रुद्रप्रयाग, जेएनएन। 12वें ज्योर्तिलिंग में शामिल भगवान केदारनाथ के कपाट खुलने की तिथि सोमवार महाशिवरात्रि पर्व पर तय की गई। केदारनाथ धाम के कपाट नौ मई को सुबह 5 बजकर 35 मिनट पर खोले जाएंगे।  इसी के साथ चारों धाम के कपाट खुलने की तिथियां घोषित हो गई हैं। इसके तहत गंगोत्री और यमुनोत्री धाम के कपाट सात और बदरीनाथ के 10 मई को खोले जाएंगे।

प्रतिवर्ष महाशिवरात्रि पर्व भगवान केदारनाथ के कपाट खुलने की तिथि घोषित होती है। इस वर्ष भी कपाट खुलने तिथि की घोषणा को लेकर बद्री-केदार मंदिर समिति की ओर से पंचगद्दीस्थल ओंकारेश्वर मंदिर ऊखीमठ में तैयारियां की गई।

सोमवार सुबह साढ़े आठ बजे पुजारी, ब्राह्मण, वेदाचार्य पंचाग गणना के अनुसार भगवान केदारनाथ के कपाट नौ मई को सुबह 5 बजकर 35 मिनट पर खोले जाएंगे। बद्री-केदार मंदिर समिति, प्रशासन एवं हकूकधारियों की मौजूदगी में कपाट खुलने की तिथि की घोषणा की गई।

डोली प्रस्थान का समय 6 मई को निश्चित किया गया है। मंदिर समिति के मीडिया प्रभारी डॉ. हरीश गौड़ ने यह जानकारी दी। इस दौरान केदारनाथ के रावल भीमाशंकर लिंग, मंदिर समिति के अध्यक्ष मोहन प्रसाद थपलियाल के साथ ही मुख्य कार्याधिकारी बीडी सिंह, कार्याधिकारी एनपी जमलोकी समेत प्रशासन एवं स्थानीय लोग मौजूद रहे। 

25 मई को खोले जाएंगे हेमकुंड के कपाट 

हेमकुंड साहिब के कपाट 25 मई को खोले जाएंगे। इसी के साथ लोकपाल लक्ष्मण मंदिर के कपाट भी खुलेंगे। कपाट खुलने से पहले सेना के जवान पैदल मार्ग से बर्फ हटाने का काम शुरू करेंगे। 

समुद्रतल से 15225 फीट की ऊंचाई पर स्थित सिक्खों का सबसे पवित्र और सबसे ऊंचे  तीर्थस्थल हेमकुंड साहिब के कपाट खुलने की तिथि तय हो गर्इ है। 25 मई को हेमकुंड और लोकपाल लक्ष्मण मंदिर के कपाट खुलेंगे। आपको बता दें कि इस साल भारी बर्फबारी के चलते हेमकुंड साहिब में 20 फीट से ज्यादा बर्फ जमी हुई है। जिसे देखते हुए गुरुद्वारा प्रबंधन कमेटी अप्रैल माह से ही तैयारियां शुरू कर देगी।

यह भी पढ़ें: 10 मई को खोले जाएंगे भगवान बदरीनाथ धाम के कपाट

यह भी पढ़ें: महाशिवरात्रि पर शिवालयों में उमड़ी श्रद्धालुओं की भीड़, भोले का किया अभिषेक

Posted By: Sunil Negi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप