Move to Jagran APP

Shahjahan Sheikh: 'सिर पर बंदूक तानकर जमीन पर कब्जा करता था शाहजहां शेख', ED बोली- मंत्रियों को महंगे गिफ्ट भी दिए

ईडी ने चार्जशीट में कहा कि शाहजहां कभी-कभी प्रभावशाली मंत्रियों और विधायकों को खुश करने के लिए महंगे तोहफे देता था। इसके जरिए उसने संदेशखाली इलाके में अपना दबदबा कायम रखा। इस कड़ी में उसने एक प्रभावशाली विधायक पर नियंत्रण रखने के लिए उन्हें महंगी कार उपहार में दी थी। ईडी ने जांच की तो पता चला कि कार किसी दूसरे व्यक्ति के नाम पर खरीदी गई थी।

By Sonu Gupta Edited By: Sonu Gupta Fri, 14 Jun 2024 07:04 PM (IST)
Shahjahan Sheikh: 'सिर पर बंदूक तानकर जमीन पर कब्जा करता था शाहजहां शेख', ED बोली- मंत्रियों को महंगे गिफ्ट भी दिए
अधिकारियों की मौजूदगी में ग्रामीणों के सिर पर बंदूक तानकर उनकी जमीन हड़प लेता था शाहजहां शेख। फाइल फोटो।

राज्य ब्यूरो, कोलकाता। ईडी ने अपने आरोपपत्र में दावा किया है कि संदेशखाली कांड के मुख्य आरोपित शाहजहां शेख और उसके सहयोगियों ने ब्लॉक भूमि अभिलेख कार्यालय (बीएलआरओ) के अधिकारियों की मौजूदगी में ग्रामीणों के सिर पर बंदूक तान कर उनकी जमीन हड़प ली। आरोपपत्र में कुछ पीड़ितों के बयान का उल्लेख किया गया है।

जमीन के साथ मत्स्य पालन केंद्र पर भी किया कब्जा

ईडी सूत्रों के मुताबिक संदेशखाली के रहने वाले इस्माइल मोल्ला नाम के शख्स ने अपने बयान में कहा कि शाहजहां के साथियों ने डरा कर उनकी जमीन और मत्स्य पालन केंद्र को हड़प लिया। इस्माइल ने ईडी अधिकारियों को बताया कि उनकी मां के नाम पर संदेशखाली में करीब पांच कट्ठा जमीन थी। शाहजहां के साथी जमीन पर कब्जा करने के लिए उनके घर पहुंच गए।

सिर पर बंदूक तान कर दी गई धमकी

उन्होंने जमीन शाहजहां के एक साथी जयाउद्दीन मोल्ला के नाम पर लिखने के लिए उनकी मां दबाव डाला। इन्कार करने पर दोनों को जबरन शाहजहां के घर ले जाया गया, जहां इस्माइल मोल्ला के सिर पर बंदूक तानकर धमकी दी गई। जब बात नहीं बनी तो वे उनकी मां के अंगूठे का निशान जबरन ले लिए। बाद में उनके भाई का भी हस्ताक्षर लिया गया। इस्माइल ने कहा कि पूरी घटना बीएलआरओ अधिकारी की मौजूदगी में हुई।

शाहजहां ने एक प्रभावशाली विधायक को दी थी कार

ईडी ने चार्जशीट में कहा कि शाहजहां कभी-कभी प्रभावशाली मंत्रियों और विधायकों को खुश करने के लिए महंगे तोहफे देता था। इसके जरिए उसने संदेशखाली इलाके में अपना दबदबा कायम रखा। इस कड़ी में उसने एक प्रभावशाली विधायक पर नियंत्रण रखने के लिए उन्हें महंगी कार उपहार में दी थी।

ईडी ने अब तक जब्त की है इतने करोड़ की संपत्ति

 ईडी ने जांच की तो पता चला कि कार किसी दूसरे व्यक्ति के नाम पर खरीदी गई थी। गाड़ी के कागजात पर बीएन घोष का नाम है। ईडी ने शाहजहां की अब तक 261 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त की है। उसकी तीन कारें भी जब्त कर ली गई हैं। ईडी का दावा है कि शाहजहां भ्रष्टाचार की काली कमाई को एक ट्रस्ट में निवेश करता था। बाद में ट्रस्ट के नाम पर जमीन भी खरीदी।

यह भी पढ़ेंः

G7 Summit Live Updates: PM Modi ने राष्ट्रपति मैक्रों से की मुलाकात; दोनों नेताओं ने रक्षा, परमाणु सहित इन मुद्दों पर की चर्चा

Russia Ukraine Ceasefire: 'अगर यूक्रेन युद्धविराम चाहता है तो...', पुतिन ने जेलेंस्की के सामने रख दी ये शर्तें