Move to Jagran APP

Covid-19: चीन में अभी और कहर बरपाएगा कोरोना! इस हफ्ते एक दिन में 3.7 करोड़ लोगों के पॉजिटिव होने की संभावना

कोरोना संक्रमण से चीन में कोहराम मचा हुआ है लेकिन आने वाले दिनों में ये अभी और कहर बरपाने वाला है। स्वास्थ्य अधिकारियों के मुताबिक इस हफ्ते एक दिन में लगभग 3.7 करोड़ लोग कोविड-19 से संक्रमित हो सकते हैं।

By AgencyEdited By: Manish NegiPublished: Fri, 30 Dec 2022 02:13 PM (IST)Updated: Fri, 30 Dec 2022 02:13 PM (IST)
Covid-19 चीन में अभी और कहर परपाएगा कोरोना!

बीजिंग, एजेंसी। चीन में एक बार फिर कोरोना महामारी ने लोगों को डराना शुरू कर दिया है। सरकार के शीर्ष स्वास्थ्य प्राधिकरण के अनुमान के मुताबिक, चीन में इस सप्ताह एक दिन में लगभग 3.7 करोड़ लोग कोविड-19 से संक्रमित हो सकते हैं।

loksabha election banner

चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग की बुधवार को आंतरिक बैठक हुई थी। इसमें बताया गया कि दिसंबर के पहले 20 दिनों में कम से कम 24.8 करोड़ लोग यानी लगभग 18 फीसदी आबादी के वायरस से संक्रमित होने की आशंका है। यदि यह सही है, तो इस बार का प्रकोप जनवरी 2022 में लगभग 40 लाख लोगों के रोजाना संक्रमित होने की दर के रिकॉर्ड को पीछे छोड़ देगा।

जीरो कोविड पॉलिसी खत्म करने से तेजी से फैला वायरस

चीनी स्वास्थ्य नियामक ने यह अनुमान कैसे दिया है, फिलहाल यह स्पष्ट नहीं है। मगर, बीजिंग ने जीरो कोविड पॉलिसी को अचानक खत्म कर दिया है। इसकी वजह से कम प्राकृतिक प्रतिरक्षा वाली आबादी में अत्यधिक संक्रामक ओमिक्रोन वैरिएंट बहुत तेजी से फैला है। एजेंसी के अनुमान के अनुसार, चीन के दक्षिण-पश्चिम में सिचुआन प्रांत और राजधानी बीजिंग के आधे से अधिक लोग इस वायरस से संक्रमित हो गए हैं।

पीसीआर टेस्टिंग बूथों के नेटवर्क को किया बंद

दरअसल, चीन ने इस महीने की शुरुआत में सभी जगह मौजूद अपने पीसीआर टेस्टिंग बूथों के नेटवर्क को बंद कर दिया था। महामारी के दौरान अन्य देशों में संक्रमण की सटीक दर का पता लगाना मुश्किल हो गया था। मुश्किल से मिलने वाली प्रयोगशाला टेस्टिंग की जगह होम टेस्टिंग हो रही थी, जिसके आंकड़ों को केंद्रीय रूप से एकत्र नहीं किया गया था।

दिसंबर से जनवरी के अंत के बीच आएगा कोरोना का पीक

चीन में लोग अब संक्रमण का पता लगाने के लिए रैपिड एंटीजन टेस्ट का उपयोग कर रहे हैं। वे पॉजिटिव पाए जाने के बाद इसकी रिपोर्ट देने के लिए बाध्य नहीं हैं। इस बीच सरकार ने एसिम्पटोमैटिक मामलों की रोजाना संख्या बताना बंद कर दिया है।

डेटा कंसल्टेंसी MetroDataTech के मुख्य अर्थशास्त्री चेन किन ने ऑनलाइन कीवर्ड खोजों के विश्लेषण के आधार पर एक मॉडल बनाया है। इसके आधार पर वह कह रहे हैं कि अधिकांश शहरों में दिसंबर के मध्य और जनवरी के अंत के बीच चीन की वर्तमान लहर का पीक देखने को मिलेगा।

मौतों की संख्या के बारे में नहीं बताया

बैठक के मिनटों में इस बात पर ध्यान नहीं दिया गया कि कितने लोग मारे गए हैं। उन्होंने एनएचसी के प्रमुख मा शियाओवेई का हवाला दिया, जिन्होंने कोविड से होने वाली मौतों की गणना करने के लिए इस्तेमाल की जाने वाली नई और बहुत संकीर्ण परिभाषा को दोहराया। हालांकि, उन्होंने यह स्वीकार किया कि वायरस तेजी से फैलता है, तो मौतें निश्चित रूप से होंगी। मगर, उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि केवल कोविड की वजह से होने वाले निमोनिया से मरने वाले लोगों की संख्या को मृत्यु दर के आंकड़ों में शामिल किया जाना चाहिए।

ये भी पढ़ें:

निफ्टी 21,000 तो सोना 62 हजार तक जा सकता है, रियल एस्टेट पर बढ़ती ब्याज दराें और अमेरिकी मंदी का खतरा

Fact Check: राहुल गांधी ने हिंदुस्तानी छात्रों के अमेरिका जाकर भारत का झंडा लहराने की बात की थी, वायरल वीडियो क्लिप एडिटेड और दुष्प्रचार


Jagran.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरेंWhatsApp चैनल से जुड़ें
This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.