Move to Jagran APP

ममता बनर्जी ने कहा- 'एशिया में दूसरी सबसे बड़ी बोली जाने वाली भाषा है बंगाली, दुनिया में है पांचवां स्थान'

Kolkata News मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बंगाली में विशेष रुचि लेने के लिए पश्चिम बंगाल के राज्यपाल डॉ सीवी आनंद बोस को बधाई दी है। उन्होंने कहा कि बंगाली एशिया में बोली जाने वाली दूसरी सबसे बड़ी भाषा है जबकि दुनिया में इसका पांचवां स्थान है।

By Jagran NewsEdited By: Jagran News NetworkPublished: Fri, 27 Jan 2023 10:05 AM (IST)Updated: Fri, 27 Jan 2023 10:05 AM (IST)
Mamata Banerjee and governor CV Ananda Bose

कोलकाता, ऑनलाइन डेस्क। Mamata Banerjee Reaction Over Bengali Language: पश्चिम बंगाल (West Bengal) की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने गुरुवार को सरस्वती पूजा के अवसर पर राज्य में आयोजित 'हटे खोरी' कार्यक्रम में कहा कि बंगाली एशिया में बोली जाने वाली दूसरी सबसे बड़ी भाषा है, जबकि दुनिया में इसका पांचवां स्थान है। उन्होंने कहा, "हमें याद रखना चाहिए कि हमें अपनी मातृभाषा सीखनी चाहिए चाहे हम कहीं भी रहें।"

ममता ने राज्यपाल को दी बधाई

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बंगाली में विशेष रुचि लेने के लिए पश्चिम बंगाल के राज्यपाल डॉ सीवी आनंद बोस को बधाई दी। उन्होंने कहा, "हमारी मातृभाषा में विशेष रुचि लेने के लिए मैं राज्यपाल को बधाई देना चाहती हूं।" पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी कोलकाता के राजभवन में राज्यपाल सीवी आनंद बोस के 'हटे खोरी' कार्यक्रम में शिरकत कर रही थीं।

उत्साह के साथ मनाया गया गणतंत्र दिवस

74वां गणतंत्र दिवस गुरुवार को पूरे पश्चिम बंगाल में जोश और उत्साह के साथ मनाया गया, जिसमें राज्यपाल बोस ने सेना, नौसेना, वायु सेना, पुलिसकर्मियों और छात्रों सहित नागरिकों द्वारा एक घंटे तक चलने वाली परेड की अध्यक्षता की। एक सैन्य हेलीकॉप्टर ने आधिकारिक कार्यक्रम स्थल रेड रोड पर गुलाब की पंखुड़ियां बरसाईं। राज्यपाल ने तिरंगा फहराया। इस अवसर पर ममता बनर्जी के अलावा उनके कैबिनेट सहयोगी, राज्य के वरिष्ठ अधिकारी और भारतीय सशस्त्र बलों के तीनों अंग भी मौजूद थे।

ये भी पढ़ें:

Aligarh News: गणतंत्र दिवस पर एएमयू में लगे अल्लाह हू अकबर के नारे, प्राक्टर बोले- सख्‍त कार्रवाई होगी

Shraddha Murder Case: हिमाचल में श्रद्धा के शव को ठिकाने लगाना चाहता था आफताब, पकड़ने जाने के डर से बदला प्लान


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.