Move to Jagran APP

कौन हैं भगवत गीता पर हाथ रखकर संसद में शपथ लेने वाली लीसेस्टर ईस्ट की सांसद

Shivani Raja हाउस ऑफ कॉमंस में शपथ ग्रहण के दौरान शिवानी राजा के हाथों में गीता की किताब थी। उन्होंने गीता की किताब को अपने हाथ में रखकर सांसद की शपथ ली। इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है। ब्रिटेन में भारतीय समुदायों के बीच शिवानी राजा काफी लोकप्रिय हैं। कंजरवेटिव उम्मीदवार के तौर पर उन्होंने लेबर पार्टी के उम्मीदवार को हराया है।

By Jagran News Edited By: Piyush Kumar Thu, 11 Jul 2024 09:03 AM (IST)
कौन हैं भगवत गीता पर हाथ रखकर संसद में शपथ लेने वाली लीसेस्टर ईस्ट की सांसद
सांसद शिवानी राजा ने ब्रिटिश सांसद में गीता पर हाथ रखकर शपथ ली।(फोटो सोर्स: सोशल मीडिया)

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। ब्रिटेन में 14 सालों बाद लेबर पार्टी की सरकार बनी है। वहीं, इस बार भारतीय मूल के 29 सांसदों को आम चुनाव में जीत मिली। लेबर पार्टी के 19 भारतीय सांसद चुनकर हाउस ऑफ कॉमंस जाएंगे। वहीं, कंजरवेटिव पार्टी से 7 भारतीय मूल के उम्मीदवारों ने चुनाव में जीत हासिल की है।  

इन भारतीय मूल की सांसदों में से एक भारत के गुजराती मूल की उम्मीदवार शिवानी राजा (Shivani Raja) ने लीसेस्टर ईस्ट सीट से जीत हासिल की है। हाउस ऑफ कॉमंस में शपथ ग्रहण के दौरान शिवानी राजा के हाथों में भगवद गीता थी।

उन्होंने गीता की किताब को अपने हाथ में रखकर सांसद की शपथ ली। इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है।

मुझे गीता पर हाथ रख कर शपथ लेने में गर्व है: शिवानी राजा

शपथ ग्रहण समारोह के बाद शिवानी राजा ने अपने एक्स हैंडल पर लिखा,"लीसेस्टर ईस्ट का प्रतिनिधित्व करने के लिए आज सांसद में शपथ लेना सम्मान की बात है। मुझे गीता पर महामहिम राजा चार्ल्स के प्रति अपनी निष्ठा की शपथ लेने पर वास्तव में गर्व है।"

कौन हैं शिवानी राजा

ब्रिटेन में भारतीय समुदायों के बीच शिवानी राजा काफी लोकप्रिय हैं। कंजरवेटिव उम्मीदवार के तौर पर उन्होंने 14,526 वोट हासिल किए और लेबर उम्मीदवार राजेश अग्रवाल से 4,426 वोटों से हराया। शिवानी राजा का जन्म भी लीजेस्टर में हुआ है।

उन्होंने हेरिक प्राइमरी, सोअर वैली कॉलेज, विगेस्टन और क्वीन एलिजाबेथ द्वितीय कॉलेज से पढ़ाई की। वो गुजराती मूल की हैं और उनका परिवार दीव से ताल्लुक रखता है। चुनाव के दौरान उन्होंने ब्रिटेन में गुजरात खासकर दीव के रहने वाले लोगों को लुभाने की खूब कोशिश की।

यह भी पढ़ें: UK Election 2024: ब्रिटेन की संसद में भारतीय मूल के सांसदों का बोलबाला, 29 उम्मीदवारों ने जीता चुनाव; पढ़ें पूरी लिस्ट