वाशिंगटन, एजेंसी। रूस और यूक्रेन के बीच पिछले कई महीनों से जारी जंग अभी भी जारी है। रूस की तरफ से लगातार यूक्रेन पर मिसाइल हमले किए जा रहे हैं। इन्हीं हमलों के बीच मंगलवार को एक मिसाइल पोलैंड में गिर गई। इस घटना में पोलैंड के दो नागरिकों की मौत हो गई। दावा किया जा रहा था कि रूस ने पोलैंड पर मिसाइल अटैक किया है। हालांकि, प्रारंभिक जांच में कुछ और ही सामने आया है।

समाचार एजेंसी एपी ने अमेरिका अधिकारियों का हवाला देते हुए कहा कि पोलैंड में गिरने वाली मिसाइल यूक्रेन की थी। एजेंसी ने बताया कि शुरुआती निष्कर्षों से पता चलता है कि पोलैंड में जो मिसाइल गिरी थी, वो यूक्रेन की है। दरअसल, यूक्रेनी सेना ने मिसाइल को रूस के हमले का जवाब देने के लिए दागा था, लेकिन ये गलती से पोलैंड में गिर गई।

रूसी मिसाइल होने की संभावना कम- बाइडन

गौरतलब है कि अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने भी पोलैंड में गिरी मिसाइल के रूसी मिसाइल होने की कम संभावना जताई थी। जी20 सम्मेलन में हिस्सा लेने इंडोनेशिया के बाली गए बाइडन ने कहा था कि घटना की जांच की जा रही है। साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि इस बात की संभावना कम है कि मिसाइल रूसी सैनिकों ने दागी हैं।

रूस का हमले से इन्कार

उधर रूस ने भी पोलैंड पर हमले से इन्कार किया था। रूस के रक्षा मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि यूक्रेन, पोलैंड की सीमा के पास के ठिकानों पर कोई हमला रूस की तरफ से नहीं किया गया है।

जी7 नेताओं ने की चर्चा

पोलैंड में मिसाइल गिरने को लेकर जी20 शिखर सम्मेलन के लिए इकट्ठा हुए जी7 नेताओं ने इस पर चर्चा की। जी7 और नाटो की ओर से संयुक्त बयान जारी किया गया। इस बयान में कहा गया कि हमने पोलैंड में हुए मिसाइल धमाके पर बातचीत की। हम पोलैंड को इसकी जांच में पूरा सहयोग करने का प्रस्ताव देते हैं। हम पोलैंड के साथ संपर्क में रहेंगे।'

ये भी पढ़ें:

पीएम मोदी की बाइडन को 'राम-राम', दोनों ने एक-दूसरे को हाथ उठाकर किया अभिवादन

जेलेंस्की का दावा, रूसी मिसाइलों ने यूक्रेन के बिजली संयंत्रों को पहुंचाया नुकसान; लाखों लोग रह रहे अंधेरे में

Edited By: Manish Negi

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट