गायों कोयवन्नादि दान। गो संवर्धन सप्ताह समाप्त। मंगल हस्त नक्षत्र में 22.31 बजे। बुध अनुराधा नक्षत्र में 09.56 बजे।
20 नवंबर
अक्षय नवमी व्रत। जगद्धात्री पूजा। कूष्माण्ड नवमी। त्रेता युगादि (मतान्तर से)। स्वर्णयुक्त कूष्माण्ड दान। मथुरा प्रदक्षिणा। विष्णु त्रिरात्रारम्भ विष्णु प्रतिमा सहित तुलसी पूजा द्वादशी तक, तत्पश्चात्प्रतिमादान। धातृ(आँवला) वृक्ष की परिक्रमा-पूजन-तर्पण, तत्पश्चात् आँवला वृक्ष के नीचे भोजन। सूर्य अनुराधा नक्षत्र में 07.25 बजे।
22 नवंबर
प्रबोधिनी एकादशी व्रत सबका। देवोत्थानी एकादशी। तुलसी विवाहरम्भ। ईख रस का प्राशन। भीष्म पंचकारम्भ। तुलसी विवाहोत्सव। श्री विष्णु त्रिरात्र समाप्त। चातुर्मास्य व्रत- यम-नियमादि समाप्त। द्विदल (दाल) दान। हरिवासर 16.14 बजे से। सूर्य सायन धनुराशि में 21.00 बजे। राष्ट्रीय मार्गशीर्ष मासारम्भ। 23.सोम-मन्वादि। कवि कुल गुरु कालिदास जयन्ती। सोम प्रदोषव्रत (पुत्रार्थियों के लिए श्रेष्ठ है)। हरिवासर 12.18 बजे तक।
24 नवंबर
रोटक व्रत समाप्त। निशीथ काल व्यापिनी चतुर्दशी में वैकुण्ठ चतुर्दशी व्रत। अरुणोदय काल में मणिकर्णिका घाट पर स्नान। निशीथ काल में महाविष्णु पूजा। श्री काशी विश्वनाथ प्रतिष्ठा दिवस। नर्मदेश्वर शिवलिंग को तुलसी पत्र समर्पण। शुक्र चित्रा नक्षत्र में 12.40 बजे।
25 नवंबर
मन्वादि। स्नान-दान-व्रतादि की कृत्तिका नक्षत्रयुता परम पुण्यदायिनी कार्तिकी पूर्णिमा, परम पुण्यकाल 07 .39 बजे से सूर्यास्त तक । रास पूर्णिमा। मत्स्यावतार। भृगुआश्रम (बलिया) ददरीमेंस्नान का विशेष महत्व है।पुष्क रमेला (अजमेर)। रथयात्रा (जैन)। चातुर्मास्य समाप्त। (जैन)। श्री निम्बार्क जयन्ती।श्री गुरु नानक जयन्ती। कार्तिकेय दर्शन। हरिहर क्षेत्र का मेल (सोनपुर)। भीष्म पंचक समाप्त। कार्तिक मासीय व्रत-यम-नियमादि समाप्त। गोपद्म व्रत समाप्त। कार्तिक व्रतोद्यापन देशाचार से। त्रिपुरोत्सव। त्रिपुरा पूर्णिमा। श्री विद्या महामाया राज-राजेश्वरी त्रिपुर सुन्दरी पूर्णिमा। आकाश दीप-दान समाप्त। श्री अष्टभुजी दुर्गा शक्ति पीठ (दुर्गामन्दिर) किदवई नगर कानपुर में महामायाश्री विद्याराजराजेश्वरी त्रिपुर सुन्दरी एवं श्रीयंत्र का महाभिषेक व अर्चन। 15 तिथि क्षय।
26 नवंबर
मार्ग शीर्ष मास कृष्ण पक्षारम्भ। मार्ग शीर्ष मासीय व्रत-यम-नियमादि प्रारम्भ।
27 नवंबर
अशून्य शयन द्वितीया व्रत। बुध ज्येष्ठा नक्षत्र में 21.53 बजे। केतु पूर्वाभाद्रपद नक्षत्र में 27.59 बजे।
28 नवंबर
सौभाग्य सुन्दरी व्रत।गुरू उत्तरा फाल्गुनी नक्षत्र में 20.47 बजे।
29 नवंबर
संकष्टी श्री गणेश चतुर्थी व्रत। चन्द्रोदय 20.36 बजे। ब्रह्मावर्त(बिठूर) में सिद्ध गणेश मंदिर में अभिषेक।
30 नवंबर
सोमवती पंचमी पर्व। शुक्र तुला राशि में 07.49 बजे।

दिन की कौन सी घड़ी है शुभ, जानने के लिए अपने मोबाइल के मेसेज बॉक्स में जाकर टाइप करें ishubh और भेज दीजिए 57272 पर।

