वाशिंगटन, रायटर। अमेरिकी सेना के शीर्ष जनरल मार्क मिले (Mark Milley) ने रूस के चीफ आफ जनरल स्टाफ वालेरी गेरासिमोव (Valery Gerasimov) के साथ टेलीफोन पर बात की है। अमेरिकी सेना ने गुरुवार को यह जानकारी दी है। यूएस ज्वाइंट चीफ्स आफ स्टाफ के अध्यक्ष मिले के प्रवक्ता ने कहा कि सैन्य नेताओं ने सुरक्षा संबंधी कई मुद्दों पर चर्चा की और संचार की लाइनें खुली रखने पर सहमति व्यक्त की है।

साथ ही प्रवक्ता ने कहा पिछले अभ्यास के अनुसार उनकी बातचीत का विशिष्ट विवरण निजी रखा जाएगा। पिछले हफ्ते अमेरिकी रक्षा सचिव लायड आस्टिन ने अपने रूसी समकक्ष के साथ बात की थी। दोनों ही शीर्ष अधिकारियों में यह बातचीत फरवरी में रूस द्वारा यूक्रेन पर आक्रमण शुरू करने के बाद पहली बार हुई थी।

यूक्रेन युद्ध को लेकर मैक्रों ने चेताया

वहीं, दूसरी ओर फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने यूक्रेन युद्ध को लेकर चेताया है। उन्होंने मोल्दोवा के राष्ट्रपति की मेजबानी करते हुए इस बात पर चिंता जताई कि यह युद्ध यूक्रेन के पड़ोसी देशों तक फैल सकता है।

मैक्रों ने गुरुवार को कहा कि क्षेत्र में सुरक्षा स्थिति को लेकर फ्रांस विशेष रूप से सतर्क है। उन्होंने यूक्रेन से शरणार्थियों के लिए मोल्दोवा की मदद की प्रशंसा की। मैक्रों ने यूरोपीय नेताओं से यूरोपीय संघ में शामिल होने के मोल्दोवा के आवेदन पर जल्द बात आगे बढ़ाने की अपील की।

रूस और यूक्रेन युद्ध को होने वाले हैं तीन महीने

गौरततलब है कि रूस और यूक्रेन युद्ध के तीन महीने होने वाले हैं। दोनों देशों के बीच युद्ध में भारी तबाही हुई है। इस बीच मास्को ने गुरुवार को दावा किया कि पिछले 24 घंटों में 771 सहित तीन दिनों में 1,730 यूक्रेनी लड़ाकों ने मारीपोल में आत्मसमर्पण किया है। रूस और यूक्रेन की खूनी लड़ाई का अंतिम परिणाम अभी भी सार्वजनिक रूप से अनसुलझा बना हुआ है।

यह भी पढ़ें : Russia Ukraine War: यूक्रेन के 1,730 सैनिकों ने किया समर्पण, फैक्ट्री नहीं हुई खाली; डोनेस्क और लुहांस्क में कब्जे के लिए लड़ाई जारी

Edited By: Dhyanendra Singh Chauhan