रुद्रप्रयाग, जेएनएन। केदारनाथ यात्रा को वैष्णों देवी की तर्ज पर संचालित करने की कवायद शुरू हो गई है। इसके लिए जिले के आठ विभागों की टीम मुख्य चिकित्साधिकारी के नेतृत्व में वैष्णो देवी यात्रा को रवाना हो गई है। अपने छह दिवसीय भ्रमण के दौरान टीम रिपोर्ट तैयार कर इसे डीएम को सौंपेगी। रिपोर्ट में केदारनाथ यात्रा को बेहतर बनाने के सुझाव दिए जाएंगे।

डीएम मंगेश घिल्डियाल के निर्देश पर जिले के अधिकारियों की टीम जम्मू-कश्मीर में वैष्णों देवी यात्रा का जायजा लेगी। दो सितंबर को टीम वापस रुद्रप्रयाग लौटेगी। इस टीम में स्वास्थ्य विभाग, पशुपालन विभाग, नगर पालिका, स्वजल, जल संस्थान, उरेडा विभाग, जिला आपदा प्रबंधन विभाग, शुलभ इंटरनेशनल के अधिकारी शामिल हैं। 

वैष्णों देवी में स्वास्थ्य सेवाएं, सफाई व्यवस्था, घोड़े-खच्चरों का संचालन किस तरह होता है। इसके अलावा टीम पेयजल व विद्युत आपूर्ति की व्यवस्था पर विस्तृत अध्ययन करेगी। टीम की रिपोर्ट के बाद केदारनाथ की यात्रा को बेहतर बनाने के प्रयास होंगे।  

डीएम मंगेश घिल्डियाल ने बताया कि केदारनाथ यात्रा बेहतर तरीके से संचालित करने के उद्देश्य से ही यात्रा व्यवस्थाओं का अध्ययन के लिए जिले से टीम भेजी गई है। यह टीम वैष्णों देवी यात्रा के हर पहलू का अध्ययन करेगी। उन्होंने कहा कि वैष्णों देवी व केदारनाथ यात्रा लगभग समान हैं। दोनों यात्राओं के दौरान भौगोलिक परिस्थितियों भी एक जैसी हैं। 

केदारनाथ में दूसरे चरण की हवाई सेवा सितंबर प्रथम सप्ताह से

बरसात का मौसम समाप्त होने के बाद केदारनाथ के लिए हवाई सेवा शुरू करने के लिए हवाई कंपनियों ने तैयारियां शुरू कर दी हैं। ऑनलाइन टिकट बुकिंग भी शुरू हो गई है। मौसम ठीक रहा तो सितंबर प्रथम सप्ताह से हेली सेवाएं शुरू हो जाएंगी। 

केदारनाथ में प्रत्येक यात्रा सीजन में दो चरणों में हवाई सेवाएं संचालित होती हैं। प्रथम चरण में यात्रा शुरू होने पर मई से जून में बरसात शुरू होने से पहले तक जारी रहती है। दूसरे चरण में सितंबर महीने से यात्रा समाप्ति तक यानी अक्टूबर महीने के अंत तक हेली सेवा संचालित होती है। 

यह भी पढ़ें: अपने ही घर में 'बेघर' है बदरी-केदार मंदिर समिति, पढ़िए पूरी खबर

प्रथम चरण में इस वर्ष 10 जुलाई तक हवाई सेवाएं संचालित हुई। केदारनाथ में इस बार मौसम अन्य वर्षों की तुलना में ठीक रहने से सेवाएं जुलाई महीने में भी संचालित हुई। अब दूसरे चरण में सितंबर महीने से सेवाएं शुरू होंगी। आगामी एक सितंबर से हेली कंपनियों का केदारघाटी पहुंचने का सिलसिला शुरू हो जाएगा। 

यह भी पढ़ें: यहां है माता सीता का प्राचीन मंदिर, यहीं लिखी गई थी रावण के विनाश की पटकथा, पढ़िए पूरी खबर

अब तक हवाई कंपनियों के 25 हजार टिकट से अधिक टिकट ऑन लाइन बुक हो चुके हैं। हवाई सेवा से इस वर्ष कुल एक लाख से अधिक यात्री केदार बाबा के दर्शन कर चुके हैं। इसके लिए नौ हेली कंपनियों को सरकार ने अनुमति दी  है। इन सभी कंपनियों ने ऑनलाइन टिकट बुकिंग शुरू कर दी है। पवनहंस के प्रबंधक अनिल उप्रेती ने बताया कि पवनहंस के लिए दूसरे चरण की सेवा की बुकिंग शुरू हो गई हैं।

यह भी पढ़ें: सच्चे मन से महादेव का जलाभिषेक करने से होती हर मनोकामना पूर्ण

Posted By: Bhanu

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप