बीजिंग, एजेंसी। आर्थिक संकट के बीच चीन सूखे की मार से भी जूझ रहा है। तापमान रिकॉर्ड बना रहा है। फसलें बर्बाद हो रही हैं। जलाशय सूख रहे हैं। नदियों का जलस्तर घट रहा है। देश के हालात चीनी सरकार के होश उड़ा रहे हैं। चीनी सरकार के सामने सूखे से निपटना किसी चुनौती से कम नहीं है क्योंकि इसका सीधा कनेक्शन देश की अर्थव्यवस्था से है।

17 से अधिक प्रांतों में पड़ा सूखा

17 से अधिक प्रांतों में 90 करोड़ से अधिक लोग भीषण गर्मी से प्रभावित हैं। जिससे इसकी खाद्य और ऊर्जा सुरक्षा पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ा है। जस्टअर्थ न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार, चीन की सबसे बड़ी ताजे पानी की झील पोयांग झील और यांग्त्ज़ी नदी बेसिन (वाईआरबी) के अन्य क्षेत्रों में भी पानी के स्तर में गिरावट जारी है।

खाद्य सुरक्षा में आयी गिरावट

इसने चीन के जल और खाद्य सुरक्षा के साथ-साथ जलविद्युत उत्पादन में गिरावट आयी है। बिजली की कमी के साथ-साथ देश की ऊर्जा सुरक्षा के साथ मुद्दों को प्रस्तुत किया है। कहा जा रहा है कि 1961 के बाद चीन में सबसे ज्यादा गर्मी रही है। जस्टअर्थ समाचार की रिपोर्ट के अनुसार, तीव्र मौसम के परिणामस्वरूप सूखा हुआ है। चीन में यह गर्मी और अभी भी बदतर होता जा रहा है।

असाधारण वैश्विक खाद्य संकट और देश के जटिल भू-राजनीतिक परिदृश्य के आलोक में चीन के खाद्य सुरक्षा मुद्दे पर चिंताएं पहले से ही बढ़ रही हैं। हाल के महीनों में, चीन के वरिष्ठ अधिकारियों ने देश की खाद्य सुरक्षा के संरक्षण के रणनीतिक महत्व पर कई बार जोर दिया है।

राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने अनाज की सुरक्षा का किया आग्रह

जस्टअर्थ न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार, राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने खाद्य सुरक्षा को सार्वजनिक रूप से चीन की राष्ट्रीय सुरक्षा से जोड़ने के बाद अनाज की सुरक्षा और खेतों को बढ़ते घरेलू उत्पादन से बचाने के लिए आग्रह किया है। YRB चीन की खाद्य सुरक्षा के लिए महत्वपूर्ण है क्योंकि यह देश के लगभग 50 प्रतिशत अनाज का उत्पादन करता है।

चीन में जल संसाधन के उप मंत्री लियू वेपिंग के अनुसार, चीन की शरद ऋतु की फसल 'गंभीर चरण' में है।जस्टअर्थ न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार, सिचुआन के 50 प्रतिशत तक जलाशय सूखे के कारण सूख गए हैं, जिसका प्रांत के जलविद्युत उत्पादन और निर्यात पर असर पड़ा है।

यह भी पढ़ें- दुनियाभर में अवैध केंद्रों के जरिये अपने नागरिकों पर नजर रख रहा चीन, मानवाधिकार संगठनों की चिंता बढ़ी

यह भी पढ़ें- शी चिनफिंग एससीओ शिखर सम्मेलन से लौटने के बाद पहली बार आए नजर, सभी अटकलों पर लगा विराम

Edited By: Babli Kumari

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट