कीव, एजेंसियां। यूक्रेन के दक्षिण में स्थित परमाणु संयंत्र के निकट रूसी मिसाइल गिरी है। उससे संयंत्र के तीन रिएक्टरों में से किसी को नुकसान नहीं हुआ है। लेकिन मिसाइल हमले से संयंत्र के नजदीक के औद्योगिक उपकरण नष्ट हो गए हैं। यूक्रेन ने इस हमले की निंदा करते हुए उसे रूस के परमाणु आतंकवाद की संज्ञा दी है। यह हमला रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के उस एलान के बाद हुआ है जिसमें उन्होंने यूक्रेन की मुश्किलें बढ़ाने वाले हमले करने की बात कही थी।

पुतिन ने दी थी चेतावनी 

रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने कहा था कि नए हमले ज्यादा गंभीर होंगे। यूक्रेनी सेना द्वारा रूसी सेना पर हमले तेज करने और कब्जे वाली भूमि छीन लेने के बाद पुतिन ने यह बयान दिया था। यूक्रेन की परमाणु संयंत्र संचालक कंपनी इनरगोएटम के अनुसार रूसी मिसाइल हमला पिव्डेनोक्रेंस्क परमाणु संयंत्र से महज 300 मीटर दूर हुआ।

हमले के बाद लगी आग

इसके बाद वहां पर आग लग गई। यह हमला रविवार और सोमवार की रात में हुआ। जिस परमाणु संयंत्र के निकट हमला हुआ है वह जपोरीजिया के संयंत्र के बाद यूक्रेन का दूसरा सबसे बड़ा परमाणु संयंत्र है। जपोरीजिया के संयंत्र पर रूसी सेना मार्च में ही कब्जा कर चुकी है। इस समय उसके नजदीक दोनों सेनाओं के बीच लड़ाई चल रही है।

पानी, बिजली और गैस आपूर्ति को नुकसान पहुंचाया

रूसी सेना ने हाल के दिनों में खार्कीव, निकोपोल, मारहानेट्स, क्रेमेटो‌र्स्क और टोरेत्स्क में हमले करके वहां की पानी, बिजली और गैस आपूर्ति को नुकसान पहुंचाया है। रूसी हमले की चपेट में एक बांध भी आया है जिससे नजदीक बसे 100 से ज्यादा परिवारों को विस्थापित करना पड़ा है। ताजा हमलों में यूक्रेन के आठ नागरिकों के मारे जाने और 22 के घायल होने की खबर है।

रूसी सेना ने यूक्रेन पर हमले तेज किए

इस बीच कई मोर्चों पर करारी मात के बाद रूसी सेना ने यूक्रेन पर हमले तेज कर दिए हैं। डोनेस्क प्रांत में एक स्थान पर कई हमले हुए जिसमें पांच नागरिकों की मौत हो गई। समाचार एजेंसी रायटर की रिपोर्ट के मुताबिक खार्कीव क्षेत्र में रूस की सीमा के निकट कोजाचा लोपन में यूक्रेनी सेना को एक कमरा मिला है। यूक्रेन की फौज इस कमरे को टार्चर रूम करार दे रहे है जिसका इस्तेमाल रूसी सेना द्वारा किया जा रहा था। यूक्रेन का कहना है कि रूसी सैनिक यहां पर उसके नागरिकों का उत्पीड़न करते थे।  

यह भी पढ़ें- ताइवान पर बाइडन के बयान से भड़का चीन, कहा- बांटने की किसी भी कोशिश को नहीं करेंगे बर्दाश्त

यह भी पढ़ें- युद्ध के बाद भी यूक्रेन से 37 लाख टन खाद्यान्न का हुआ निर्यात, प्रतिबंधों के चलते रूस है खाली हाथ

Edited By: Krishna Bihari Singh

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट