उत्तरकाशी, जेएनएन। नवरात्र के शुभ अवसर पर विश्व प्रसिद्ध गंगोत्री धाम के कपाट खुलने का शुभ मुहूर्त तय हो गया है। गंगोत्री मंदिर के कपाट सात मई को दोपहर 11:30 बजे खुलेंगे। इसी दिन यमुनोत्री धाम के कपाट भी खुलने हैं। यमुनोत्री धाम के कपाट खुलने का शुभ मुहूर्त 11 मई को यमुना जयंती के दिन निकाला जाना है। वहीं, केदारनाथ धाम के कपाट नौ मई और बदरीनाथ धाम के कपाट 10 को खुलेंगे। 

उत्तरकाशी के बस अड्डा स्थित गंगा धर्मशाला में प्रात: तीर्थ पुरोहितों की ओर से गंगोत्री के कपाट खुलने का मुहुर्त तय किया गया है। गंगोत्री मंदिर समिति के अध्यक्ष सुरेश सेमवाल ने बताया कि गंगोत्री की डोली शीतकालीन पड़ाव मुखवा से छह मई को 12:35 बजे अभिजीत मुहूर्त पर गंगोत्री के लिए रवाना होगी।

डोली यात्रा रात्रि विश्राम भैरव घाटी में करेगी। इसके बाद 7 मई की दोपहर को अक्षय तृतीय पर्व के अभिजीत मुहूर्त पर 11:30 बजे गंगोत्री धाम के कपाट श्रद्धालुओं के लिए खोले जाएंगे। जबकि यमुनोत्री के कपाट भी 7 मई को ही खुलेंगे। कपाट खुलने का शुभ मूर्त 11 अप्रैल को तय होगा। 

इस मौके पर मंदिर समिति के सचिव दीपक सेमवाल, सह सचिव राजेश सेमवाल, उपाध्यक्ष अरूण सेमवाल, कोषाध्यक्ष प्रेम बल्लभ सेमवाल, संयोजक हरीश सेमवाल, राकेश सेमवाल, संजय सेमवाल आदि मौजूद थे।

वहीं, केदारनाथ धाम के कपाट नौ मई की सुबह 5.35 बजे खुलेंगे। इसके अगले दिन, बदरीनाथ धाम के कपाट सुबह 4.15 बजे खोले जाएंगे। चारधामों तक पहुंचने के लिए इन दिनों स्थानीय प्रशासन रास्तों में पड़ी बर्फ हटाने के कार्य में जुटा है। 

यह भी पढ़ें: चैत्र नवरात्रः पहले दिन मां शैलपुत्री की स्तुति, इस बार बन रहे मंगलकारी योग

यह भी पढ़ें: हजारों श्रद्धालुओं ने की वरुणावत पर्वत की परिक्रमा, ये है मान्यता

यह भी पढ़ें: आज भी पहचान को मोहताज है तीन पावन नदियों का संगम, जानिए 

Posted By: Bhanu

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप