Move to Jagran APP

ड्रैगन का दुस्साहस! अपनी नापाक हरकतों से बाज नहीं आ रहा चीन, अरुणाचल प्रदेश पर किया फिर से खोखला दावा; भारत को अब दी ये धमकी

चीन बार-बार दावा करता रहता है कि अरुणाचल प्रदेश उसका हिस्सा है जबकि भारत ने बीजिंग के दावे को हमेशा से बेतुका और हास्यास्पद करार दिया है। इस बीच एक बार फिर चीन ने अरुणाचल प्रदेश को लेकर बेतुका बयान दिया है। भारत द्वारा अरुणाचल प्रदेश में विकास कार्य चल रहा है जिसको लेकर चीन ने कहा कि भारत को यह करने का अभी अधिकार नहीं है।

By Jagran News Edited By: Babli Kumari Wed, 10 Jul 2024 07:02 PM (IST)
भारत के तेजपुर-तवांग राजमार्ग पर काम करते मजदूर (फाइल फोटो)

रॉयटर्स, बीजिंग। चीन के विदेश मंत्रालय ने बुधवार को कहा कि भारत को उस क्षेत्र में विकास कार्य करने का कोई अधिकार नहीं है। चीन अरुणाचल प्रदेश को दक्षिण तिब्बत कहता है। यह बात न्यूज एजेंसी रॉयटर्स की उस रिपोर्ट पर प्रतिक्रिया देते हुए कही गई जिसमें सीमावर्ती राज्य अरुणाचल प्रदेश में जलविद्युत परियोजनाओं में तेजी लाने की भारत की योजना के बारे में बताया गया।

रॉयटर्स ने मंगलवार को बताया कि भारत पूर्वोत्तर हिमालयी राज्य में 12 जलविद्युत स्टेशनों के निर्माण में तेजी लाने के लिए 1 बिलियन डॉलर खर्च करने की योजना बना रहा है।

अरुणाचल प्रदेश देश भारत का अभिन्न अंग

भारत के विदेश मंत्रालय ने चीन के बयान पर टिप्पणी के अनुरोध का तुरंत जवाब नहीं दिया। भारत का कहना है कि उसका सुदूरवर्ती राज्य अरुणाचल प्रदेश देश का अभिन्न अंग है, लेकिन चीन का कहना है कि यह दक्षिणी तिब्बत का हिस्सा है और उसने वहां भारतीय बुनियादी ढांचा परियोजनाओं पर आपत्ति जताई है।

विदेश मंत्री जयशंकर ने की थी चीनी समकक्ष से मुलाकात

पिछले सप्ताह भारत के विदेश मंत्री सुब्रह्मण्यम जयशंकर ने कजाकिस्तान में अपने चीनी समकक्ष वांग यी से मुलाकात की थी। इस मुलाकात के दौरान दोनों ने नेताओं ने अपनी सीमा पर मुद्दों को हल करने के प्रयासों को तेज करने पर सहमति व्यक्त की।

यह भी पढ़ें- PM Modi Austria Visit: 'निर्दोष लोगों की हत्या बर्दाश्त नहीं', पीएम मोदी बोले- बातचीत से ही रुकेगा यूक्रेन में युद्ध

यह भी पढ़ें- US Presidential Election: कमला हैरिस ने डोनाल्ड ट्रंप पर लगाया आरोप, कहा- अगल वो फिर राष्ट्रपति बने तो लोकतंत्र को तानाशाही में बदल देंगे