Move to Jagran APP

टिहरी में National Paragliding Accuracy Cup का आगाज, 15 राज्य के प्रतिभागियों ने कराया पंजीकरण; उत्तराखंड के युवा भी लेंगे हिस्सा

उत्तराखंड पर्यटन विकास परिषद (यूटीडीवी) की ओर से टिहरी झील के पास कोटी में चार दिवसीय नेशनल पैराग्लाइडिंग एक्यूरेसी कप चैंपियनशिप का आयोजन किया जा रहा है। प्रतियोगिता का शुभारंभ करते हुए जिलाधिकारी मयूर दीक्षित ने कहा कि जनपद में एडवेंचर स्पोर्ट्स के लिए उपयुक्त स्थान होने के चलते यहां पर पर्यटन व रोजगार की अपूर संभावनाएं हैं। इस दिशा में आगे भी ठोस प्रयास किए जाएंगे।

By Anurag uniyal Edited By: Riya Pandey Mon, 22 Apr 2024 08:05 PM (IST)
टिहरी में नेशनल पैराग्लाइडिंग एक्यूरेसी कप का आगाज

संवाद सहयोगी, नई टिहरी। National Paragliding Accuracy Cup 2024: टिहरी झील के समीप कोटीकालोनी में चार दिवसीय नेशनल पैराग्लाइडिंग एक्यूरेसी कप चैंपियनशिप का सोमवार को आगाज हो गया। प्रतियोगिता में भारत के करीब 15 राज्यों के 105 प्रतिभागियों ने पंजीकरण कराया है।

प्रतियोगिता का शुभारंभ करते हुए जिलाधिकारी मयूर दीक्षित ने कहा कि इस तरह के आयोजन से टिहरी झील को दुनिया के मानचित्र पर नई पहचान मिलेगी। साथ ही टिहरी में पर्यटन उद्योग को भी पंख लगेंगे। प्रतियोगिता में पहली बार उत्तराखंड के स्थानीय युवा भी प्रतिभाग कर रहे हैं।

उत्तराखंड पर्यटन विकास परिषद (यूटीडीवी) की ओर से टिहरी झील के पास कोटी में चार दिवसीय नेशनल पैराग्लाइडिंग एक्यूरेसी कप चैंपियनशिप का आयोजन किया जा रहा है। प्रतियोगिता का शुभारंभ करते हुए जिलाधिकारी मयूर दीक्षित ने कहा कि जनपद में एडवेंचर स्पोर्ट्स के लिए उपयुक्त स्थान होने के चलते यहां पर पर्यटन व रोजगार की अपूर संभावनाएं हैं। इस दिशा में आगे भी ठोस प्रयास किए जाएंगे।

नवंबर 2023 में टिहरी एक्रो फेस्टिवल हुआ था आयोजित

विगत नवंबर 2023 में जनपद टिहरी में एक्रो पैराग्लाइडिंग फेस्टिवल (Tehri Acro paragliding Festival) आयोजित किया था। इसमें टेक आफ प्वाइंट प्रतापनगर की पहाड़ी से लैंडिंग प्वाइंट कोटीकालोनी में पैरा ग्लाइडिंग की गई। इसमें जर्मनी, श्रीलंका, टर्की सहित कई देशों के पैराग्लाइडरों ने प्रतिभाग किया था। इसके अच्छे परिणाम आने के चलते यूटीडीए, टीएचडीसी और जिला प्रशासन के माध्यम से एक्क्यूरेसी कप का आयोजन किया गया।

प्रतियोगिता के पहले दिन कर्नाटक, मणिपुर, उत्तर प्रदेश, हिमाचल, मिजोरम, दिल्ली, पंजाब व उत्तराखंड के 72 प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया। इनमें आठ युवतियां भी शामिल हैं। अपर मुख्य कार्यकारी साहसिंग विंग यूटीडीए कर्नल अश्विन पुंडीर ने बताया कि प्रतियोगिता में टेक आफ प्वाइंट कुट्ठा क्षेत्र तथा लैंडिंग प्वाइंट कोटीकालोनी है।

जिला पर्यटन विकास अधिकारी एसएस राणा ने बताया कि पैराग्लाइडरों द्वारा पांच-पांच राउंड किए जाएंगे। अंतिम दिन प्रतियोगिता में प्रथम स्थान वाले विजेता को एक लाख, द्वितीय को 75 व तृतीय स्थान वाले को 50 हजार का पुरस्कार दिया जाएगा।

इस मौके पर अधिशासी निदेशक टीएचडीसी एलपी जोशी, प्रधानाचार्य नेहरू पर्वातारोहण संस्थान उत्तरकाशी कर्नल अंशुमान भदौरिया, सीडीओ अभिषेक त्रिपाठी, मंत्रा से तानजी ताकवे, प्रतियोगिता के मुख्य जज सिक्किम राजू राय, पद्श्री अवार्ड से सम्मानित महाराष्ट्र के शीतल महाजन आदि मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें- किसी स्वर्ग से कम नहीं है उत्तराखंड का यह पर्यटन स्थल, एक बार दीदार के बाद हो जाएंगे खूबसूरती के कायल; ऐसे पहुंचें