वाशिंगटन, पीटीआइ। अमेरिका ने एक बार फिर आतंकवाद को लेकर पाकिस्तान को चेतावनी दी है। अमेरिका ने कहा है कि भारत में एक और आतंकी हमला उसके लिए गंभीर संकट पैदा कर देगा। इसके अलावा उसने पाकिस्तान से उसकी सरजमीं पर फल-फूल रहे आतंकवाद पर कार्रवाई करने की मांग की है। 

वाइट हाउस के एक अधिकारी ने कहा, 'हम पाकिस्तान को अपने क्षेत्र में सक्रिय जैश-ए-मुहम्मद और लश्कर-ए-तैयबा जैसे आतंकी संगठनों के खिलाफ कार्रवाई देखना चाहते हैं। पाकिस्तान को इनके खिलाफ कार्रवाई करनी होगी। ताकि इस क्षेत्र में एक बार फिर से तनाव की स्थिति पैदा न हो।'

अधिकारी ने यह भी कहा कि अगर पाकिस्तान इनके खिलाफ कार्रवाई नहीं करता है और भारत में एक आतंकी हमला होता है इससे पाकिस्तान गंभीर परिणाम भुगतना पड़ सकता है। इसके अलावा व्हाइट हाउस ने हाल के दिनों में पाकिस्तान ने कुछ शुरुआती कदम उठाए हैं, लेकिन इसका अभी आकलन करना जल्दबाजी होगी। 

इसके अलावा अधिकारी ने कहा कि बालाकोट में भारतीय वायु सेना की एयर स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान ने कुछ आतंकी संगठनों की संपत्तियां जब्त की हैं। कुछ को गिरफ्तार भी किया है। इसके अलावा जैश के कुछ ठिकानों को प्रशासन ने अपने कब्जे में लिया है। पाकिस्तान को आतंक के खिलाफ और ठोस कदम उठाने की जरूरत है। 

अधिकारी ने कहा कि पाकिस्तान को यह तय करने की आवश्यकता है कि क्या वह अपने आपको वैश्विक पटल पर एक जिम्मेदार राष्ट्र दिखना चाहता है? या इन आतंकी संगठनों के खिलाफ कार्रवाई न करके अलग-थलग दिखना चाहता है?

हाफिज सईद के रैलियों पर सवाल 
अधिकारी ने कहा 'हमने पहले भी ऐसा कई बार देखा है कि कुछ लोगों को कुछ वक्त के लिए गिरफ्तार किया जाता है। इसके बाद मामला ठंड़ा पड़ने पर  फिर इन्हें छोड़ दिया जाता है। हाफिज सईद जैसे कई आतंकी सरगना खुलेआम घूम रहे हैं। यही नहीं कई बार तो इन आतंकी सरगनाओं को पूरे देश में घूमने और रैलियां करने तक की इजाजत दी जाती है। उन्होंने कहा कि अमेरिका इनके खिलाफ पाकिस्तान से ठोस कार्रवाई की उम्मीद कर रहा है। अधिकारी ने कहा कि अमेरिका अपने अन्य साथी देशों के साथ मिलकर आतंकवाद को लेकर पाकिस्तान पर दबाव बढ़ाने का प्रयास कर रहा है।

 

Posted By: Tanisk

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस