शर्म अल शेख, रायटर । पाकिस्तान (Pakistan), घाना (Ghana) और बांग्लादेश (Bangladesh) जलवायु आपदाओं से पीड़ित देशों को वित्त पोषण प्रदान करने के लिए G7 'ग्लोबल शील्ड' पहल से धन प्राप्त करने वाले देशों में शामिल हैं। इस कार्यक्रम की घोषणा सोमवार को मिस्र में COP27 शिखर सम्मेलन में की गई।

G7 के अध्यक्ष जर्मनी द्वारा समन्वित ग्लोबल शील्ड का उद्देश्य जलवायु-संवेदनशील देशों के लिए बाढ़ या सूखे के बाद बीमा और आपदा सुरक्षा फंडिंग के लिए तेजी से पहुंच प्रदान करना है। इसे 58 जलवायु संवेदनशील अर्थव्यवस्थाओं के 'वी20' समूह के सहयोग से विकसित किया जा रहा है।

जर्मनी द्वारा सोमवार को जारी एक बयान में बांग्लादेश, कोस्टा रिका (Costa Rica), फिजी (Fiji), घाना, पाकिस्तान, फिलीपींस (Philippines) और सेनेगल (Senegal) को ग्लोबल शील्ड पैकेज के शुरुआती प्राप्तकर्ता के रूप में सूचीबद्ध किया गया है। जर्मनी ने कहा कि आने वाले महीनों में उन पैकेजों को विकसित किया जाएगा। जी-7 में अमेरिका, ब्रिटेन, फ्रांस, जर्मनी, कनाडा, जापान और इटली शामिल हैं।

इंडोनेशिया में G20 शिखर सम्मेलन का आयोजन

इंडोनेशिया में G20 शिखर सम्मेलन का आयोजन किया जाना है। इसमें शामिल होने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सोमवार को इंडोनेशिया के लिए रवाना हो गए। इससे पहले, पीएम मोदी ने कहा कि वे शिखर सम्मेलन के दौरान द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत करने का काम करेंगे।

ये भी पढ़ें: G20 Summit 2022: पीएम मोदी का एलान: 'वसुधैव कुटुम्बकम' की थीम के साथ भारत में आयोजित होगा जी20 सम्मेलन

बैठक में उठेगा रूस-यूक्रेन युद्ध

जी-20 शिखर सम्मेलन के दौरान ब्रिटिश प्रधानमंत्री ऋषि सुनक रूस और यूक्रेन के बीच जारी जंग का मुद्दा उठाएंगे। इन सबके बीच, सभी की निगाहें चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग और अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइजन के बीच होने वाली बैठक पर होगी। माना जा रहा है कि इस बैठक में दोनों नेता ताइवान, रूस-यूक्रेन युद्ध और उत्तर कोरिया के मुद्दे पर बातचीत कर सकते हैं।

ये भी पढ़ें: इंडोनेशिया के बाली से बढ़ेगा विश्‍व का राजनीतिक पारा, वजह है G-20 Summit और इसमें मौजूद बाइडन, शी और लावरोव

Edited By: Achyut Kumar

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट