वाशिंगटन, एजेंसी। रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन को युद्ध को लेकर सीख देने के लिए अमेरिकी मीडिया ने शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की तारीफ की है। उज्बेकिस्तान के समरकंद में शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) के शिखर सम्मेलन से इतर रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के साथ द्विपक्षीय बातचीत में पीएम मोदी ने पुतिन से कहा था यह समय युद्ध का नहीं है। प्रधानमंत्री ने पुतिन से गतिरोध खत्म करने की अपील की थी।

यह समय युद्ध का नहीं

'वाशिंगटन पोस्ट' ने लिखा, 'मोदी ने यूक्रेन में युद्ध पर पुतिन से कहा, यह समय युद्ध का नहीं है। इस बारे में आपसे मेरी कई बार बात हो चुकी है। वाशिंगटन पोस्ट के अनुसार मोदी के ऐसा कहने के बाद पुतिन असहज दिखे।'

गतिरोध को जल्द सुलझाना चाहिए

'द न्यूयार्क टाइम्स' ने अपने शीर्षक में कहा, भारत के नेता ने पुतिन से कहा कि अब युद्ध का समय नहीं है। द न्यूयार्क टाइम्स ने रिपोर्ट में लिखा कि मोदी ने प्रभावी तरीके से कहा कि यूक्रेन में युद्ध के बारे में भारत चिंतित हैं। गतिरोध को जल्द सुलझाना चाहिए। 

पीएम मोदी ने दी थी यह सीख 

उल्‍लेखनीय है कि उज्बेकिस्तान के शहर समरकंद में शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) के शिखर सम्मेलन से इतर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के साथ द्विपक्षीय बातचीत में कहा था कि यह काल युद्ध का नहीं है। इसके साथ ही प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी (Narendra Modi) ने रूसी राष्ट्रपति से यूक्रेन के साथ गतिरोध खत्म करने की गुजारिश की थी। इस वार्ता के दौरान रूसी राष्ट्रपित पुतिन ने प्रधानमंत्री मोदी को रूस आने का न्योता भी दिया था।

पुतिन ने दिया था यह जवाब 

मोदी का जवाब देते हुए पुतिन के कहा, 'हमें यूकेन युद्ध को लेकर आपकी चिंताओं के बारे में मालूम है। हम युद्ध रोकने की पूरी कोशिश करेंगे। हम जल्द से जल्द इस हालात को खत्म करना चाहते हैं। लेकिन आपको मालूम है कि यूक्रेन ने वार्ता को खारिज कर दिया है। यूक्रेन ने कहा है कि वह तब तक लड़ेगा जब तक कि सभी रूसी सैनिकों को अपनी भूमि से खदेड़ नहीं देता।

पढ़ें यह रिपोर्ट- मौजूदा माहौल पर चिंता जता भारत की अहमियत बताकर मोदी ने खींची बड़ी लकीर

यह भी पढ़ें- पीएम मोदी ने पुतिन से की गतिरोध खत्‍म करने की अपील, कहा- यह युग युद्ध का नहीं

Edited By: Krishna Bihari Singh

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट