जागरण संवाददाता, उत्तरकाशी। Uttarkashi Crime News सीमांत जनपद उत्तरकाशी में नशे के तस्करों के खिलाफ पुलिस की कार्रवाई तेज हो गई है। कोतवाली उत्तरकाशी पुलिस की टीम ने 38 किलोग्राम डोडा (पोस्त) पाउडर के साथ हरियाणा के दो युवकों को गिरफ्तार किया है। इसमें एक आरोपित मेजर सिंह के खिलाफ थाना छांजली जिला संगरूर पंजाब में एनडीपीएस का मुकदमा दर्ज है तथा न्यायालय से भी 2016 में दस साल की सजा सुनाई गई है। तब से वह फरार चल रहा है। उत्तरकाशी पुलिस ने अभियुक्त के गिरफ्तार होने की सूचना पंजाब पुलिस को दे दी है।

उत्तरकाशी कोतवाली के थानाध्यक्ष विनोद थपलियाल और एंटी ड्रग टास्क फोर्स के प्रभारी खजान सिंह चौहान के नेतृत्व में शुक्रवार की सुबह साल्ड बैंड के पास चेकिंग अभियान चल रहा था। इस बीच साल्ड की ओर से उत्तरकाशी आते समय एक वाहन को संदेह होने पर जांच के लिए टीम ने रोका। वाहन में जांच करने पर भारी मात्रा में डोडा पाउडर मिला। वाहन में बैठे दो व्यक्तियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। 

आरोपितों में हरियाणा के कुरुक्षेत्र में करासाहिब निवासी बलविंद्र सिंह और जींद के निमनाबाद निवासी मेजर सिंह शामिल हैं। मेजर सिंह के खिलाफ थाना छांजली जिला संगरूर पंजाब में भी वर्ष 2013 में डोडा पाउडर के मामले में अभियोग पंजीकृत है। इसमें 5 दिसंबर 2016 को अभियुक्त मेजर सिंह को दस साल की सजा भी हुई है, लेकिन अभियुक्त तभी से फरार चल रहा है। 

---------------------------

मुकदमा वापस न लेने पर  जान से मारने की धमकी

कोटद्वार नगर निगम के अंतर्गत गंगादत्त जोशी मार्ग निवासी एक महिला ने अपने पति के हत्यारे पर मुकदमा वापस लेने के लिए दबाव बनाने का आरोप लगाया है। मुकदमा वापस न लिए जाने पर उनके परिवार को जान से मारने की धमकी दी जा रही है। महिला ने पुलिस से गुहार लगाते हुए व्यक्ति के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। 

शुक्रवार को पीडि़त महिला अजमी ने कोतवाली में पहुंचकर पुलिस को तहरीर दी। उन्होंने बताया कि मार्च 2020 में एक व्यक्ति ने अपने बेटे के साथ मिलकर उनके पति शादाब की हत्या कर दी थी। बताया कि मामले में मुकदमा दर्ज करने के बाद पुलिस ने आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया था। लेकिन, कुछ दिन पूर्व उक्त व्यक्ति जमानत पर लौट आया है। 

बताया कि अब वह व्यक्ति उनके घर पर पहुंच मुकदमा वापस लेने का दबाव बना रहा है। इसके डर से परिवार के सदस्यों का घर से बाहर निकलना भी मुश्किल हो गया है। उन्हें हर समय परिवार के बच्चों के साथ अनहोनी का भय बना हुआ है। वहीं, कोतवाली प्रभारी नरेंद्र सिंह बिष्ट ने पूरे मामले की जांच कर कार्रवाई का आश्वासन दिया है। (संस)

यह भी पढ़ें-देहरादून में पुलिस ने दो चोरियों का किया पर्दाफाश, तीन गिरफ्तार

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

Edited By: Sunil Negi