दिसंबर सन् 2015

विक्रम संवत् 2072

मार्गशीर्ष कृष्ण षष्ठी से पौष कृष्ण षष्ठी तक

शालिवाहनशक 1937

राष्ट्रीय मार्गशीर्ष 10 से राष्ट्रीय पौष 10 तक

हिजरी सन् 1437

सफर 18 से रवि उल अव्वल 19

2 दिसंबर
चेहल्लुम।
3 दिसंबर
कालाष्टमी। श्री महाकाल भैरवाष्टमी। श्री महाकाल भैरव जयन्ती। सायंकाल अष्टमी में श्रीभैरव जी का दर्शन पूजन। भैरव उत्पत्ति। भैरव जयन्ती। प्रथमाष्टमी (उड़ीसा)। सूर्य ज्येष्ठा नक्षत्र में 11.48 बजे।
5 दिसंबर
शुक्र स्वाती नक्षत्र में 25.03 बजे।
6 दिसंबर
रवि दशमी पर्व। बुध मूल नक्षत्र धनु राशि में 12.03 बजे। 10 तिथि वृद्धि।
7 दिसंबर
उत्पन्ना एकादशी व्रत सबका। वैतरणी व्रत।
8 दिसंबर
भौम प्रदोष व्रत (ऋणापकरण के लिए श्रेष्ठ है)।
9 दिसंबर
मास शिवरात्रि व्रत।आखिरी चहार शम्बा।
10 दिसंबर
महाव्रतारम्भ।
11 दिसंबर
स्नान-दान-श्राद्धादि की अमावस्या। अन्वाधान। कमला जयन्ती। गौरी तप व्रत। शहादते इमाम हसन।
12 दिसंबर
चन्द्रदर्शनम्मु. 30 साम्यर्घ। मार्ग शीर्ष मास शुक्ल पक्षारम्भ। रुद्रव्रत (पीड़िया)। आधीरात के बाद पीड़िया कानदीया तालाब में विसर्जन। मंगल चित्रा नक्षत्र में 14.24 बजे।
13 दिसंबर
हिजरी रवि-उल-अव्वल 3 माह शुरू। बुध उदय पश्चिम में 12.42 बजे।
14 दिसंबर
गुरू गोविन्द सिंह गुरयाई दिवस। बुध पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र में 28.20 बजे। शनि उदय पूर्व में 21.32 बजे।
15 दिसंबर
वैनायकी श्री गणेश चतुर्थी व्रत। भौम अंगार की पर्व। ब्रह्मावर्त (बिठूर) में सिद्ध गणेश मंदिर में अभिषेक।
16 दिसंबर
नागपंचमी व्रत। श्रीराम विवाहोत्सव। स्कन्द षष्ठी व्रत(सायंकालीन षष्ठी में)।गुह्य षष्ठी व्रत। (महाराष्ट्र में प्रसिद्ध है)। मूलक रुपिणी षष्ठी (बंगाल)। गुरु तेग बहादुर (जोतिजोत) बलिदान दिवस। 3 सूर्य की धनु संक्रान्ति एवं सूर्य मूल नक्षत्र में 14.44 बजे। चन्द्र दर्शन मुहुर्त 30 साम्यर्घ। संक्रान्ति का सामान्य पुण्यकाल 08.20 बजे से संक्रान्ति काल तक, तत्पश्चात् विशेष पुण्यकाल संक्रान्ति काल से सूर्यास्त तक। दीप वस्त्र, दान, गोदावरी में स्नान। धनु (खर) मासारम्भ।
17 दिसंबर
चम्पा षष्ठी व्रत। सन्त तारण तरण जयन्ती (जैन) मध्य प्रदेश। श्री अष्टभुजी दुर्गा शक्ति पीठ में श्री अन्नपूर्णा पूजा व प्रसाद वितरण। सौर (धनु) पौष मासारम्भ। शुक्र विशाखा नक्षत्र में 07.17 बजे।
18 दिसंबर
मित्र सप्तमी। भक्त नरसिंह मेहता जयन्ती।
19 दिसंबर
श्री दुर्गाष्टमी व्रत। कल्पादि नवमी। नवमी में नन्दा देवी के पूजन से विष्णु लोक की प्राप्ति। 9 तिथि क्षय।
20 दिसंबर
रवि दशमी पर्व।
21 दिसंबर
मोक्षदा एकादशी व्रत सबका। गीता जयन्ती। मौनी एकादशी(जैन)। वैकुण्ठ एकादशी।
22 दिसंबर
अखण्ड द्वादशी। सूर्य सायन मकर राशि में 10.18 बजे। सूर्य सायन उत्तरायण। सायन शिशिर ऋतुप्रारम्भ। दैत्यों का मध्यान्ह देवताओं की मध्यरात्रि।
23 दिसंबर
प्रदोष व्रत। अनंगत्रयोदशी व्रत। अयन करिदिन। मंगल तुलाराशि में घं.30 मि.00 पर।
24 दिसंबर
पिशाच मोचन चतुर्दशी। कपर्दीश्वर दर्शन पूजन। काशी में पिशाचमोचन पर पार्वण श्राद्ध करने से पिशाच योनि से मुक्ति मिलती है। ईद-एमिलाद (बारावफात)। क्रिसमस ईव (बड़े दिन की पूर्व संध्या)। बुध उत्तराषाढ़ा नक्षत्र में घं.09मि.03 पर।
25 दिसंबर
स्नान-दान व्रतादि की मृगशिरा नक्षत्रयुता परम पुण्यदायिनी अग्रहायणी पूर्णिमा, परम पुण्यकाल सूर्योदय से घं.12 मि.15 तक। श्री विद्या जयन्ती। दत्तात्रेयजयन्ती। श्री दत्तजयन्ती। बत्तीसी पूर्णिमा।गुरु ग्रन्थ साहब का वार्षिकोत्सव। श्री अष्टभुजी दुर्गा शक्ति पीठ (दुर्गामन्दिर) किदवई नगर कानपुर में महामायाश्री विद्या राज राजेश्वरी त्रिपुर सुन्दरी एवंश्रीयंत्र का अभिषेक व अर्चन। मार्गशीर्ष मासीय व्रत-यम-नियमादि समाप्त। क्रिसमसडे (बड़ा दिन)। शुक्र वृश्चिक राशि में घं.15 मि.17 पर।
26 दिसंबर
पौष मास कृष्ण पक्षारम्भ। पौषमासीय व्रत-यमनियमादि प्रारम्भ। बुध मकर राशि में घं.23 मि.56 पर।
28 दिसंबर
संकष्टी श्री गणेश चतुर्थी व्रत (चन्द्रोदय 20.13 बजे)। ब्रह्मावर्त(बिठूर) में सिद्ध गणेश मंदिर में अभिषेक। शुक्र अनुराधा नक्षत्र में 09.32 बजे। शनि ज्येष्ठा नक्षत्र में 15.00 बजे।
29 दिसंबर
ईद-ए-मौलाद। सूर्य पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र में 17.02 बजे।
पंचांग-परिचय

जागरण पंचांग का निर्माण भारत सरकार द्वारा मान्य धर्मसम्मत दृक्पक्षीय गणितानुसार किया गया है। पंचांग में तिथि, नक्षत्र, योगादि की समाप्ति का समय भारतीय स्टैण्डर्ड टाइम (I.S.T.)¸ में है, अत: यह पंचांग सम्पूर्ण भारत में मान्य है। भारतीय काल गणना में वार अथवा दिन का प्रारम्भ सूर्योदय से

माना जाता है। अत: अर्धरात्रि से आगामी सूर्योदय तक के समय को घंटा

मिनट में ( घं.24 से 31तक ) दिया गया है। सनातन धर्मावलम्बी एवं जैन

समाज व्रत-पर्व आदि अपने सम्प्रदाय के आचार्य से परामर्श करके मनाएं

क्योंकि स्थानीय प्रथाओं, विभिन्न पंथों व विभिन्न पंचागों की गणना पद्धतियों

में भेद होने के कारण कभी कभी व्रत-पर्वों की तारीखों में अन्तर हो सकता है। सिख पर्वों को शिरोमणि गुरू द्वारा प्रबन्धक कमेटी द्वारा अनुमोदित

नानक शाही कैलेण्डर के आधार पर प्रकाशित किया गयाहै। मुस्लिम त्योहारों

का अन्तिम निर्णय स्थानीय चन्द्र-दर्शन के अनुसार किया जाएगा।

पंचांगकर्ता: पं. विजय त्रिपाठी ‘विज‘

दिन की कौन सी घड़ी है शुभ, जानने के लिए अपने मोबाइल के मेसेज बॉक्स में जाकर टाइप करें ishubh और भेज दीजिए 57272 पर।

दैनिक राशिफल: Daily Horoscope 6 May, 2015

राशिफल 6 मई 2015,  (daily horoscope) मेष राशिफल (Aries Horoscope) आज किसी को प्रेम प्रस्ताव भेज सकते हैं. प्रेम के लिए दिन अच्छा है. थकान हो सकती है. मेडिकल के छात्रों को अच्छी सफलता मिल सकती है. वृषभ राशिफल (Taurus Horoscope) आज अपने जीवन साथी के साथ कहीं घुमाने जा सकते हैं. [...]