Move to Jagran APP

अमेरिकी राष्ट्रपति बाइडन ने ICET पर भारत और US की पहल को बताया महत्वपूर्ण, कहा- मजबूत होंगे साझेदारी

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने क्रिटिकल एंड इमर्जिंग टेक्नोलॉजीज (ICET) पर भारत और यूएसस की पहल को एक अविश्वसनीय रूप से महत्वपूर्ण बताया। व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव काराइन जीन-पियरे ने यह जानकारी दी है। उन्होंने कहा कि यह पहल सिर्फ चीन के बारे में नहीं है। फोटो- एएनआई।

By Jagran NewsEdited By: Sonu GuptaPublished: Thu, 02 Feb 2023 03:46 AM (IST)Updated: Thu, 02 Feb 2023 04:42 AM (IST)
अमेरिकी राष्ट्रपति बाइडन ने ICET पर भारत और US की पहल को बताया महत्वपूर्ण, कहा- मजबूत होंगे साझेदारी
अमेरिकी राष्ट्रपति बाइडन ने ICET पर भारत और US की पहल को बताया महत्वपूर्ण, कहा- मजबूत होंगे साझेदारी

वाशिंगटन, एएनआई। अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने क्रिटिकल एंड इमर्जिंग टेक्नोलॉजीज (ICET) पर भारत और यूएसस की पहल को एक अविश्वसनीय रूप से महत्वपूर्ण बताया। व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव काराइन जीन-पियरे ने यह जानकारी दी है।उन्होंने कहा कि यह पहल सिर्फ चीन के बारे में नहीं है।

loksabha election banner

लोकतांत्रिक संस्थानों को मजबूत करने के लिए महत्वपूर्ण

उन्होंने संवाददाता सम्मेलन में कहा, " राष्ट्रपति बाइडन का मानना है कि आपने अभी जो पहल की है, वह अमेरिका और भारत के लिए एक लोकतांत्रिक प्रौद्योगिकी पारिस्थितिकी तंत्र बनाने और हमारे लोकतांत्रिक मूल्यों और हमारे लोकतांत्रिक संस्थानों को मजबूत करने के लिए महत्वपूर्ण है। इसलिए हम इसे अविश्वसनीय रूप से महत्वपूर्ण पहल और भारत के साथ साझेदारी के रूप में देखते हैं।"

दोनों देश एक दूसरे को कर रहे हैं सहयोग

उन्होंने आगे कहा कि अमेरिका और भारत कंडक्टर, अंतरिक्ष, 5जी और टैलेंट जैसे रक्षात्मक नवाचारों में सहयोग कर रहे हैं और वे आने वाले महीनों और वर्षों में इस गति को बनाने के लिए भी उत्सुक हैं। पियारे से पूछा गया कि क्या यह पहल चीन का मुकाबला करने के लिए है, जिसपर उन्होंने कहा कि हम चीन के संदर्भ में इसको नजरअंदाज नहीं कर सकते हैं। यह पहल किसी एक देश के बारे में नहीं है यह दो दोस्तों, दो देशों के बीच संबंध से कुछ बड़ा है जो कुछ समय के लिए भागीदार रहे हैं। इसलिए इसको दुनिया की दो प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं और लोकतंत्रों के रूप में देखें।

अजीत डोभाल और उनके अमेरिकी समकक्ष जेक सुलिवन ने किया था उद्घाटन

मालूम हो कि संयुक्त राज्य अमेरिका और‌ भारत की क्रिटिकल एंड इमर्जिंग टेक्नोलॉजी आईसीईटी बैठक का समापन हो गया है। दोनों ही देशों ने इस बैठक में कई महत्वपूर्ण फैसले लिए हैं।‌ आईसीएटी बैठक में दोनों देशों ने एक नया इनोवेशन ब्रिज शुरू करने का फैसला किया है। यह दोनों देशों के रक्षा स्टार्टअप को जोड़ेगा।इस बैठक में अमेरिका-भारत पहल का उद्घाटन राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल और उनके अमेरिकी समकक्ष जेक सुलिवन द्वारा किया गया था।

कई अधिकारी हुए थे शामिल

इस बैठक में अमेरिका की ओर से नेशनल एयरोनॉटिक्स एंड स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन के प्रशासक नेशनल साइंस फाउंडेशन के निदेशक, नेशनल स्पेस काउंसिल के कार्यकारी सचिव और राज्य विभाग, वाणिज्य विभाग, रक्षा विभाग और राष्ट्रीय विभाग के वरिष्ठ अधिकारी शामिल हुए थे।

यह भी पढ़ें-

महिलाओं के लिए विशेष बचत योजना, बुजुर्गों को भी राहत, मजबूत इन्फ्रास्ट्रक्चर के लिए 10 लाख करोड़ की घोषणा

Fact Check: सिनेमा हॉल में ‘पठान’ देखने पहुंचे दर्शकों में कोल्ड ड्रिंक को लेकर हुआ था झगड़ा, समर्थकों व विरोधियों में भिड़ंत का दावा गलत


Jagran.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरेंWhatsApp चैनल से जुड़ें
This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.