नई दिल्‍ली (आनलाइन डेस्‍क)। कोरियाई प्रायद्वीप में इन दिनों काफी तनाव का माहौल है। इसकी वजह है उत्‍तर कोरिया का लगातार मिसाइल परिक्षण करना। उत्‍तर कोरिया मौजूदा माह में ही करीब 6 बार मिसाइल परिक्षणों से पड़ोसी देशों की चिंता को बढ़ाने का काम कर रहा है। यही वजह है कि अमेरिका को अपना परमाणु शक्ति युक्‍त एयरक्राफ्ट करियर USS Ronald Reagan को कोरियाई प्रायद्वीप में तैनात किया है। इससे भी खास बात ये है कि अमेरिका को दूसरी बार ऐसा करने के लिए मजबूर होना पड़ा है। दरअसल, उत्‍तर कोरिया के हालिया कदमों से पूरे क्षेत्र में अशांति और असुरक्षा का माहौल व्‍याप्‍त है। उत्‍तर कोरिया के इन मिसाइल परिक्षणों से दक्षिण कोरिया और जापान दोनों ही सबसे अधिक डरे हुए हैं।

दागी दो शार्ट रेंज बैलेस्टिक मिसाइल 

गौरतलब है कि उत्‍तर कोरिया ने गुरुवार को दो बैलेस्टिक मिसाइल टेस्‍ट किए हैं। इस माह के दौरान उत्‍तर कोरिया द्वारा किया गया ये छठा टेस्‍ट है। कुछ दिन पहले भी उसने दो टेस्‍ट किए थे। किम जोंग उन के आदेश पर ये टेस्‍ट ऐसे समय में किए गए हैं जब संयुक्‍त राष्‍ट्र सुरक्षा परिषद में उत्‍तर कोरिया के मुद्दे पर चर्चा हुई थी। उत्‍तर कोरिया की तरफ से जारी बयान में कहा गया है कि अमेरिका इस क्षेत्र की शांति और सुरक्षा को खतरे में डाल रहा है। अपने परिक्षणों को सही बताते हुए उत्‍तर कोरिया ने ये भी कहा है कि उसके द्वारा किए गए परिक्षण अमेरिका-जापान-दक्षिण कोरिया द्वारा की गई मिलिट्री ड्रिल के मद्देनजर पूरी तरह से जायज हैं।

यूएस-जापान-दक्षिण कोरिया की एक्‍सरसाइज 

बता दें कि हाल ही में इन तीनों देशों ने सबमरीन एक्‍सरसाइज की थी। इससे उत्‍तर कोरिया काफी चिढ़ा हुआ है। उत्‍तर कोरिया लगातार अमेरिका को क्षेत्र के माहौल को बिगाड़ने का आरोप लगाता रहा है। उत्‍तर कोरिया ने यहां तक कहा है कि उसके परिक्षण केवल उसकी अपनी सुरक्षा को ध्‍यान में रखते हुए किए जा रहे हैं। हालातों के मद्देनजर ही अमेरिका ने अपने युद्धपोत को कोरियाई प्रायद्वीप में तैनात किया है। इस युद्धपोत को दक्षिण कोरिया के पूर्व में तैनात किया गया है।

उत्‍तर कोरिया ने दागी ये मिसाइलें

उत्‍तर कोरिया द्वारा दागी गई मिसाइलों की बात करें तो गुरुवार को जो परिक्षण किया गया, उसमें शार्ट रेंज बैलेस्टिक मिसाइल दागी गई थी। ये मिसाइलें Samsok इलाके से दागी गई थीं, जो प्‍योंगयांग से कुछ दूरी पर स्थित है। जानकारी के मुताबिक उत्‍तर कोरिया की एक मिसाइल 350 किमी की ऊंचाई तक गई और 80 किमी दूर समुद्र में गिरी थी। वहीं दूसरी मिसाइल 60 किमी की ऊंचाई तक गई और 800 किमी तक गई थी। आपको बता दें कि Samsok से पहली बार कोई बैलेस्टिक मिसाइल लान्‍च की गई है। दक्षिण कोरिया की तरफ से कहा गया है कि गुरुवार को दागी गई मिसाइलें पहले दागी गई मिसाइलों से अलग थीं।  

खस्ताहाल अर्थव्यवस्था, महंगाई और बाढ़ से परेशान पाकिस्तान ने अमेरिका से बढ़ाई नजदीकी

जनरल बाजवा के बाद कौन बनेगा पाकिस्तान का नया सेना प्रमुख, संविधान का नियम और दावेदारों की फेहरिस्त

Edited By: Kamal Verma

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट