जेनेवा, एजेंसी। पिछले महीने कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद से पाकिस्तान बौखला हुआ है। उसकी बौखलाहट का आलम यह है कि दुनिया भर में मुंह की खाने के बाद भी पाकिस्तान कश्मीर पर रोने से बाज नहीं आ रहा है। इसी कड़ी में बुधवार को पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने एक बार फिर इस मुद्दे पर वैश्रिक समुदाय कि ध्यान खिंचने की नाकाम कोशिश की।

उन्होंने इस दौरान कहा कि अचानक से कभी भी युद्ध हो सकता है। उन्होंने ये भी कहा कि इस मुद्दे को द्विपक्षीय वार्ता से नहीं सुलझाया जा सकता है। उन्होंने साथ ही संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार प्रमुख मिशेल बैशलेट से कश्मीर का दौरा करने का आग्रह किया। कुरैशी ने ये बात जेनेवा में संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद (UNHRC) के 42वें सत्र के इतर मीडिया को संबोधित करते हुए कही। 

हर जगह मात खाने के बाद युद्ध का राग
गौरतलब है कि मंगलवार को पाकिस्तान के कथित मानवाधिकार उल्लंघन के दावों को भारत ने खारिज कर दिया। साथ ही कहा कि कश्मीर में तेजी से हालात सुधर रहे हैं। भारत इस मुद्दे पर कहा है कि यह द्विपक्षीय मुद्दा है और किसी भी तीसरे पक्ष की जरूरत नहीं है। वहीं पाकिस्तान इसके इतर राग अलापता रहा है और उसे अभी तक इसमें मुंह की खानी पड़ी है। बुधवार को संयुक्त राष्ट्र ने कश्मीर पर मधस्थता की अपील ठुकरा दी। यही वजह है कि कुरैशी ने हर जगह मात खाने के बाद दोनों देशों के बीच युद्ध की बात कही।

अप्रत्याशित युद्ध से इनकार नहीं किया जा सकता
कुरैशी ने इस दौरान कहा कि उनका मानना है कि पाकिस्तान और भारत दोनों देश जंग के नतीजों को समझते हैं। लेकिन कश्मीर पर भारत सरकार द्वारा लिए गए फैसले की वजह से दोनों देशों में तनाव बढ़ गया है, ऐसे में अप्रत्याशित युद्ध से इनकार नहीं किया जा सकता। अगर हालात ऐसे ही बने रहे तो कुछ भी हो सकता है। 

अमेरिका मुद्दा सुलझाने में मदद करे
कुरैशी ने कहा कि उन्होंने बैशलेट से बात की है और उनसे इस क्षेत्र का दौरा करने की अपील की है। उन्हें इस क्षेत्र का दौरा करना चाहिए और निष्पक्षता से रिपोर्ट देनी चाहिए, ताकि दुनिया को पता चले कि असल हालात क्या हैं। इस दौरान उन्होंने तनाव कम करने के लिए द्विपक्षीय वार्ता की संभावना से इनकार किया। उन्होंने कहा कि इस मु्द्दे को सुलाझाने में अगर अमेरिका इस भूमिका को निभाता है, तो यह महत्वपूर्ण हो सकता है क्योंकि उसका क्षेत्र में काफी प्रभाव रहा है।'

यह भी पढ़ें:  बलूचिस्तान के मानवाधिकार नेता ने खोली PAK आर्मी की पोल, कहा- बलूचों का कत्लेआम किया, हमें लूटा

यह भी पढ़ें: लद्दाख बॉर्डर पर भारत और चीनी सेना फिर आमने-सामने, सैनिकों के बीच हुई धक्का-मु्क्की

यह भी पढ़ें: संयुक्त राष्ट्र से पाकिस्तान को फिर करारा झटका, कश्मीर पर ठुकराई मध्यस्थता की अपील

Posted By: Tanisk

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप