Move to Jagran APP

कोविड-19 को लेकर जापान अलर्ट मोड पर, चीन से आने वाले सभी यात्रियों की हो रही जांच

चीन में बढ़ते कोविड-19 मामलों को लेकर जापान की सरकार अलर्ट हो गई है। शुक्रवार से जापान आने वाले सभी यात्रियों की जांच हो रही है। बता दें जापान में गुरुवार को रिकॉर्ड 420 लोगों की संक्रमण की वजह से मौत हुई है।

By AgencyEdited By: Achyut KumarPublished: Fri, 30 Dec 2022 02:33 PM (IST)Updated: Fri, 30 Dec 2022 02:33 PM (IST)
Covid19 cases in Japan: चीन में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के लेकर जापान अलर्ट

टोक्यो, एपी। चीन में कोरोना वायरस का कहर जारी है। लाखों लोग हर दिन वायरस से संक्रमित हो रहे हैं। चीन में कोरोना वायरस के संक्रमण को लेकर जापान भी अलर्ट मोड पर आ गया है। जापान ने शुक्रवार से चीन से आने वाले सभी यात्रियों के लिए कोविड-19 जांच शुरू कर दी है। जापान में भी संक्रमण की वजह से कई लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी है। 

loksabha election banner

जापान में रिकॉर्ड  मौतें

स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार,  जापान में गुरुवार को रिकॉर्ड 420 लोगों की संक्रमण की वजह से मौत हुई है। इससे पहले, बुधवार को यहां 415 लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी थी। इससे पहले, अगस्त में कोरोना की वजह से 300 से अधिक लोगों की हर दिन मौत हो रही थी। विशेषज्ञों का कहना है कि मौत में इजाफा किस वजह से हो रहा है, यह अभी पता नहीं चल सका है।

यह भी पढ़ें: Covid-19: चीन में अभी और कहर बरपाएगा कोरोना! इस हफ्ते एक दिन में 3.7 करोड़ लोगों के पॉजिटिव होने की संभावना

जापान ने सीमा उपायों को किया कड़ा

जापान ने शुक्रवार को अपने सीमा उपायों को कड़ा कर दिया। चीन से आने वाले सभी लोगों के लिए COVID-19 जांच शुरू कर दिया गया है। उनका एंटीजन टेस्ट किया जा रहा है। पॉजिटिव लोगों को सात दिनों तक के लिए अलग-थलग रखा जाएंगे और उनके नमूनों का उपयोग जीनोम विश्लेषण के लिए किया जाएगा।

जापान ने विमानों को उतरने की दी सशर्त अनुमति

सरकारी अधिकारियों ने कहा कि चीन और जापान के बीच सीधी उड़ानें अभी चार प्रमुख जापानी हवाई अड्डों तक सीमित रहेंगी। हांगकांग और मकाओ से उड़ानों को तीन अन्य हवाई अड्डों - होक्काइडो में न्यू चिटोज हवाई अड्डे, फुकुओका हवाई अड्डे और ओकिनावा में नाहा हवाई अड्डे पर उतरने की अनुमति दी जाएगी, बशर्ते कि कोई भी यात्री उड़ान से पहले सात दिनों के भीतर मुख्य भूमि चीन न गया हो।

हांगकांग ने प्रतिबंधों को बताया 'अनुचित'

हांगकांग के अधिकारियों ने प्रतिबंधों को 'अनुचित' कहा और जापानी अधिकारियों से उन्हें वापस लेने का अनुरोध किया। हांगकांग और मकाओ से उड़ानों के लिए तीन हवाई अड्डों को जोड़ने से पहले अधिकारियों ने कहा कि दिसंबर और जनवरी 2023 के बीच 60 हजार यात्री और लगभग 250 उड़ानें प्रभावित होंगी।

इन देशों ने अनिवार्य की कोविड जांच

भारत, इटली, दक्षिण कोरिया और ताइवान ने भी चीन से आने वाले यात्रियों के लिए कोविड-19 जांच अनिवार्य कर दिया है। संयुक्त राज्य अमेरिका ने बुधवार को कहा कि उसे 5 जनवरी से चीन से आने वाले सभी यात्रियों के परीक्षण की आवश्यकता होगी।

दक्षिण कोरिया ने शुक्रवार को घोषणा की कि उसे चीन के यात्रियों को 5 जनवरी से प्रस्थान के 48 घंटे के भीतर नकारात्मक पीसीआर परीक्षण परिणाम या 24 घंटे के भीतर रैपिड एंटीजन परीक्षण दिखाने की भी आवश्यकता होगी। दक्षिण कोरिया चीन से उड़ानों की संख्या को भी सीमित करेगा और कम से कम फरवरी के अंत तक, राजनयिक, आवश्यक व्यवसाय या मानवीय कारणों से आने वालों को छोड़कर, चीनी नागरिकों के लिए अल्पकालिक वीजा को प्रतिबंधित करेगा।

थाईलैंड के अधिकारियों ने कहा कि वे एक नकारात्मक वायरस परीक्षण और चीन से यात्रियों पर अन्य प्रतिबंधों पर विचार कर रहे थे। चीन ने 2020 की शुरुआत में COVID-19 महामारी की शुरुआत में विदेशियों को वीजा और अपने ही लोगों को पासपोर्ट जारी करना बंद कर दिया था।

ये भी पढ़ें:

BF.7 अनियंत्रित होने पर हो सकता है खतरनाक, बूस्टर ही है बचाव

Fact Check : WHO नहीं, बल्कि ‘वर्ल्ड डॉक्टर्स अलायंस’ की बैठक की है यह वीडियो


Jagran.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरेंWhatsApp चैनल से जुड़ें
This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.