Move to Jagran APP

Japan Earthquake Photos: मकान ढहे, सड़कों पर दरार; धंसी हुई गाड़ियां, तस्वीरों में देखें तबाही का मंजर

सिलसिलेवार भूकंपीय गतिविधियों के बाद 34000 घरों में बिजली की आपूर्ति बंद हो गई है। मध्य जापान में कई प्रमुख राजमार्ग बंद करने पड़े हैं क्योंकि भूकंप के कारण सड़कों में बड़ी दारारें पड़ गई हैं। जापान एयरलाइंस ने अगले आदेश तक के लिए निगाटा और इशिकावा क्षेत्रों के लिए अपनी अधिकांश उड़ानें रद्द कर दी हैं। इससे पहले 2011 में एक बड़ा भूकंप और सुनामी आई थी।

By Jagran News Edited By: Shalini Kumari Tue, 02 Jan 2024 12:01 PM (IST)
जापान में कई क्षेत्रों में दिखा तबाही का मंजर ()

ऑनलाइन डेस्क,नई दिल्ली। नया साल जापान के लिए अपने साथ तबाही लेकर आया है। कई इलाकों में शाम चार बजे के बाद 4 से अधिक की तीव्रता वाले 21 भूकंपीय झटके लगे। इनमें से एक की तीव्रता 7.6 दर्ज की गई।

इस भीषण भूकंप के बाद समुद्र में ऊंची लहरें उठने लगी और सड़कों पर भी दरार पड़ गए। सुनामी की एक मीटर तक ऊंची लहरें अभी भी उठ रही हैं। प्रभावित क्षेत्र के लोग काफी दहशत में हैं। तस्वीरों में तबाही का मंजर साफ-साफ नजर आ रहे।

तस्वीरों में देखें तबाही का मंजर

24 घंटे में 155 बार भूकंप के झटके महसूस किए गए, जिसमें 7.6 की तीव्रता वाला भूकंप सबसे खतरनाक साबित हुआ। जगह-जगह इस भीषण भूकंप के कारण सड़कों पर दरार पड़ चुके हैं। यहां तक कि भूकंप के कारण रनवे में दरार आने के बाद एक स्थानीय हवाई अड्डे को बंद कर दिया गया है।

कई जगह सड़कों के बीच आई दरार गाड़ियों को निगल गई, तो वहीं कई जगह बीच दरार में लोगों की गाड़ियां फंसी हुई थी। हालांकि, धीरे-धीरे इन सबको निकालने की कोशिश की जा रही है।

रिक्टर स्केल पर कई भूकंप की तीव्रता 4 के पार दर्ज की गई है। वहीं 7.6 वाले भूकंप ने सबस भयावह मंजर दिखाया है। कई घरों के दो टुकड़े हो गए, तो कुछ घरों में काफी नुकसान हुआ है। 

भूकंप के बाद जगह-जगह पेड़ और खंभे गिरे पड़े देखे गए हैं। खंभ गिरने से कई इलाकों में बिजली भी गुल हो गई है, जिसकी बहाली का काम किया जा रहा है। हजारों लोगों को अंधेरे में अपना नया साल बिताना पड़ा है। 

भूकंप के बाद जापान के इशिकावा प्रान्त में आग लग गई थी। जापानी बचावकर्मियों ने 2 जनवरी को नए साल के दिन आए एक बड़े भूकंप से बचे लोगों को खोजने की काफी कोशिश की। हालांकि, इस हादसे में छह लोगों की मौत हो गई।

सरकार ने लोगों से आग्रह किया है कि जितनी जल्दी हो सके ऊंचे स्थानों या इमारतों में शरण ले लें। जापान मौसम विज्ञान एजेंसी का कहना है कि अगले दो या तीन दिनों में इस क्षेत्र में और बड़े भूकंप आने की संभावना है।

यह भी पढ़ें: Japan Earthquake: नए साल की खुशियों पर लगा 'ग्रहण', भूकंप के बाद समुद्री लहरों में उफान; सुनामी का अलर्ट जारी

2 जनवरी, 2024 को जापान के इशिकावा प्रान्त के वाजिमा में आए भूकंप के बाद आग से जले हुए क्षतिग्रस्त बाजार और रास्तों से डराने वाली तस्वीरें सामने आई हैं। इस भूकंप में कई इमारतें, वाहन और नौकाए क्षतिग्रस्त हो गई हैं।

1 जनवरी, 2024 को आए भूकंप से अनामिज़ु टाउन, इशिकावा प्रान्त के पास आंशिक रूप से सड़कें ध्वस्त हो गईं और सड़क पर ट्रैफिक जाम देखा गया। कई अधिकारियों ने कुछ लोगों को चेतावनी दी है कि अधिक तीव्र भूकंपों के खतरे के कारण कुछ दिनों तक सुरक्षित स्थानों पर शरण लें।

जापान के इशिकावा प्रान्त के अनामिज़ु में भूकंप के बाद, मुफ्त में सामान लेने की अनुमति मिलने के बाद लोग क्षतिग्रस्त दवा की दुकान की अलमारियों से सामान उठाते नजर आएं। दरअसल, कई स्थानों पर भारी क्षति के कारण मुफ्त राशन और दवाओं की सुविधा दी गई है।

फिलहाल, जापान के कई क्षेत्रों में अभी भी रेस्क्यू ऑपरेशन चल रहा है। साथ ही, उम्मीद जताई जा रही कि मरने वालों की संख्या अभी और बढ़ सकती है। कई इलाकों में भीषण भूकंप की आवश्यकता है, ऐसे में सबको सावधान रहने को कहा गया है।

यह भी पढ़ें: Japan Earthquake Live Update: भूकंप के बाद समुद्र में उफान और सड़कों पर दरार, भारतीयों के लिए हेल्पलाइन नंबर जारी; बड़ी बातें