Move to Jagran APP

आरपीएफ ने नाबालिग समेत 12 लोगों को तस्करों के चंगुल में फंसने से बचाया

-वर्ष 2021 में 686 व्यक्तियों को रेलवे सुरक्षा बल द्वारा बचाया गया 24 मानव तस्करों की हुई गिरफ्तारी

By JagranEdited By: Tue, 26 Apr 2022 11:08 PM (IST)
आरपीएफ ने नाबालिग समेत 12 लोगों को तस्करों के चंगुल में फंसने से बचाया
आरपीएफ ने नाबालिग समेत 12 लोगों को तस्करों के चंगुल में फंसने से बचाया

-वर्ष 2021 में 686 व्यक्तियों को रेलवे सुरक्षा बल द्वारा बचाया गया, 24 मानव तस्करों की हुई गिरफ्तारी जागरण संवाददाता, सिलीगुड़ी : एनएफ रेलवे के रेलवे सुरक्षा बल (रेसुब) ने 18 से 24 अप्रैल 2022 के दौरान एनएफ रेलवे अंतर्गत विभिन्न ट्रेनों और रेलवे स्टेशनों पर नियमित जाच के दौरान नाबालिगों सहित 12 लोगों को सफलतापूर्वक उद्धार किया। इसके अलावा एनएफ रेल के रेलवे सुरक्षा बल ने अप्रैल, 2021 से मार्च, 2022 के दौरान नाबालिग बच्चों और महिलाओं सहित 686 लोगों को उद्धार किया, जबकि 83 लोगों को मानव तस्करी से बचाया। इन सभी को एनएफ रेलवे अंतर्गत चलाए गए विभिन्न अभियानों में ट्रेनों रेलवे परिसरों और स्टेशनों से उद्धार किया गया था। रेल सुरक्षा बल ने इस दौरान 24 लोगों को भी हिरासत में लिया, जो मानव तस्करी में लिप्त थे।

एनएफ रेलवे द्वारा मिली जानकारी के अनुसार इस महीने 22 अप्रैल की एक घटना में एक महिला के घर से भागने की सूचना पर कार्रवाई करते हुए दिमापुर के रेलवे सुरक्षा विशेष बल (आरपीएसएफ) के साथ रेलवे सुरक्षा बल एस्कार्टिग पार्टी की एक टीम ने गुवाहाटी जा रही ट्रेन संख्या 15909 डाउन (अवध असम एक्सप्रेस) में उक्त महिला की तलाश की। उन लोगों ने जाच कर कामाख्या रेलवे स्टेशन पर एक स्लीपर कोच से महिला को बरामद किया। उद्धार महिला को रेसुब/पोस्ट/कामाख्या ले जाया गया और मामले की जानकारी उसके परिवार के सदस्यों को दी गई। बाद में उद्धार महिला को आरपीएफ द्वारा दिमापुर द्वारा ले जाया गया और उसके परिवार के सदस्यों को सौंप दिया गया।

रेल मदद से प्राप्त जानकारी के अनुसार 24 अप्रैल की एक अन्य घटना में कटिहार की आरपीएफ एस्कार्टिग पार्टी की एक टीम ने अपनी ड्यूटी के दौरान ट्रेन संख्या 12423 डाउन (राजधानी एक्सप्रेस) से एक नाबालिग लड़की को उद्धार किया। बाद में उद्धार लड़की को सुरक्षित अभिरक्षा के लिए चाइल्डलाइन/कटिहार के समन्वयक को सौंप दिया गया। उसी दिन एक सूचना पर कार्रवाई करते हुए आरपीएफ/पोस्ट/कटिहार ने कटिहार स्टेशन से तीन नाबालिग लड़कों को उद्धार किया। बाद में बचाए गए सभी नाबालिग लड़कों को उनके माता-पिता को सौंप दिया गया।

मानव तस्करी में शामिल संदिग्ध व्यक्तियों के साथ-साथ बिना आत्मीय अभिभावक, अकेले यात्रा करने संदिग्ध रूप में बच्चों की आवाजाही आदि पर कड़ी नजर रखने के लिए आरपीएफ ट्रेन एस्कार्ट पार्टियों और स्टेशनों पर तैनात कर्मचारियों को सतर्क और संवेदनशील किया गया है। एनएफ रेल पर 'मेरी सहेली' के तहत एक नई पहल का गठन किया गया है, और किसी भी आपात स्थिति में चौबीसों घटे महिला /बाल यात्रियों को बचाव /सुरक्षा के बारे में जागरूक करने के लिए उपयोगी हेल्पलाइन नंबर 139 जारी किया गया है।