इस्‍लामाबाद, एजेंसी। पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने मुल्‍क की चरमराती अर्थव्‍यवस्‍था को दुरुस्‍त करने के लिए करतारपुर कॉरिडोर से आस लगाई है। इमरान खान ने अपनी फेसबुक पोस्‍ट में लिखा है कि यह कॉरिडोर सिख समुदाय के लिए एक प्रमुख धार्मिक केंद्र बनेगा और स्थानीय अर्थव्यवस्था को भी मजबूती देगा। वहीं भारत की सत्‍ताधारी पार्टी भाजपा ने करतारपुर कॉरिडोर के मसले पर ही इमरान खान पर करारा हमला बोला है। 

पीएम इमरान खान ने कहा कि करतारपुर कॉरिडोर पर निर्माण कार्य अंतिम चरण में है और पाकिस्तान दुनिया भर के सिखों के लिए अपने दरवाजे खोलने के लिए तैयार है। यह कॉरिडोर नौ नवंबर 2019 को सार्वजनिक रूप से खुलेगा। दुनिया के इस सबसे बड़े गुरुद्वारे में भारत और दुनिया के बाकी हिस्सों से सिख श्रद्धालु आएंगे। यह न केवल सिख समुदाय के लिए एक प्रमुख धार्मिक केंद्र बनेगा, वरन स्थानीय अर्थव्यवस्था को भी बढ़ावा देगा। 

उधर, पाकिस्‍तानी विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी (Shah Mahmood Qureshi) ने संवादाताओं को बयान दिया कि उन्‍होंने भारत के पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह (Manmohan Singh) को करतारपुर कॅरिडोर (Kartarpur Corridor) के उद्घाटन समारोह में आने का न्‍यौता दिया था जिसे उन्‍होंने स्‍वीकार कर लिया है। कुरैशी ने यह भी दावा किया कि कांग्रेस नेता मनमोहन सिंह ने उनको पत्र लिखकर समारोह में शामिल होने की बात कही है। हालांकि, उन्‍होंने यह भी कहा कि मनमोहन सिंह आम आदमी के तौर पर समारोह में शामिल होंगे, न की विशिष्‍ठ अतिथि के तौर पर...  

बता दें कि रविवार को सुबह पाकिस्‍तानी फौज ने तंगधार सेक्‍टर में भारत के रिहायशी इलाकों को निशाना बनाकर गोलीबारी की जिसमें दो जवान शहीद हो गए जबकि एक नागरिक की भी मौत हो गई। इसके बाद भारतीय सेना की जवाबी कार्रवाई में पाकिस्‍तानी सैनिक एवं आतंकियों की मौत हो गई। पाकिस्तान ने यह हरकत ऐसे वक्‍त में की है जब करतारपुर कॉरिडोर खोले जाने का समय करीब है। जानकारों की मानें तो यदि पाकिस्‍तान ने सीमा पर संयम नहीं बरता तो तनाव और बढ़ेगा जिसकी आंच करतारपुर कॉरिडोर की पहलकदमी तक पहुंच सकती है। 

Posted By: Krishna Bihari Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप