देहरादून, जेएनएन। हर माह कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी को शिवरात्रि कहते हैं। वर्षभर होने वाली 12 शिवरात्रियों में से फाल्गुन कृष्ण पक्ष की शिवरात्रि का अधिक महत्व है। जिसे महाशिवरात्रि के नाम से जाना जाता है। देवभूमि उत्‍तराखंड में महाशिवरात्रि पर शिवालयों में श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ी। सभी शिवालयों में मध्य रात्रि 12 बजे से ही जलाभिषेक शुरू हो गया था। बागेश्वर में ऐतिहासिक बागनाथ मंदिर में शिवार्चना के लिए सुबह से पूजा अर्चना करने वालों का तांता लगा रहा।

दून के प्रतिष्ठित प्राचीन मंदिर श्री टपकेश्वर महादेव में मध्यरात्रि 12 बजे महंत श्री 108 कृष्णा गिरी महाराज और दिगंबर भरत गिरी महाराज के सानिध्य में  सेवादल ने सामूहिक रुद्राभिषेक शुरू किया। सुबह चार बजे तक चले अभिषेक में देश के वीर शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की गई। महादेव का भव्य श्रृंगार कर महाआरती के बाद श्रद्धालुओं को प्रसाद वितरित किया गया। पलटन बाजार स्थित जंगम शिवालय मंदिर में भी पूजा-अर्चना की गई।

शहीदों की स्मृति में जलाए 2100 दीये

शिवरात्रि की पूर्व संध्या पर सहारनपुर चौक स्थित पृथ्वीनाथ महादेव मंदिर प्रांगण में शहीदों की स्मृति में दीये जलाए गए। मंदिर के सेवादल ने पुलवामा के शहीदों के चित्र के सम्मुख 2100 दीपक जलाकर वीर शहीदों को श्रद्धांजलि दी। कार्यक्रम के संयोजक प्रवीण बंसल और रजनीश यादव के निर्देशन में श्रद्धालुओं और सेवादारों ने सुंदर रंगों से भारत माता, तिरंगा की रंगोली बनाकर उसमें द्वादश च्योतिर्लिंगों की झलक प्रस्तुत की।मंदिर के दिगंबर दिनेश पुरी ने मंत्रोच्चार के साथ शिव आह्वान के बाद आरती कर शहीदों की शहादत को नमन किया। 

जनकल्याण और विश्व शांति की कामना की। इसके बाद मध्य रात्रि में प्रयागराज और हरिद्वार के गंगा जल के साथ ही दूध, दही, घृत व 51 प्रकार की अन्य पूजन सामग्रियों के साथ श्री रुद्री पाठ के वैदिक मंत्रोचार के साथ पृथ्वीनाथ महादेव का भव्य रुद्राभिषेक शुरु किया गया। इसके बाद महाआरती की गई। शिवरात्रि पर सोमवारको शहीदों को समर्पित मोक्ष यज्ञ किया जाएगा। शाम को शृंगार आरती व मध्य रात्रि में भस्म आरती होगी। इस दौरान दिगंबर भागवत पुरी, राजेंद्र आनंद, नवीन गुप्ता, विकी गोयल आदि मौजूद रहे।

दो दिवसीय मेले का शुभारंभ

प्रेमनगर स्थित रामलीला ग्राउंड में शिवरात्रि के उपलक्ष्य में रविवार को दो दिवसीय मेले की शुरुआत की। श्री महावीर सेवा समिति की ओर से मेले में विभिन्न दुकानें और झूले लगाए गए। श्री सनातन धर्म मंदिर के पुजारी कृष्णा प्रसाद ने मंत्रोच्चारण के साथ मेले की शुरुआत की। मेले में लकी ड्रॉ कूपन भी दिए गए। जिनका ईनाम सोमवार को वितरित किया जाएगा। इस दौरान प्रधान भूषण भाटिया, संरक्षक कीमत गुलाटी, मीडिया प्रभारी योगेश नागपाल, जगदीश गिरोटी, विक्की खन्ना, मन्नू भाटिया, रविंद्र माकिन, बलविंद्र नेगी आदि मौजूद रहे।

शक्ति और देशभक्ति का कलात्मक संगम 

टपकेश्वर परिसर स्थित माता वैष्णो गुफा योग मंदिर में रविवार को पार्थिव शिवलिंगों का निर्माण किया गया। इसी के साथ चित्रकार आजीव विजय के निर्देशन में कलाकरों ने शक्ति और देशभक्ति की थीम पर लाइव पेंटिंग बनाई। इस दौरान मंदिर के संस्थापक आचार्य विपिन जोशी, डॉ. मथुरा दत्त जोशी, सुधा विजय, पंडित अरविंद नौटियाल, पंडित दीपेंद्र नौटियाल आदि मौजूद रहे।

मंदिर से निकाली प्रभात फेरी

गढ़ी डाकरा स्थित प्राचीन श्री नागेश्वर महादेव मंदिर से महाशिवरात्रि के उपलक्ष्य में प्रभात फेरी निकाली गई। महंत विश्वनाथ योगी के सानिध्य में मंदिर में पूजा-अर्चना हुई। देर रात तक श्रद्धालुओं ने भजन-कीर्तन किए। रात्रि 12 बजे भोले का अभिषेक किया गया। इस दौरान मीरा देवी, सीता देवी, देवेंद्र नाथ, अमित कुमार, सोनिया गुरुंग, सपना थापा आदि मौजूद रहे।

भजन संध्या में झूमे श्रद्धालु

श्री सनातन धर्म मंदिर प्रेमनगर में शिवरात्रि के उपलक्ष्य में भजन संध्या का आयोजन किया गया। इसमें भजन गायिका अनीता मल्होत्रा, अंजली शर्मा ने भजनों की प्रस्तुति दी। शाम को मंदिर परिसर में 201 दीये जलाकर फूलों से शिवालय को सजाया गया। इस दौरान प्रधान सुभाष माकिन, अवतार किशन कौल, रवि भाटिया, गुलशन माकिन आदि मौजूद रहे।

जीव से ब्रह्म तक की दिव्य यात्रा है महाशिवरात्रि

दिव्य ज्योति जाग्रति संस्थान देहरादून में साप्ताहिक सत्संग में साध्वी जाह्नवी भारती ने महाशिवरात्रि पर्व की महिमा बताई। कहा कि जीव से ब्रह्म तक की दिव्य यात्रा ही महाशिवरात्रि है। संचालन साध्वी ऋतंभरा भारती ने किया।

महाशिव रात्रि पर्व पर दी शुभकामनाएं

राज्यपाल बेबी रानी मौर्य, मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत और विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने प्रदेशवासियों को महा शिवरात्रि पर्व की शुभकामनाएं दी हैं। प्रदेशवासियों की सुख, समृद्धि की कामना करते हुए राज्यपाल ने कहा कि महाशिवरात्रि हमें आराधना, भक्ति, योग और सृजन का महत्व बताती है। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि महा शिवरात्रि का पर्व समाज को प्रेम एवं सद्भाव का संदेश देता है। विधानसभा अध्यक्ष प्रेम चंद अग्रवाल ने कहा कि महा शिवरात्रि आध्यात्मिक पथ पर चलने वाले साधकों के लिए बहुत महत्व रखती है। शिव के उपासक शिव भक्त इस दिन व्रत रखकर  स्वयं एवं समाज के उत्थान के लिए कामना करते हैं।

यह भी पढ़ें: इस महाशिवरात्रि बन रहा सर्वार्थ सिद्धि योग, राशि के अनुसार करें पूजन

यह भी पढ़ें: मौनी अमावस्या पर शीतलहर के बावजूद श्रद्धालुओं ने गंगा में लगाई आस्था की डुबकी

 

Posted By: Sunil Negi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप