संवाद सहयोगी, पिथौरागढ़ : करीब 40 दिन बाद खुलीं शराब की दुकानों पर सोमवार को लोगों का हुजूम उमड़ पड़ा। लोग ठेकों पर बैग, थैले लेकर पहुंच गए। दुकान खुलने से आधे घंटे पूर्व ही ठेकों पर शराब के शौकीनों की लंबी लाइन लग गई। शराब की दुकानों पर भीड़ को देखते पुलिस फोर्स बुलानी पड़ी। पुलिस को भीड़ को नियंत्रित करने के लिए लाठियों का भी सहारा लेना पड़ा। इसके बाद लोग लाइन में लगकर बारी-बारी से शराब खरीदते दिखे। जिलेभर में एक ही दिन में करीब 25 से 30 लाख की शराब बिक्री का अनुमान है।

चार मई से शराब की दुकान खोले जाने को लेकर दुकान संचालकों ने एक दिन पूर्व से ही तैयारी कर ली थी। दुकानों के बाहर गोल घेरे बना लिए गए थे। सोमवार को नगर के केएमओयू स्टेशन के निकट स्थित शराब की दुकान के बाहर प्रात: साढ़े छह बजे से ही शराब के शौकीनों का आना शुरू हो गया। प्रात: सात बजे दुकान खुलते ही लोगों की भीड़ भी बढ़ती गई। प्रात: दस बजे तक केएमओयू स्टेशन पर पुलिस चौकी तक करीब 100 मीटर लंबी लाइन लग गई। भीड़ को काबू करने के लिए पुलिस फोर्स मौके पर पहुंची। पुलिस ने लोगों को शारीरिक दूरी का पालन कराते हुए लाइन में लगाया। वहीं, प्रात: दस बजे नगर के टनकपुर रोड स्थित दूसरी शराब की दुकान भी खुल गई। वहां भी लोगों की लंबी लाइन लग गई। लोग शारीरिक दूरी की धज्जियां उड़ाते दिखे। भीड़ को नियंत्रित करने के लिए पुलिस बुलानी पड़ी। दोनों दुकानों पर शराब खरीदने के लिए सांय चार बजे तक शौकीनों की भीड़ लगी रही।

---

कल तक भोजन, आज शराब की लाइन में दिखे

जिलेभर में शराब के शौकिनों का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि लॉकडाउन में जो लोग कल तक निश्शुल्क भोजन, राशन की लाइन में लग रहे थे, वे सोमवार को शराब खरीदने के लिए लगी लाइन में दिखे। ग्रामीण क्षेत्रों से भी काफी संख्या में लोग शराब खरीदने के लिए सुबह ही जिला मुख्यालय पहुंच गए थे।

---

मजदूरों को मिला रोजगार

शराब की दुकान खुलने से मजदूरों को अच्छा रोजगार मिल गया है। दरअसल, सोमवार को शराब की दुकानों के बाहर लगी लाइन में अधिकांश मजदूर वर्ग थे। शराब के शौकीनों ने खुद लाइन में लगने से बचने के लिए मजदूरों को लाइन में खड़ा किया था। इसके बदले में उन्हें 100 से 200 रु पये दिए जा रहे थे।

---

जिले की 15 अंग्रेजी शराब की दुकानों पर हुई बिक्री

सोमवार को जिलेभर में 15 अंग्रेजी शराब की दुकानों पर शराब की बिक्री हुई। राजस्व जमा नहीं होने के कारण शेष नौ दुकानें बंद रहीं।

---

बेरीनाग में लाइन के लिए हुई धक्का-मुक्की

शराब की दुकान के बाहर दिनभर लंबी कतार लगी रही। इस दौरान लोगों में धक्का-मुक्की भी देखने को मिली। लाइन में लगे लोग शारीरिक दूरी का पालन करते नजर नहीं आए। इससे पुलिस की मौजूदगी में बिक्री हुई।

Edited By: Jagran

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट