मालबाजार, संवाद सूत्र।  हमारा देश विभिन्न जाति और धर्मों वाला देश है। यहां के लोग विभिन्नताओं में एकता पर विश्वास करते हैं। इसका प्रत्यक्ष प्रमाण तब देखने को मिलता है जब लोग एक दूसरे के त्योहारों में शामिल होकर इसका आनंद उठाते हैं। माल शहर के 11 नंबर वार्ड में भी कुछ ऐसा ही नजारा देखने को मिला। यहां मिलन पल्ली ब्यॉज एसएचजी क्लब पहली बार दुर्गापूजा का आयोजन कर रही है। आयोजकों में हिंदू के साथ मुस्लिम परिवार भी  शामिल हैं। खास बात यह है कि मुस्लिम परिवार भी पूजा की सभी गतिविधियों में हिंदू परंपराओं के प्रति पूरा सम्‍मान और भक्ति भाव रखते हैं । लोगों के लिए यह दुर्गा पूजा सांप्रदायिक सौहार्द, सद्भाव और एकता की मिसाल बन गया है। 

हिंदू-मुस्लिम परिवार साथ मिलकर मनाते हर त्‍योहार 

आयोजकों में शामिल मोहम्मद अली  जान ने कहा कि वे लोग बचपन से इन्‍हींं हिंदू परिवारों के साथ पले बढ़ें हैं। सरस्वती पूजा से लेकर ईद सब लोग एक साथ ही मिलकर मनाते हैं। दुर्गापूजा के प्रति भी उनकी उतनी ही श्रद्धा है, जितनी रमजान और ईद के प्रति है। यहां उनलोगों ने पहली बार छोटे रूप में दुर्गापूजा का आयोजन किया है, जो आने वाले दिनों में बड़े पैमाने पर किया जाएगा।

भाईचारे की मिसाल है यह पूजा 

वहीं क्लब के अध्यक्ष व समाजसेवी सुभांकर दे ने कहा कि दुर्गापूजा पूजा एक बड़ा उत्सव है। इसमें हिंदू, मुस्लिम के साथ ईसाई और दूसरे समुदाय के लोग भी शामिल होते हैं। उनका लक्ष्य है, हर वर्ग और धर्म के लोग एक साथ मिलकर पूजा का आनंद लें। हर कोई हमारे लिए समान है। यह पूजा भाईचारे की मिशाल पेश करती है। उम्मीद है आने वाले दिनों में भी लोग शांति, सद्भाव और एकता के साथ मिल-जुलकर रहेंगे।

बीएसएसएस के युवा अध्यक्ष और समाजसेवी हर्षित प्रसाद ने कहा कि मिलन पल्ली की पूजा भाईचारे और एकता का प्रतीक है। इस पूजा में हिंदू के साथ मुस्लिम समुदाय के लोग भी बढ़चढ़ कर हिस्सा ले रहे हैं। यहां की  यही विशेषता है कि सभी धर्मो की परंपरा व संस्‍कृति के लिए यहां के लाेगों के मन में समान भावना है।  हर्षित  पूजा पंडाल का भ्रमण करने आए थे। इस दौरान संगठन के प्रदेश सचिव अधिराज पॉल और प्रदेश प्रभारी जयाउद्दिन शेख भी मौजूद थे।

Edited By: Sumita Jaiswal

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट