ब्रूसेल्स, पीटीआइ। केंद्रीय विदेश मंत्री एस जयशंकर इन दिनों बेल्जियम दौरे पर हैं। इस दौरान उन्होंने यूरोपीय संघ के शीर्ष नेताओं से मुलाकात कर मुख्य मुद्दों पर बात की। इस बैठक में आर्थिक सहयोग, जलवायु परिवर्तन और क्षमता निर्माण सहित कई मुद्दों पर व्यापक बातचीत हुई, जिससे "भारत और यूरोपीय संघ दोनों को लाभ होगा"।

सप्ताहंत में म्यूनिख सुरक्षा सम्मेलन में हिस्सा लेने गए जयशंकर सोमवार को बेल्जियम पहुंचे। अगले महीने होने वाले भारत-यूरोपीय संघ शिखर सम्मेलन के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रस्तावित दौरे की तैयारियों को अंतिम रूप देने के लिए वो यहां आए हैं।

विदेश मंत्री ने अंतर्राष्ट्रीय भागीदारी के लिए यूरोपीय संघ के आयुक्त जुट्टा उरपिलीन (Jutta Urpilainen) से मुलाकात की और दोनों नेताओं ने क्षमता निर्माण और विकास साझेदारी में अनुभवों पर चर्चा की। जयशंकर ने ट्वीट किया, "इन मुद्दों पर समन्वय भारत और यूरोपीय संघ दोनों के लिए लाभकारी होगा।"

विदेश मंत्री ने कहा, "विदेश मंत्रियों, राजदूतों और वरिष्ठ अधिकारियों और सभी मानव संसाधन (उच्च प्रतिनिधि) @JosepBorrellF को धन्यवाद। इस महत्वपूर्ण साझेदारी को मजबूत करने के लिए मिलकर काम करने की उम्मीद है।" उन्होंने व्यापार के लिए यूरोपीय संघ के आयुक्त फिल होगन से भी मुलाकात की और "भारत-यूरोपीय संघ के आर्थिक सहयोग के लिए संभावनाओं पर विचारों का आदान-प्रदान किया।" उन्होंने यूरोपीय संघ के अध्यक्ष चार्ल्स मिशेल की यूरोपीय संघ और यूरोपीय संघ-भारत संबंधों के लिए उनकी दृष्टि की सराहना की और विश्वास व्यक्त किया कि "उनका (मिशेल) नेतृत्व इसे महत्वपूर्ण परिणामों में बदल सकता है।"

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अगले महीने 15 मार्च को ब्रूसेल्स में आयोजित होने जा रहे भारत-यूरोपीय संघ समिट में हिस्सा लेने जा रहे हैं।

Posted By: Neel Rajput

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस