संवाद सहयोगी, नई टिहरी: नरेंद्रनगर ब्लाक के ग्राम काटल में मंगलवार रात हुई भारी बारिश के बाद गांव में ऊपर कच्ची सड़क का मलबा आने से काफी नुकसान हुआ है। मलबा ग्रामीणों के खेतों में भी घुस गया जिससे खेतों के साथ ही धान की फसल को काफी नुकसान पहुंचा गांव में मुख्य पैदल पुलिया भी क्षतिग्रस्त हो गई जिस कारण ग्रामीणों का आवागमन भी बाधित हो गया है। इसके अलावा बिजली के पोल व तार भी क्षतिग्रस्त हुई हैं जिससे गांव अंधेरे में डूबा रहा। मलबे से गांव के प्राकृतिक स्त्रोत भी दब गए हैं।

नरेंद्रनगर क्षेत्र में बीती मंगलवार रात को काफी तेज बारिश हुई। रात करीब दस बजे बारिश के चलते प्रखंड के काटल गांव में गांव से ऊपर काटी गई कच्ची सड़क का मलबा गांव के किनारे गदेरे के पानी के साथ गांव के पास आ गया जिससे ग्रामीणों के करीब बीस खेतों में मलबा आ गया। गांव के कुंवर सिंह, भगवान सिंह, प्रेम सिंह, गोपाल सिंह, मदन सिंह, धर्म सिंह आदि के खेतों को नुकसान पहुंचा है। इसके अलावा गांव का मुख्य पैदल पुलिया भी क्षतिग्रस्त हो गई है। जबकि एक गोशाला के अलावा गांव में लिए बनाया गया नया सीसी मार्ग पर पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गया है। बिजली के पोल व तार भी क्षतिग्रस्त होने से बीती रात से ग्रामीण अंधेरे में हैं। गांव के तीन प्राकृतिक स्त्रोत व तालाब भी मलबे में पूर तरह दब गए जिससे ग्रामीणों के सामने पानी का संकट पैदा हो गया है। ग्राम प्रधान सीमा देवी का कहना है कि गांव के ऊपर काटी गई सड़क से बारिश के कारण भारी मलबा गांव के पास आ गया जिससे काफी नुकसान हुआ है। प्रधान ने मांग की है कि गांव की क्षतिग्रस्त पैदल पुलिया व संपर्क मार्ग की शीघ्र मरम्मत की जाए जिससे ग्रामीणों को राहत मिल सके। बुधवार को राजस्व उप निरीक्षक उत्तम राणा ने गांव पहुंचकर क्षति का जायजा लिया।

Edited By: Jagran