कैप कैनवरल, रायटर: एलन मस्क की कंपनी स्पेस एक्स (SpaceX) ने बुधवार को फ्लोरिडा के इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन (आइएसएस) के लिए अंतरिक्ष यान लांच किया। इस यान में एक रूसी अंतरिक्ष यात्री, दो अमेरिकी और एक जापानी यात्री हैं। 20 साल में यह पहला मौका है जब किसी रूसी अंतरिक्ष यात्री ने अमेरिका से यात्रा की शुरुआत की है। वह भी तब जब यूक्रेन युद्ध के चलते दोनों देशों के संबंधों का स्तर काफी नीचे जा चुका है।

केनेडी स्पेस सेंटर से अंतरिक्ष यात्री हुए रवाना

नासा के केनेडी स्पेस सेंटर से चारों अंतरिक्ष यात्रियों को लेकर क्रू ड्रैगन कैप्सूल रवाना हुआ। 23 मंजिलों वाला फाल्कन नाइन राकेट इस कैप्सूल को अंतरिक्ष तक पहुंचाएगा। लांचिंग के नौ मिनट बाद राकेट ने कैप्सूल को प्रारंभिक कक्षा में पहुंचा दिया। चारों यात्रियों को लेकर कैप्सूल 29 घंटे में इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन पहुंच जाएगा। गुरुवार शाम धरती से 420 किलोमीटर की ऊंचाई पर मिशन के सदस्य कार्य करना शुरू कर देंगे।

स्पेस एक्स ने तीन देशों के अंतरिक्ष यात्रियों को किया रवाना

मई 2020 में टेस्ला के मालिक एलन मस्क ने आमजनों को अंतरिक्ष में कम ऊंचाई तक भेजना शुरू किया था। दो साल बाद मस्क की कंपनी स्पेस एक्स ने आइएसएस के लिए तीन देशों के चार अंतरिक्ष यात्रियों को रवाना किया है। यात्रियों के इस दल का नेतृत्व निकोल ओनापू मान (45) कर रही हैं। वह अमेरिकी वायुसेना के लड़ाकू विमान की पूर्व पायलट हैं। साथ ही अंतरिक्ष यान के कमांडर की सीट पर बैठने वाली वह पहली महिला यात्री हैं। जबकि रूसी अंतरिक्ष यात्री अन्ना किकिना (38) हैं। वह रूसी स्पेस एजेंसी रोसकोस्मोस में कार्य करती हैं।             

यह भी पढ़े: बीस साल में पहली बार रूसी अंतरिक्ष यात्री ने अमेरिका से अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन के लिए भरी उड़ान                            

Edited By: Amit Singh

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट